अल्कोहल और फिनोल बनाने की विधियां Methods of making alcohol and phenols

By  

अल्कोहल बनाने की विधियाँ (Alcohol forming methods):

1.ग्रिन्यार अभिकर्मक से :

इस विधि द्वारा 10 , 20 , 30 एल्कोहल बनाये जाते है।

  • जब RMgX की क्रिया HCHO से की जाती है तो बने पदार्थ के जल अपघट्न से  10  एल्कोहल बनते है।
  • जब RMgX की क्रिया R-CHO से की जाती है बने पदार्थ के जल अपघट्न से द्वितीयक एल्कोहल बनते है।
  • जब RMgX की क्रिया कीटोन से की जाती है तो बने पदार्थ के जल अपघट्न से 30 एल्कोहल बनते है।
  1. एल्कीन (alkene) की जल योजन से :

यह क्रिया तनु H2SO4 के साथ की जाती है।

नोट : असम्मित एल्कीन में जल का योग मारकोनी कॉफ नियम से होता है।

CH2=CH2 + H2O →  CH3-CH2-OH

क्रियाविधि :

 क्रियाविधि :

यह क्रिया तीन पदों में होती है।

  1. पहले पद में प्रोटॉन ग्रहण किया जाता है जिससे कार्बोकैटायन बनता है।

CH3-CH=CH2 + H+ → CH3+CH-CH3

  1. दूसरे पद में कार्बोकैटायन पर जल का अणु प्रहार करता है।

3 अन्तिम पद में प्रोटोन के निष्कासन से एल्कोहल बनता है।

एल्किन के हाइड्रोबोरोनन ऑक्सीकरण से :  

जब एल्किन की क्रिया डाई बोरोन या बोरेन से की जाती है तो ट्राई एल्किल बोरेन बनता है इसका ऑक्सीकरण H2O2 व  NaOH से करने पर एल्कोहल बनते है।

  1. 3(CH2=CH2) + BH3 →  (CH3-CH2)3-B

(CH3-CH2)3-B + 3NaOH + 3H2O2 →  3H2O + Na3BO3 + 3CH3-CH2-OH

  1. 3(CH3-CH=CH2) + BH3 → (CH3-CH2-CH2)3-B

(CH3-CH2-CH2)3-B + 3NaOH + 3H2O2 →  3H2O + Na3BO+ 3CH3-CH2-CH2-OH

एल्डिहाइड कीटोन के अपचयन :

उपस्थिति NaBH4 या  LiAlH4 या  H2/Ni , Pt , Pd

एल्डिहाइड के अपचयन से 10  एल्कोहल जबकि कीटोन के अपचयन से 20 एल्कोहल बनते है।

R-CHO + 2H →  R-CH2-OH

कार्बोक्सिलिक अम्ल अथवा एस्टर का अपचयन LiAlH4 की उपस्थिति में करने पर

नोट : NaBHएस्टर का अपचयन नहीं करता।

फ़िनोल बनाने की विधियाँ :

  1. बेंजीन डाई एजोनियम की क्रिया जल से करने पर
  2. क्लोराइड बेंजीन से
  3. क्यूमिन से
  4. बेंजीन सल्फोनिक अम्ल से क्रिया