MMR का टीका किस बीमारी में दिया जाता है mmr ka tika kya hai full form in hindi mmr vaccine is used for which disease

By  

mmr vaccine is used for which disease mmr ka tika kya hai full form in hindi MMR का टीका किस बीमारी में दिया जाता है ?

जीवाणुओं से उत्पन्न रोग एवं कारक
1. MMR का टीका किस बीमारी में दिया जाता है?
(अ) Small&pox ,  Mumps , Rabies
(ब) Mesales , Mumps , Rubella
(स) Mumps , Mesales , Rabics
(द) इनमें से कोई नहीं
R.R.B. अहमदाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(ब)
व्याख्या- MMR का टीका, खसरा, गलसुआ और रूबेला (Mesales- Mumps & Rubella) की बीमारी में दिया जाता है।
2. सिगमंड फ्रायड क्या है?
(अ) चिकित्सक (ब) वैज्ञानिक
(स) राजनीतिक (द) मनोवैज्ञानिक
R.R.B. रांची (T.A.) परीक्षा, 2005
उत्तर-(द)
व्याख्या-सिगमंड फ्रायड एक मनोवैज्ञानिक का नाम है।
3. निम्नांकित में किसकी कमी से दांत की बीमारी होती है :
(अ) जिंक (ब) फ्लोरीन
(स) मैग्नीज (द) एल्युमिनियम
R.R.B. अहमदाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(ब)
व्याख्या-फ्लोरीन की कमी से दांतों की बीमारी हो जाती है। पानी में इस तत्व की अधिकता से भी फ्लोरिसिस नामक बीमारी हो जाती है।
4. मानव शरीर के किस भाग में श्पायोरिया रोग लगता है?
(अ) दांत और मसूड़ा (ब) फुफ्फुस
(स) क्षुद्रांत्र (द) बृहदांत्र
R.R.B. सिकंदराबाद (E.C.R.C.) परीक्षा, 2005
उत्तर-(अ)
व्याख्या-मानव शरीर के दांत और मसूड़ों में ‘पायोरिया‘ रोग लगता है। इस रोग के कारण दांत पीले पड़ जाते हैं, मसूड़ों से खून निकलता है तथा मुंह से बदबू आती है।
5. हाइड्रोफोबिया बीमारी होती है-
(अ) खसरा (ब) क्षयरोग
(स) रेबीज (द) मलेरिया
R.R.B. रांची (T-A-) परीक्षा, 2005
उत्तर-(स)
व्याख्या-हाइड्रोफोबिया पागल कुत्ते के काटने से होता है। कुत्ते के रेबीज (Rabies) मनुष्य को पागल बना देते हैं और उसकी मृत्यु हो जाती है। इसका उपचार है- इंजेक्शन जो लुई पाश्चर ने आविष्कृत किए थे (ऐन्टीरेबीज इंजेक्शन)।
6. एण्टीरेबीज का टीका कब दिया जाता है?
