जल का शुद्धतम रूप क्या होता है या प्राकृतिक पानी का शुद्धतम रूप कौन सा है purest form of water is in hindi

By  

purest form of water is in hindi in nature meaning जल का शुद्धतम रूप क्या होता है या प्राकृतिक पानी का शुद्धतम रूप कौन सा है ?

1. अमोनिया के सृजन के काम में आने वाली गैसें हैं
(अ) नाइट्रोजन तथा ऑक्सीजन
(स) ऑक्सीजन तथा नाइट्रिक ऑक्साइड
(स) नाइट्रोजन तथा मीथेन
(द) नाइट्रोजन तथा हाइड्रोजन
Ans-  (द) नाइट्रोजन तथा हाइड्रोजन के मिश्रण से अमोनिया (NH3) गैस बनाया जाता है।
ऽ अमोनिया का औद्योगिक पैमाने पर उत्पादन हेबर विधि द्वारा किया जाता है।
ऽ अमोनिया का उपयोग रेफ्रीजरेटर, यूरिया निर्माण इत्यादि में होता है।
ऽ ऑक्सीजन की खोज जे० प्रीस्टले के द्वारा किया गया। यह रंगहीन, गंधहीन एवं वायु से कुछ भारी गैस है। यह स्वयं नहीं जलती है लेकिन जलने में सहायक होती है। इसे प्राण वायु (Life air) कहा जाता है।
ऽ ओजोन गैस (व्3) ऑक्सीजन का अपरूप है जो सूर्य से आनेवाली पराबैंगनी किरणें (न्सजतंअवपसमज तंले) को पृथ्वी की सतह पर आने से रोकती है। समुद्र तल से 25-30km की ऊँचाई पर व्3 की सान्द्रता अधिकतम होती है। इसका उपयोग कृत्रिम रेशम बनाने में, कीटाणु नाशक के रूप में, खाद्य पदार्थों को सड़ने से बचाने में किया जाता है।
ऽ हाइड्रोजन को भविष्य का ईंधन कहा जाता है इसमें न्यूट्रॉन नहीं होता है। इसका खोज हेनरी कैवेंडिस के द्वारा किया गया।
हाइड्रोजन के तीन समस्थानिक होते हैं। प्रोटियम (1/1H) ड्यूटेरियम (2/1 H ) ट्राइटियम (3/1H ) इसका उपयोग रॉकेट, ईंधन, गैसोलिन के निर्माण में, हेबर विधि द्वारा अमोनिया के निर्माण में होता है।
ऽ नाइट्रोजन की खोज रदरफोर्ड ने 1722 में की थी।
2. पृथ्वी की पपड़ी में विशुद्ध रूप में पाई जाने वाली धातु है-
(अ) सोडियम (Na) (स) मैग्नीशियम (Mg)
(स) तांबा (Cu) (द) प्लेटिनम (Pt)
Ans- (द) पृथ्वी की पपड़ी में विशुद्ध रूप में पायी जाने वाली धातु प्लेटिनम (Pt) है।
ऽ सोडियम का निष्कर्षण डाउन्स विधि द्वारा किया जाता है।
ऽ घोने का सोडा या वाशिंग सोडा (Na2CO3-10H2O) इसका रासायनिक नाम सोडियम कार्बोनेट है। यह कपड़ा साफ करने में कठोर जल को मृदु जल बनाने में उपयोग होता है।
ऽ खाने वाले सोडा (NaHCO3) का रासायनिक नाम सोडियम बाइकार्बोनेट है। वैकिंग पाठडर बनाने में इसका उपयोग किया जाता है।
ऽ सोडियम सल्फेट (Na2SO410H2O) को ग्लोबर साल्ट कहा जाता है। इसका उपयोग दवा एवं कांच बनाने में होता है।
ऽ सोडियम थायोसल्फेट (Na2SO4O35H2O) को हाइपो कहा जाता है इसका उपभोग फोटोग्राफी में होता है।
ऽ ताँबा का निष्कर्षण मुख्यतः कॉपर पाइराइट (CuFeS2) से होता है।
ऽ कॉपर सल्फेट (CuSO45H2O) इसे Blue Vitriole कहा जाता है।
ऽ मैग्नीशियम (Mg) का निष्कर्षण का लाइट (KCI-MgCl2.6H2O) अयस्क से किया जाता है इसका उपयोग फोटोग्राफी एवं आतिशबाजी में एवं मिश्रधातु के निर्माण में होता है ड्युरालुमिन डह का मिश्रधातु है इसका उपयोग हवाई जहाज के निर्माण तथा प्रेशर कुकर के निर्माण में भी होता है।
ऽ भू-पर्पटी (crust) में सबसे अधिक आक्सीजन (46.8ः), दूसरे स्थान पर सिलिकन (27.72ः) और तीसरे स्थान पर एल्युमीनियम (8.13ः) है।
3. जल का शुद्धतम रूप है-
(अ) समुद्र का जल (स) वर्षा का जल .
(स) नलके का जल (द) आसुत जल
Ans- (स) जल का शुद्धतम रूप. वर्षा का जल है।
4. पैरासिटैमोल-
(अ) एक पीड़ाहर है
(स) एक प्रतिजैविक है
(स) एक सल्फा ड्रग (drug) है
(द) पेट का अल्सर बनाता है
Ans- (अ) पैरासिटामोल एक पीड़ा हर है।
ऽ सल्फाड्रग्स (Sulphadrugs) यह जीवाणुओं को नष्ट करता है। इसका निर्माण सल्फर एवं नाइट्रोजन से होता है।Ex. सल्फानिलमाइड, सल्फाडायजीन, सल्फाथायोजोनम इत्यादि
5. क्लोरोमाइसिटिन-
(अ) प्रतिरोधी (Antiseptic) है
(स) पीड़ाहर (Analgesic) है
(स) प्रतिअवसादक (Antidepresent) है
(द) निंपजंपनितें (Antibacterial)
Ans- (द) क्लोरोमाइसिटिन प्रतिजीवाणिक (Antibiotics) है। इसका निर्माण सूक्ष्म जीवाणुओं, कवक इत्यादि से होता है। ये औषधियाँ अन्य जीवाणु को मारती है और उनकी वृद्धि को रोकती है । म्गण् टेट्रा साइक्लिन, जेन्टामाइसिन, स्ट्रेप्टामाइसिन क्लोरोमाइसेटीन इत्यादि ।
ऽ Antiseptic- यह भी जीवाणुओं को नष्ट करती है किन्तु यह घाव भरने में सहायक होता है जैसे-इथाइल आयोडाइड, फिनॉल फॉर्मल्डिहाइड हाइड्रोजन पेरोक्साइड इत्यादि।