एकाधिकार किसे कहते हैं ? एकाधिकार शब्द किससे संबद्ध है ? what is Monopoly in hindi definition

By   July 3, 2021

एकाधिकार शब्द किससे संबद्ध है ? what is Monopoly in hindi definition एकाधिकार किसे कहते हैं ?

प्रश्न : एकाधिकार शब्द किससे संबद्ध है?
(अ) पूंजीवाद (ब) समाजवाद
(स) मिश्रित अर्थव्यवस्था (द) साम्यवाद
S.S.C.  स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
एकाधिकार उस स्थिति को कहते हैं जब उद्योग में एक ही फर्म होती है। एकाधिकारी फर्म तथा उद्योग में कोई अंतर नहीं होता है। फलस्वरूप फर्म का मांग वक्र ही उद्योग का मांग वक्र होता है। एकाधिकार की स्थिति किसी पूंजीवाद में भी हो सकती है और द्यमश्रित अर्थव्यवस्था में भी। सामान्यतः इसे पूंजीवादी व्यवस्था के संदर्भ में देखा जाता है।
प्रश्न : किस बाजार संरचना में बाजार के मांग वक्र का प्रतिबिम्ब फर्म के मांग वक्र द्वारा होता है?
(अ) एकाधिकार (ब) अल्पाधिकार
(स) द्वि अधिकार (द) पूर्ण स्पर्धा
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

23. जो खर्चा कर दिया गया हो और वसूल न हो सके, उसे कहते हैं-

(अ) परिवर्ती लागत
(ब) विकल्प लागत
(स) निमग्न लागत
(द) प्रचालनिक लागत
S.S.C.Section off. परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
निमग्न लागत (Sunk Cost) वह लागत होती है जिसकी वसूली न की जा सके। इसके विपरीत परिवर्ती लागत को वसूल किया जा सकता है। विभिन्न अर्थशास्त्रियों ने भिन्न-भिन्न उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए लागत की विभिन्न धारणाओं का उपयोग किया है।
24. निम्नलिखित किस लागत का संबंध न्यूनतम लागत से है?
(अ) अस्पष्ट लागत (ब) मूलभूत लागत
(स) परिवर्ती लागत (द) स्थिर लागत
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
जब तक मूल्य औसत परिवर्तनशील लागत (AVC) से ऊपर फर्म हानि की स्थिति में भी उत्पादन करती रहेगी। परंतु मूल्य के AVC से नीचे आने पर फर्म अपने प्लांट बंद कर देगी। कि फर्म को स्थिर लागत (FC) तो वहन करना ही पड़ेगा। न औसत परिवर्तनीय लागत वह न्यूनतम सीमा है जिसके नीचे मूल्य होने पर फर्म उत्पादन बंद कर देगी इस बिंदु को ही ‘तालाबंदी बिंदु‘ (Shutdown point) कहते हैं।
25. टूथ पेस्ट उत्पाद को निम्नलिखित में से किसके अधीन बेचा जाता है?

(अ) एकाधिकारी प्रतिस्पर्धा (ब) पूर्ण प्रतिस्पर्धा
(स) एकाधिकार (द) द्वि-अधिकार
S.S.C.F.C.I.  परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
वस्तु विभेद, एकाधिकारी प्रतिस्पर्धा का मुख्य लक्षण है। वस्तु विभेद से अभिप्राय है कि एक निश्चित समय में उपभोक्ताओं को विभिन्न आकार-प्रकार एवं गुणवत्ता की वस्तुएं उपलब्ध होंगी। एकाधिकारी प्रतिस्पर्द्धा से तात्पर्य ऐसे बाजार से है जिसमें एकाधिकार तथा प्रतियोगिता दोनों के गुण पाए जाते हों।

28. द्विपक्षीय एकाधिकार किस बाजार स्थिति को दर्शाता है?
(अ) दो विक्रेता, दो क्रेता
(ब) एक विक्रेता और दो क्रेता
(स) दो विक्रेता और एक क्रेता
(द) एक विक्रेता और एक क्रेता
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
‘द्विपक्षीय एकाधिकार‘ (Bilateral Monopoly) एक बाजार स्थिति है जिसमें मोनोपोली और Monopsony दोनों ही पाई जाती हैं अर्थात ‘एक विक्रेता और एक क्रेता‘ होता है।
29. एकाधिकार बाजार संरचना में विक्रेताओं की संख्या कितनी होती है?