(अ) कुत्ता काटने पर (ब) बचपन में ही
(स) 5 वर्ष की उम्न में (द) सांप काटने पर
R.R.B. रांची (A.S.M.) परीक्षा, 2007
उत्तर-(अ)
व्याख्या-उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
7. ‘हीमोफीलिया‘ एक आनुवांशिक रोग है, जिसका परिणाम है-
(अ) अंधापन (ब) हीमोग्लोभिन्न की कमी
(स) श्यूमैटिज्म (द) रक्त का नहीं जमना
R.R.B. चेन्नई (T.A./C.A./E.C.R.C.) परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
व्याख्या-कुछ बीमारियों में रोगी की रत्त-स्कंदन क्षमता क्षीण हो जाती है. ऐसे व्यक्तियों को छोटी-मोटी चोट लगने पर भी लगातार रक्तसाद होता रहता है। ‘हीमोफीलिया‘ (Haemophilia) नामक आनुवंशिक (Hereditary) बीमारी में भी ऐसा ही होता है।
8. एक्यूपंक्चर…….में अधिक प्रचलित है-
(अ) भारत (ब) अमरीका
(स) चीन (द) जर्मनी
R.R.B.  बंगलौर(A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(स)
व्याख्या-एक्यूपंक्चर (Acupuncture) एक अति प्राचीन चीनी (Chinese) चिकित्सा पद्धति है। यह पद्धति दर्द को दूर करने तथा अनेक प्रकार की रोगी दशाओं यथा मलेरिया और गठिया आदि रोगों का उपचार करती है। रोगों के उपचार हेतु सुइयों का प्रयोग किया जाता है। इसमें बहुत पतलीपतली सुइयां शरीर के लगभग पांच सौ विनिर्दिष्ट बिन्दुओं (स्पेसीफाइड प्वाइंट) में प्रवेश करा दी जाती हैं, जिससे रोगी बेहोश हो जाता है और उससे सम्बन्धित रोग का इलाज कर दिया जाता है। इसका प्रयोग अब द्य बहुत से देशों में किया जाने लगा है।
9. एक्यूपंक्चर है-
(अ) टायर व ट्यूब को ठीक करना
(ब) सुई चुभो कर बीमारी का इलाज
(स) एक फसल
(द) एक हृदय रोग –
R.R.B. रांची (Ast.k~ äiv.) परीक्षा, 2003
R.R.B. भोपाल (T.C./C.C/J.C.) परीक्षा, 2007
उत्तर-(ब)
व्याख्या-उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
10. कैसर अस्थि मज्जा के कौन-से भाग को प्रभावित करता है?
(अ) ट्यूकोमिया (ब) ल्यूकेमिया
(स) फियूकोमिया (द) ग्लूकोमिया
R.R.B. सिकंदराबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(ब)
व्याख्या-कसर अस्थिमज्जा की ल्यूकेमिया को प्रभावित करता है। रक्त कैंसर को ल्यूकेमिया कहा जाता है। सामान्य तौर पर त्ठब् और ॅठब् का अनुपात 600 : 1 का होता है। यदि WEC का अनुपात एकाएक बढ़ने लगता है तो इसे ल्यूकेमिया रक्त कैंसर कहते हैं।
11. अधिश्वेत रक्तता (Leuksemti) है एक प्रकार का
(अ) अभाव रोग (ब) शरीर का विकृति
(स) विषाणु संक्रमण (द) कर्क रोग
R.R.B. इलाहाबाद (T-C./Tr- Clerk-) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
व्याख्या-अधिश्वेत रक्तता (Leukaemia) रक्त या अस्थिमज्जा (Bone marrow) का कर्क रोग(Cancer) है। इससे श्वेत रक्त कणिकाओं की संख्या में असामान्य वृद्धि होती है, इसके कारण शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली प्रभावित होती है तथा रोगी को विभिन्न संक्रमण जन्य रोग होते हैं।
12. निम्नलिखित में से कौन-सी छूत (Contagious) की बीमारी नहीं है?
(अ) इन्फ्लुएन्जा (ब) हिस्टीरिया
(स) टायफायड (द) चेचक
R.R.B. कोलकाता (E.C.R.C./G.G.) ‘मुख्य‘ परीक्षा, 2012
R.R.B. सिकंदराबाद (G-G-) परीक्षा, 2001
उत्तर-(ब)
व्याख्या-हिस्टीरिया रोग छूत की बीमारी नहीं है, यह एक मानसिक रोग है। इसमें इच्छा अथवा आशा के विघात होने पर आवेशपूर्ण नाटकीय व्यवहार, रोगी के हाथ-पैर में अकड़न, शरीर में कपकपी होती है जबकि चेचक तथा इन्फ्लुएंजा वायरस से तथा टायफायड जीवाणु द्वारा छूत से संबंधित बीमारी है।
13. निम्नलिखित में से किस रोग में रोगाणु खुले घाव से होकर प्रवेश करते हैं?
