प्रेमसागर के रचनाकार कौन है | प्रेमसागर के लेखक कौन है का नाम क्या है | रचयिता prem sagar kiski rachna hai

By  

prem sagar kiski rachna hai in hindi प्रेमसागर के रचनाकार कौन है | प्रेमसागर के लेखक कौन है का नाम क्या है | रचयिता ?

भाषा-1ः हिन्दी

प्रश्न 8. ‘प्रेमसागर‘ किसकी रचना है?
(अ) मुंशी सदासुख लाल (ब) सदल मिश्र
(स) लल्लू लाल जी (द) रामप्रसाद निरंजनी

उत्तर : (स) लल्लू लाल जी
1. आधुनिक हिन्दी साहित्य की पहली आत्मकथा के लेखक कौन माने जाते हैं?
(अ) बाबू श्यामसुन्दर दास (ब) देवेन्द्र सत्यार्थी
(स) हरिवंशराय बच्चन (द) जयशंकर प्रसाद
2. ‘कार्य के आरम्भ में ही विघ्न पड़ना‘ किस मुहावरे का अर्थ है?
(अ) सिर मारना
(ब) सिर पर सेहरा बँधा होना
(स) सिर मुड़ाते ही ओले पड़ना
(द) सिर पर शैतान सवार होना
3. किस कवि को ‘कवियों का कवि‘ कहा जाता है?
(अ) धर्मवीर भारती (ब) शमशेर बहादुर सिंह
(स) रघुवीर सहाय (द) सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
4. ‘दशरथ सुत तिहुँ लोक बखाना राम नाम का मरम है-आना‘
किस रचनाकार की पंक्तियाँ हैं?
(अ) तुलसीदास (ब) कबीर
(स) केशवदास (द) सूरदास
5. हिन्दी का पहला पत्र है-
(अ) उदंत मार्तण्ड (ब) इतिहास तिमिरनाशक
(स) बनारस अखबार (द) हरिश्चन्द्र मैगजीन
6. ‘अति सूधो सनेह को मारग है‘ किसकी पंक्ति है?
(अ) आलम (ब) बोधा
(स) ठाकुर (द) घनानन्द
7. ‘कालिन्दी‘ का पर्यायवाची क्या है?
(अ) सरस्वती (ब) लक्ष्मी
(स) गंगा (द) यमुना
9. व्युत्पत्ति के आधार पर संज्ञा के कितने भेद होते हैं?
(अ) तीन (3) (ब) चार (4)
(स) पाँच (5) (द) छः (6)
10. हिन्दी के शब्दों का लिंग निर्धारण किसके आधार पर होता है?
(अ) प्रत्यय (ब) संज्ञा
(स) क्रिया (द) सर्वनाम
11. कारक के कितने भेद होते हैं?
(अ) 7 (सात) (ब) 8 (आठ)
(स) 9 (नौ) (द) 10 (दस)
12. ‘घ‘ का उच्चारण स्थान कौन-सा है?
(अ) मूर्द्धा (ब) कण्ठ
(स) तालु (द) दंत
13. ‘चिन्तामणि‘ किसका निबन्ध संग्रह है?
(अ) बालमुकुन्द गुप्त (ब) हजारीप्रसाद द्विवेदी
(स) रामचन्द्र शुक्ल (द) श्यामसुन्दर दास
14. ‘काशी नागरी प्रचारिणी सभा‘ की स्थापना किस वर्ष हुई?
(अ) 1893 ई. (ब) 1900 ई.
(स) 1903 ई. (द) 1905 ई.
15. कवि का स्त्रीलिंग है-
(अ) कविइत्री (ब) कवित्री
(स) कवयित्री (द) कवियित्री
16. ‘तरणि‘ का पर्यायवाची शब्द है-
(अ) सूर्य (ब) नाम
(स) युवती (द) नदी
17. ‘मीन‘ का पर्यायवाची शब्द है-
(अ) शिखी (ब) शापक
(स) विभावरी (द) मत्स्य
18. दिए हुए शब्दों में भिन्न अर्थ वाला शब्द है-
(अ) आत्मजा (ब) नन्दिनी
(स) भार्या (द) कन्या
19. अनुपम का पर्यायवाची शब्द है-
(अ) स्वर्गीय (ब) लौकिक
(स) पार्थिव (द) अद्वितीय
20. कान का कच्चा होने का अर्थ है-
(अ) कम सुनना (ब) सुनी बात पर विश्वास करना
(स) दूसरे की बात मानना (द) कान का कमजोर होना
21. ‘क्ष‘ वर्ण किसके योग से बना है?
(अ) क् + ष (ब) क् + च
(स) क् + छ (द) क् + श
22. शुद्ध वर्तनी का चयन कीजिए-
(अ) अस्प्रस्यता (ब) अस्पृष्यता
(स) अस्पृश्यता (द) अस्प्रश्यता
23. पवन का सन्धि-विच्छेद है-
(अ) प + अवन (ब) प + वन
(स) पो + अन (द) पौ + अन
24. पुनर्जन्म का सन्धि-विच्छेद है-
(अ) पुनर + जन्म (ब) पुः + नरजन्म
(स) पुनः + जन्म (द) पुर्न + आजन्म
25. ‘इत्यादि‘ शब्द में कौन-सी सन्धि है?
(अ) यण् सन्धि (ब) वृद्धि सन्धि
(स) गुण सन्धि (द) दीर्घ सन्धि
26. ‘नाक रगड़ना‘ का क्या अर्थ है?
(अ) नाक में चोट लगना
(ब) इज्जत देना
(स) दीनतापूर्वक प्रार्थना करना
(द) चापलूसी करना
27. ‘उन्मूलन‘ का विलोम क्या है?
(अ) उत्थान (ब) उत्कर्ष
(स) रोपण (द) अवनति
28. महावीर प्रसाद द्विवेदी ने आदिकाल को क्या संज्ञा दी है?
(अ) चारणकाल (ब) आदिकाल
(स) वीरकाल (द) बीजवपनकाल
29. कपटी मित्र के लिए सही मुहावरा है-
(अ) दाँत काटी रोटी (ब) आस्तीन का साँप
(स) अक्ल की दुम (द) आबनूस का कुन्दा
30. इन्द्रियों को जीतने वाले के लिए एक शब्द है-
(अ) दूरदर्शी (ब) दत्तचित्त
(स) कुशाग्रबुद्धि (द) जितेन्द्रिय

उत्तरमाला

1. (स) 2. (स) 3. (स) 4. (ब) 5. (अ) 6. (द) 7. (द) 8. (स) 9. (स) 10. (स)
11. (ब) 12. (ब) 13. (स) 14. (अ) 15. (स) 16. (अ) 17. (द) 18. (स) 19. (द) 20. (ब)
21. (अ) 22. (स) 23. (स) 24. (स) 25. (अ) 26. (स) 27. (स) 28. (द) 29. (ब) 30. (द)

व्याख्या/ हल

1. हरिवंशराय बच्चन आत्मकथा लेखक के रूप में जाने जाते हैं। उनकी आत्मकथा का नाम है-क्या भूलूँ क्या याद करूँ, नीड़ का निर्माण फिर, बसेरे से दूर, दशद्वार से सोपान तक।
5. उदन्त मार्तण्ड (सम्पादक पं. युगल किशोर) कलकत्ता से प्रकाशित हुआ। यह हिन्दी का पहला समाचार-पत्र माना जाता है।
6. दी गई काव्य-पंक्ति रीतिकाल की स्वच्छन्द धारा के कवि घनानन्द की है। “अति सूधो सनेह को मारग है, जहँ नेकु सयानप बांक नहीं।’’
9. संज्ञा के पाँच भेद माने जाते हैं – व्यक्तिवाचक, जातिवाचक, भाववाचक, द्रव्यवाचक, समूहवाचक ।

10. हिन्दी शब्दों का लिंग निर्धारण क्रिया के आधार पर होता है। वह जाता है। वह पुल्लिंग है, क्योंकि जाता क्रिया पुल्लिंग है।
11. वह जाती है। श्वहश् स्त्रीलिंग है, क्योंकि जाती क्रिया स्त्रीलिंग है। हिन्दी में आठ कारक माने गए हैं-कर्ता, कर्म, करण, सम्प्रदान, अपादान, सम्बन्ध, अधिकरण, सम्बोधन ।
12. ‘घ‘ का उच्चारण कण्ठ से होता है यह कण्ठ्य वर्ण (क ख ग घ ङ) का वर्ण है।
19. अनुपम = जिसकी कोई उपमा (समानता) न हो। अतः अद्वितीय इसका पर्यायवाची है। अर्थ है जिसके समान दूसरा न हो।