(अ) बहुत कम (ब) बहुत अधिक
(स) एक (द) दो
उत्तर-(स)
30. बाजारों के आत्यंतिक स्वरूप कौन-से हैं?
(अ) पूर्ण स्पर्धाय एकाधिकारी स्पर्धा
(ब) पूर्ण स्पर्धाय अल्पाधिकार
(स) अल्पाधिकारय एकाधिकार
(द) पूर्ण स्पर्धाय एकाधिकार
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
दिए गए विकल्पों में बाजारों के आत्यंतिक स्वरूप (Extreme Forms) हैं – ‘एकाधिकार‘ (Monopoly) एवं इसके विपरीत ‘पूर्ण स्पर्धा‘ (Perfect Competition)।
31. ‘‘ऐसा अर्थशास्त्र जैसा उसे होना चाहिए‘‘- यह कथन निम्नलिखित में से किसके संबंध में है?
(अ) मानक अर्थशास्त्र
(ब) सकारात्मक अर्थशास्त्र
(स) मुद्रा अर्थशास्त्र
(द) राजकोषीय अर्थशास्त्र
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(अ)
‘‘ऐसा अर्थशास्त्र जैसा उसे होना चाहिए‘‘ यह कथन मानक अर्थशास्त्र से संबंधित है। मुद्रा अर्थशास्त्र मुद्रा के मूल्य,उसके परिमाण, आय-व्यय सिद्धांत, स्फीति, अवस्फीति आदि का अध्ययन करता है जबकि राजकोषीय अर्थशास्त्र सरकार की राजकोषीय नीतियों बजट, सार्वजनिक ऋण इत्यादि का अध्ययन करता है।
32. मूल लागत किसके बराबर होती है?
(अ) परिवर्ती लागत में प्रशासनिक लागत का योग ।
(ब) परिवर्ती लागत में नियत लागत का योग
(स) परिवर्ती लागत मात्र
(द) नियत लागत मात्र
S.S.C. Section off. परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
मूल लागत = परिवर्ती लागत में प्रशासनिक लागत का योग।
33. कहा जाता है कि ‘‘अच्छा बैंकर वह है, जो बंधक और……. के बीच अंतर जानता है‘‘-
(अ) हुण्डी (ब) विनिमय-पत्र
(स) तरल परिसंपत्तियां (द) बॉन्ड
S.S.C.  स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
कहा जाता है कि “अच्छा बैंकर वह है, जो बंधक और विनिमयपत्र के बीच अंतर जानता हैष् विनिमय-पत्र अथवा विनिमय हुण्डी केवल मुद्रा के रूप में लिखी जाती है अर्थात् इसका भुगतान केवल मुद्रा के रूप में होता है। किसी वस्तु जैसे-कपड़ा, अनाज, सोना, चांदी आदि के रूप में नहीं।
34. बढ़ती हुई प्रति व्यक्ति आय एक बेहतर कल्याण की द्योतक होगी यदि उसके साथ हो-
(अ) समग्र रूप से अपरिवर्तित आय वितरण
(ब) अमीरों के पक्ष में परिवर्तित आय वितरण
(स) गरीबों के पक्ष में परिवर्तित आय वितरण
(द) औद्योगिक श्रमिकों के पक्ष में परिवर्तित आय वितरण
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
बेहतर कल्याण की द्योतक गरीबों के पक्ष में परिवर्तित आय होगी क्योंकि जब आय का वितरण उच्च वर्ग से निम्न वर्ग की तरफ होता है तो उसे बेहतर कल्याण कहा जाता है। इसे ‘ट्रिकल डाउन प्रभाव‘ कहा जाता है।
35. प्रत्यक्ष करों के मामले में, अदायगी दायित्व और कर का अंतिम भार किस पर स्थित होता है?
(अ) उन दोनों पर जिन पर यह अधिरोपित किया गया है और जिन पर
अधिरोपित नहीं किया गया है।
(ब) वह व्यक्ति जिस पर यह अधिरोपित किया गया है।
(स) वह व्यक्ति जिस पर यह अधिरोपित नहीं किया गया है।
(द) कर विभाग पर, जो कर एकत्रित करता है।
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
‘प्रत्यक्ष कर‘ उन करों को कहते हैं जिनके मौद्रिक तथा वास्तविक भार को दूसरों पर विवर्तित किया जा सके तथा जिनके संबंध में उत्पन्न कराघात (Impact) तथा करापात (Incidence) उसी व्यक्ति पर पड़ता है जिसके ऊपर सरकार कर लगाती है, जैसे आयकर, निगम कर आदि।
36. निम्नलिखित में से उल्टे श्न्श् आकार का वक्र कौन सा है?
(अ) औसत लागत (ब) सीमांत लागत
(स) कुल लागत (द) नियत लागत
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(’)
उल्टे ‘U’ आकार का वक्र दिए गए विकल्पों में किसी का नहीं होता है।
37. किसी अर्थव्यवस्था में पूंजी निर्माण निर्भर करता है-
(अ) कुल आय पर (ब) कुल मांग पर
(स) कुल बचत पर (द) कुल उत्पादन पर
S.S.C.Section off. परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
किसी अर्थव्यवस्था में पूंजी निर्माण कुल बचत पर निर्भर करती है। भारत में वर्ष 2011-12, 2012-13 तथा 2013-14 के अनुमानों (ES 2014-15) के अनुसार, सकल पूंजी निर्माण (Gross Capital Formation) वर्तमान बाजार कीमतों पर ळक्च् का क्रमशः 38.2, 34.7 प्रतिशत है। जबकि सकल घरेलू बचत (Gross Domestic Saving) दर GDP की क्रमशः 33.9, 31.8 तथा तशत है। चालू बाजार मूल्यों पर सकल घरेलू उत्पाद के प्रतिशत के रूप में सकल पूंजी निर्माण वर्ष 2014-15 में 34.2 प्रतिशत जबकि सकल घरेलू बचत 33.0 प्रतिशत है।
38. किसी अर्थव्यवस्था में ‘उत्कर्ष अवस्था‘ का अर्थ है-
(अ) स्थिर वृद्धि प्रारंभ होती है।
(ब) अर्थव्यवस्था रुद्ध है।
(स) अर्थव्यवस्था ढेर होने वाली है।
(द) सभी नियंत्रण हटा दिए गए हैं।
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
किसी अर्थव्यवस्था में ‘उत्कर्ष अवस्था‘ का अर्थ है-स्थिर वृद्धि प्रारंभ होती है। डब्ल्यू.डब्ल्यू. रोस्टोव ने अपनी प्रसिद्ध पुस्तक ‘The Stages of Economic Growth – A Non Communist Manifesto’ में आर्थिक विकास को पांच चरणों में बांटा
1. पारंपरिक समाज (Traditional Socity)
2. आत्म स्फूर्ति की पूर्ववर्ती अवस्था (Pre Take off)
3. आत्म स्फूर्ति की अवस्था (Take off)
4. परिपक्वता की अवस्था (äive to Maturity)
5. उच्च जन उपभोग की अवस्था (High Mass Consumption)।
39. भारत में पूंजी प्रधान उद्योग का सर्वोत्तम उदाहरण कौन-सा है?
(अ) वस्त्र उद्योग (ब) इस्पात उद्योग
(स) पर्यटन उद्योग (द) खेल-कूद के सामान का उद्योग
S.S.C.संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
भारत में पूंजी प्रधान उद्योग का सर्वोत्तम उदाहरण इस्पात उद्योग (Steel Industry) है। पूंजी प्रधान उद्योग, वे उद्योग होते हैं जिनमे पूंजीगत परिसंपत्तियों में उच्च निवेश की जरूरत होती है।
40. राष्ट्रीय दृष्टिकोण से, निम्नलिखित में से क्या सूक्ष्म दृष्टिकोण को दर्शाता है?
(अ) टिस्को की बिक्री का अध्ययन
(ब) भारत में शिक्षित बेरोजगारी
(स) भारत में प्रति व्यक्ति आय
(द) भारत में मुद्रा स्फीति
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
राष्ट्रीय दृष्टिकोण से ‘टिस्को की बिक्री का अध्ययन‘ सूक्ष्म (Micro) दृष्टिकोण को दर्शाता है जबकि भारत में शिक्षित बेरोजगारी, प्रतिव्यक्ति आय, मुद्रा स्फीति आदि विस्तृत (डंबतव) दृष्टिकोण को दर्शाता है।
41. राष्ट्रीय संदर्भ में, निम्नलिखित में से क्या वृहत् दृष्टिकोण को दर्शाता है?
(अ) बाटा शू कंपनी का विक्रय
(ब) भारत में मुद्रास्फीति
(स) यू.के.को आमों का निर्यात
(द) रेलवे से आय
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
राष्ट्रीय संदर्भ में भारत में मुद्रास्फीति वृहत् दृष्टिकोण को दर्शाता है क्योंकि इसका प्रभाव आंतरिक तथा बाह्य दोनों क्षेत्रों पर पड़ता है। यह आर्थिक, राजनीतिक तथा सामाजिक सभी क्षेत्रों को प्रभावित करती है।
42. वैश्वीकरण का अर्थ है-
(अ) अर्थव्यवस्था का एकीकरण
(ब) वित्तीय बाजार का एकीकरण
(स) घरेलू अर्थव्यवस्था का वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ एकीकरण
(द) अर्थव्यवस्था के विभिन्न खंडों का एकीकरण
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
‘वैश्वीकरण‘ का तात्पर्य घरेलू अर्थव्यवस्था का वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ एकीकरण है। शब्द ‘वैश्वीकरण‘ का उपयोग अर्थशास्त्रियों के द्वारा वर्ष 1980 से किया जाता रहा है। हालांकि वर्ष 1960 के दशक में इसका उपयोग सामाजिक विज्ञान में किया जाता था।
43. सरकार द्वारा लगाए गए अवरोधों या प्रतिबंधों को हटाना कहलाता है-
(अ) वैश्वीकरण (ब) निजीकरण
(स) उदारीकरण (द) द्विपक्षीय समझौता
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
सरकार द्वारा लगाए गए अवरोधों या प्रतिबंधों को हटाना उदारीकरण की प्रक्रिया का हिस्सा है।
44. किसी संस्था की लाभप्रदता निर्भर करती है-
(अ) संसाधित न्यास की गुणता पर
(ब) संसाधित न्यास की मात्रा पर
(स) न्यास के संसाधन की गति पर
(द) (अ) और (स) दोनों पर
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
किसी संस्था की लाभप्रदता, संसाधित न्यास की गुणता तथा न्यास के संसाधन की गतिशीलता (Mobility of Resources) पर निर्भर करती है।