जन्तुओं तथा पादपों में लैंगिकता Sexuality in animals and plants in hindi

Sexuality in animals and plants in hindi जन्तुओं तथा पादपों में लैंगिकता

१      जन्तुओं में लैंगिकता :-

दो प्रकार के होते है।

1     एक लिंगियता :-

2     द्वि लिंगियता  :-

(A)     एक लिंगीयता:-

वे जीव जिनके शरीर में एक ही प्रकार के जनन अंग पाये जाते है तथा वे एक ही प्रकार के युग्मक (नर अथवा मादा) उत्पन्न करते है उन्हें एकलिंगी जीव कहते है इस क्रिया को एक लिंगीयात कहते है।

उदाहरण:- तिलचट्टा एवं सभी स्तनधारी

(B)द्वि लिंगियता/उभयलिंगीयता:-

वे जीव जिनके शरीर में नर एवं मादा जनंनाग दोनों पाये जाते है तथा वे नर एवं माा दोनों प्रकार के युग्मक उत्पन्न करते है उन्हें द्विलिंगी जीव कहते है तथा इस क्रिया को द्वि लिंगियता कहते है।

उदाहरण:- हाइड्रा, स्पंज, फीता कृमि (टेपकर्म) केचुआ आदि।

२  पादपों में लैंगिकता:-

(A)एकलिंगी पुष्प:-

पुष्प में या तो पुकेंसर पाये जाते है या स्त्री केसर पाये जाते है। ऐसे पुष्पों ो एकलिंगी पुष्प कहते है। पुकेसर के पाये जाने पर पुष्प पुकेसरी तथा जायंाग के पाये जाने पर पुष्प स्त्री केंसरी कहलाता है।

उदाहरणः-मक्का, नारियल, पपीता, शहतूत।

(B) द्विलिंगी पुष्प/उभयलिंगी पुष्प:- पुष्प में नर जननाँग पुकेसर एवं माता जनंनाग स्त्री केंसर दोनो की उपस्थिति हो तो ऐसे पुष्प को द्विलिंगी पुष्प कहते है।

उदाहरण:- मटर, गुडहल, सरसों, पिटूनिया आदि।

(C) एकलिंगाश्रयी पादप:- जिस पादप पर एक ही प्रकार के पुष्प पाये जाते है उसे एकलिंगीश्रयी पादप कहते है।

उदाहरण:- पपीता, शहतूत शैवालों में ऐसे पाद विष्मथैलस कहलाते है। उदाहरण:-मारकेश्यिा

(D) द्विलिंगाश्रयी पादप:- ऐसे पादप जिन पर दोनो प्रकार के पुष्पा नर मादा या उभयलिंगी पुष्प पाये जाते हो उसे द्विंिगाश्रयी पादप कहते है।

उदाहरण:- मक्का, नारियल, कुक्कुरबीया (खीर ककडी) शैवालों में जब एक ही थेलस पर नर एवं मादा जननाँग दोनों पाये जाते है तो इनके समथैलस कहत है।

उदाहरण:-कारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *