Pointer As Array in hindi in c language पॉइंटर अर्रे की तरह कैसे कार्य करता है c कंप्यूटर भाषा हिंदी में

By  
पॉइंटर अर्रे की तरह कैसे कार्य करता है c कंप्यूटर भाषा हिंदी में Pointer As Array in hindi in c language :-
इससे पहले के article मे ,array और pointer को पढ़ा है |अब इस article मे , हम article pointer का array के साथ सबंद को पड़ेगे :

1. Pointer With Array
जब कभी array को declare करते है तब complier कंप्यूटर memory मे base address को allocate करता है |और सभी elements के लिए proper memory space allocate करता है |
यहा पर base address का मतलब है array की first element का address |अतः array मे ,complier array_name को constant pointer की तरह काम करता है |
जैसे
int a[6]={1,2,3,4,5,6};
lets suppose , array ‘a’ first element का first element का address 2000 है |इसलिए array का type integer होता है|इसलिय
array element ‘1’ का address ‘2000’ है |
array element ‘2’ का address ‘2002’ है |
array element ‘3’ का address ‘2004’ है |
array element ‘4’ का address ‘2006’ है |
array element ‘5’ का address ‘2008’ है |
array element ‘6’ का address ‘2010’ है |
array name ‘a’ एक constant pointer की तरह कार्य करता है यह array के first element की address की value को contain करता है |जैसे
a=&a[0]=2000
हम कोई pointer को declare करता है जैसे
int*b;
b=a;
b=a; statement से array ‘a’ के first element का address 2000 pointer ‘b’ मे assign होता है|और आगे के लिए
a+1; ये array के second element के address को contain करता है |
a+2; ये array के third element के address को contain करता है |
a+3: ये array के fourth element के address को contain करता है |
a+4; ये array के fifth element के address को  contain करता है|
a+5;ये array के सिक्स्थ element के address को contain करता है |
उदहारण के लिए:
#include<stdio.h>
#include,conio.h>
void main()
{
int *b,i;
int a[5]={2,4,56,4,5};
b=a;
int mul;
printf(“Element         Address”)
for(i=0;i<5;i++)
{
printf(“%d         %u\n”,**b,b);
mul=mul*a[i];
b++;
}
printf(“Mulplication Of elements=%d”,mul);
getch();
}
इस उदहारण मे printf(“%d         %u”,**b,b); मे , *b का मतलब है pointer variable ‘p’ की pointer value और ‘p’ का मतलब है p का address है |अतः array के first element का address 2340 है tab आउटपुट होगा :-
Element       Address
2                    2340
4                    2342
56                  2344
4                    2346
5                    2348
Multiplication Of elements 8960
Two Dimensional Array
Two Dimensional Array मे, pointer को use कर सकते है |किसी one dimensional array मे ,pointer (*p+i) का use a[i] के address को store करने के लिए किया जाता है |अतः Two Dimensional Array के लिए pointer का syntax है |
जैसे
*(*a+i)+j       और *(*b+i)+j
यह पर i और j की row और column की number को बताता है |
जैसे
i=1 और j=2 होने पर , pointer variable row 1, के colunm 2 के variable के address को store करता है |
i=2 और j=2 होने पर , pointer variable row 2,  के colunm 2 के variable के address को store करता है |
i=3 और j=3 होने पर , pointer variable row 3, के colunm 3 के variable के address को store करता है |
Pointer and Character Strings :
string character का array होता है |इसे initial और declare का syntax है :-=
char a[23]= ‘Parth’;
complier आटोमेटिक string array के end मे null value को insert कर देता है |और C language मे ,pointer से भी string को declare कर सकते है |इसका syntax है :-
data type *string_name;
यहा:
datatype : string के लिए,हमेशा datatype charecter रहता है |
string_name : ये string का नाम होता है |
जैसे
char *name;
इसमें name एक string pointer है जो की ‘name’ string का first एलेमेनेट को point करता है |जैसे char *name=”parth”; मे string pointer name ‘p’ के address को point करता है |
normal string के साथ , run time assignment करना impossible है |लेकिंग string pointer मे हम run time assignment कर सकते है |जैसे
char *name;
name =”Parth”;
string pointer से string को print करने के लिए puts() और printf() function का use किया जाता है |
puts(name);
printf(“%s”,name );
यह पर ‘*’ operator की जरुरत नहीं होती है |
उदाहरण के लिए :
#include<stdio.h>
#include,conio.h>
void main()
{
int i;
int *name =”parth”;
printf(“Element         Address”)
for(i=0;i<5;i++)
{
printf(“%c         %u\n”,*name,name);
name++;
}
getch();
}
आउटपुट होगा :
Element       Address
p                   2340
a                   2342
r                   2344
t                   2346
h                  2348
Pointer As multiple strings
pointer का सबसे important use होता है multiple string को handle करना है |इसका syntax होता है :-
data type *string_name [number of string ];
यहा पर ,
data type  : इसमें data type हमेशा character ही रहेगे|
string_name: ये string का नाम होता है |
number of string: ये number of string है जिसको string पोइंत्येर handle करता है |
जैसे
char *name[3];
इस उदाहरन मे ,name के string pointer variable है जो की तीन name को store कर सकता है |इसका initial होगा :-
char *name[2]={“parth”,”Om” ,”meet”};
इसमें name[0], string ‘parth’ के first element के address को contain करेगा|
और name [1],string ‘Om’ के first element के address को contain करेगा |
और name [2], string ‘meet’ के first element के address को contain करेगा |
अब next article मे pointer as function arguments को पड़ेगे |