(अ) टिटनेस (ब) यधमा दी
(स) मलेरिया (द) टायफायड
R.R.B.  कोलकाता (प्रो.(G.G.) परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
व्याख्या-टिटनेस Clostridium tetani (क्लासट्रीडियम टिटेनी) नामक जीवाणु (Bacteria) के द्वारा होता है। मलेरिया मादा Anopheles मच्छर द्वारा फैलता है। टायफायड Salmonella typhae नामक जीवाणु (Bacteria) के द्वारा होता है। र
14. धनुस्तम्भ का अर्थ क्या होता है?
(अ) युधिष्ठिर
(ब) वायुरोग जिसमें शरीर ऐंठने लगता है।
(स) टिटनेस
(द) इनमें से कोई नहीं
R.R.B. बंगलौर (A.S.M.) परीक्षा, 2010
उत्तर-(स)
व्याख्या-धनुष्टकार का तात्पर्य टिटनेस है जो एक प्रकार की बीमारी है। इसका एक नाम ‘सतत पेशीसंकुचन‘ भी होता है। इसका एक और नाम ‘धनुष टंकार‘ भी है। यह एक संक्रामक रोग है जो मिट्टी में रहने वाले बैक्टीरिया (क्लासट्रीडियम टेटनी) से होता है। टेटनेस से शरीर की मांसपेशियां प्रभावित होती हैं। शरीर में इसके बैक्टीरिया का प्रवेश कटे हुए घाव, धातु या लोहे की कीलों के चुभने से होता है। इससे जबड़े में जकड़न हो जाती है तथा शरीर की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं।
15. पानी से होने वाला रोग निम्नांकित में से कौन-सा है?
(अ) मलेरिया (ब) टी.बी.
(स) प्लेग (द) टायफायड
R.R.B. अहमदाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(द)
व्याख्या-टायफायड सालमोनेला टाइफोसा नामक जीवाणु से होता है। यह रोग पानी की गंदगी से फैलता है। इसमें रोग की उद्धवन अवधि 5 से लेकर 20 दिन तक होती है।
16. मानव शरीर का कौन सा अंग टायफायड से मुख्य रूप से प्रभावित होता है?
(अ) आमाशय (ब) गुर्दे
(स) फेफड़े (द) आंतें
(इ) इनमें से कोई नहीं
R.R.B. कोलकाता (डी./इले.लोको असि./पी.बी.टी.) परीक्षा, 2005
उत्तर-(द)
व्याख्या-टायफायड जिसे आंत बुखार भी कहते हैं, सालमोनेला टाइफोसा नामक जीवाणु से होता है। इस रोग से मुख्यतः मानव की आंतें प्रभावित होती है, यह गंदे पानी से फैलता है।
17. टाइफॉइड रोग में शरीर का कौन सा अंग प्रभावित होता है
(अ) हृदय (ब) गला
(स) आहार नाल (द) फेफड़ा
R.R.B.  अजमेर (A.S.M.) परीक्षा, 2001
उत्तर-(स)
व्याख्या-टाइफॉइड (Typhoid) छोटी आंत को प्रभावित करता है। छोटी आंत, आहारनाल का भाग होती है। अतः कहा जा सकता है कि टाइफॉइड से आहारनाल प्रभावित होता है। यह रोग सालमोनेला टायफोसा (Salmonella typhosa) नामक जीवाणु से होता है। इस रोग को मियादी बुखार भी कहते हैं। इस रोग से बचाव के लिए क्लोरोमाइसिटीन वर्ग की एन्टिबायोटिक लेनी चाहिए।
18. टाइफायड से शरीर का कौन सा अंग प्रभावित होता है?
(अ) अग्न्याशय (ब) आमाशय
(स) आंत (द) मस्तिष्क
R.R.B.भोपाल (T-C-) परीक्षा, 2009
उत्तर-(स)
व्याख्या-उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
19. निम्नलिखित में से कौन-सा रोग मच्छरों के द्वारा नहीं फैलता है?
(अ) फिलपांव (ब) पीत ज्वार
(स) डेंगू ज्वार (द) टाइफायड
R.R.B.  कोलकाता (E.C.R.C./G.G.) “मुख्य‘‘ परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
व्याख्या-पीत ज्वर एक संक्रामक तथा तीव्र रोग है जो ईडीस ईजिप्टिआई जाति के मच्छरों द्वारा होता है। डेंगू एक उष्ण कटिबंधीय संक्रामक बीमारी है जो ईडीस ईजिप्टिआई जाति के मच्छरों से होता है। टाइफाइड (आंत्र ज्वर) साल्मोनेला टाइफी नामक जीवाणु से होता है। फिलपांव भी मच्छर से होने वाला रोग है।
20. निम्नलिखित की कमी से ‘एनीमिया‘ रोग होता है-
(अ) आयोडीन (ब) कैल्सियम
(स) लोहा (द) इनमें से कोई नहीं
R.R.B. बंगलौर (Ast- äiv-) परीक्षा, 2003, 2004
उत्तर-(स)
व्याख्या-एनीमिया रोग में रक्त में हीमोग्लोभिन्न की मात्रा घट जाती है। यह रोग शरीर में लौह तत्व की कमी से होता है।
21. ‘SARS’ का पूर्ण रूप है-
(अ) सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रॉम
(ब) सेंसिटिव एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रॉम
(स) सेक्रेटिव एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रॉम
(द) सार्स एक प्रकार का पक्षी है
R.R.B.  बंगलौर (C.G-) परीक्षा, 2004
उत्तर-(अ)
व्याख्या-सार्स का पूरा नाम है ‘सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रॉम‘ (Severe accute recpiratory Syndrorme) यह एक वायरस जनित बीमारी है, जो मानव के श्वसन व परिसंचरण तंत्र को प्रभावित करती है।
22. SARS रोग में अक्षर ‘A’ का तात्पर्य है-
(अ) एण्ड (ब) अस्थमा
(स) एन्टी (द) एक्यूट
R.R.B.  चंडीगढ़ (T-C-) परीक्षा, 2004
उत्तर-(द)
व्याख्या-उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
23. निम्नलिखित में कौन सी जोड़ी गलत है?
(अ) पोलियो-बन्दर (ब) प्लेग-चूहा
(स) रेबीज-कुत्ता (द) टेप वॉर्म-सुअर
R.R.B. महेन्द्रूघाट, पटना (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(अ)
व्याख्या-चूहा प्लेग के पिस्सुओं का, कुत्ता रेबीज का तथा सुअर टेप वॉर्म के वाहक हैं। बन्दर पोलियो का वाहक नहीं है। पोलियो एक वायरस जनित रोग है।
24. ‘एपिडर्मिक रोग‘ संबंधित हैः
(अ) गला (ब) कान
(स) त्वचा (द) नाक
R.R.B.  अहमदाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(स)
व्याख्या-एपीडर्मिक रोग त्वचा में होता है। इस रोग में त्वचीय संक्रमण होता है। त्वचा में जगह-जगह चकत्ते बनने लगते हैं तथा त्वचा के ऊतक नष्ट होने लगते हैं।
25. किस अंग के दोषपूर्ण कार्य करने से मधुमेह (Diabetes) रोग हो जाता है?
(अ) फेफड़े (Lungs) (ब) तिल्ली (Spleen)
(स) वृक्क (Kidney) (द) अग्न्याशय (Pancresa)
R.R.B. महेन्दूघाट परीक्षा, 2001
उत्तर-(द)
व्याख्या-मधुमेह रोग अग्न्याशय के खराब होने के कारण होता है। इस रोग में अग्न्याशय की कोशिकाएं पर्याप्त मात्रा में इन्सुलिन हार्मोन का निर्माण नहीं करती हैं।