निक्षालन विधि क्या है बॉक्ससाइड का सान्द्रण

बॉक्ससाइड का सान्द्रण निक्षालन विधि क्या Extraction Process of Aluminium from Bauxite Ore

इस विधि में अयस्क को किसी उपयुक्त विलायक में घोला जाता है यहाँ विलायक को निक्षालक कहते है।

  • बॉक्ससाइड का सान्द्रण (Extraction Process of Aluminium from Bauxite Ore):

बॉक्साइड Al का अयस्क है इसमें SiO2 , TiO2 , Fe2O3 की  अशुद्धियाँ होती है इसे NaOH के सान्द्रण विलयन के साथ गर्म करते है जिससे बॉक्साइड तथा SiOकी शुद्धि NaOH में विलेय हो जाती है जबकि अन्य अशुद्धियाँ छानकर पृथक कर देते है।

Al2O3 + 2NaOH + 3H2O   = 2Na[Al(OH)4]

उपरोक्त विलयन में CO2 गैस प्रवाहित करते है।

जिससे Al2O3. 3H2O का अवक्षेप बनता है इस अवक्षेप को गर्म करने से एलुमिना प्राप्त होता है।

2Na[Al(OH)4] + 2CO2   = 2NaHCO3 + Al2O3.3H2O

Al2O3.3H2O  = Al2O3  +  3H2O

  • चांदी तथा सोने का सान्द्रण भी निक्षालन विधि से किया जाता है इस विधि में NaCN निक्षालक काम में लेते है।

4M + 8CN + 2H2O + O2  = 4[M(CN)2] + 4OH

यहाँ M = Ag/Au

2[M(CN)2]–  + Zn  = [Zn(CN)4]2- + 2M

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *