मोलरता : मोलरता क्या है , मात्रक , सूत्र , molarity से आप क्या समझते है परिभाषित कीजिये , सवाल उत्तर (molarity in hindi)

By  
(molarity in hindi) मोलरता : मोलरता क्या है , मात्रक , सूत्र , molarity से आप क्या समझते है परिभाषित कीजिये , सवाल उत्तर : किसी भी विलयन विभिन्न प्रकार के गुण और विलयनों का व्यवहार केवल विलेय तथा विलायक की प्रकृति पर ही निर्भर नहीं करती बल्कि विलयन के गुण तथा व्यवहार विलेय तथा विलायक की सांद्रता पर भी निर्भर करता है।
रसायन विज्ञान में विलयन की सान्द्रता को व्यक्त करने के लिए विभिन्न प्रकार के पैमाने या तरीके है उनमें मोलरता बहुत ही महत्वपूर्ण तरीका है जिसका अध्ययन हम यहाँ करने जा रहे है।
मोलरता की परिभाषा “एक लीटर विलयन में घुले हुए विलेय के मोलों की संख्या को उस विलयन की मोलरता कहते है। ”
अर्थात एक लीटर विलयन में जितने विलेय के मोल घुले हुए होगे उस घुले हुए विलेय के मोलो की संख्या को ही उस विलयन की मोलरता कहेंगे।
मोलरता को M द्वारा प्रदर्शित किया जाता है।
मोलरता का सूत्र –
मोलरता (M) = विलेय के मोल / लीटर में विलयन का आयतन

उदाहरण : एक NaOH के 0.25 M का मतलब क्या है ?
0.25 M को पढ़ा जाता है 0.25 मोलर विलयन , 0.25 M का मतलब होता है कि एक लीटर विलयन में 0.25 मोल सोडियम हाइड्रोक्साइड उपस्थित है।
मोलरता कैसे ज्ञात करते है ?
सबसे पहले विलेय के मोलों की संख्या का मान ज्ञात करते है।
फिर कुल विलयन का आयतन लीटर में ज्ञात करते है।
फिर विलेय के मोलों की संख्या को विलयन के आयतन से विभाजित कर देते है जिससे विलयन मोलरता प्राप्त हो जाती है।
उदाहरण : जब 15 ग्राम सोडियम  हाइड्रोक्साइड को पानी में घोलकर 225 मिली लीटर का विलयन बनाया जाता है तो इस विलयन की मोलरता कितनी होगी ज्ञात कीजिये।
हल : सोडियम  हाइड्रोक्साइड का रासायनिक सूत्र NaOH होता है , सोडियम  हाइड्रोक्साइड विलेय है इसलिए इसके मोलों की संख्या को निम्न प्रकार ज्ञात किया जाता है –

अब हम 225 ml अर्थात 225 मिली लीटर विलयन को लीटर में परिवर्तित करते है जो निम्नं प्रकार किया जाता है –

अब हम मोलरता के सूत्र के अनुसार विलेय के मोलों की संख्या को विलयन के लीटर में आयतन से विभाजित करेंगे जिससे विलयन की मोलरता प्राप्त हो जाती है –

अत: इस विलयन की मोलरता 1.67 M NaOH होगी।