Metamorphic zones in hindi , grade , zones of Progressive regional metamorphism

Metamorphic zones : भू सतह के नीचे गहराई बढ़ने के साथ साथ ताप एवं दाब भी बढ़ते जाते है।  इसी सिद्धांत पर आधारित कायान्तरण के भिन्न गंभीरता मण्डल को तीन भागों में पहचाना गया है –

1. Epizone (उपरी मण्डल )
2. Mesozone (मध्यमण्डल )
3. kata zone (निम्न मण्डल)
1. Epi zone (उपरीमण्डल ) : मेटामोर्फिज्म का यह जोन भू सतह के निकट पाया जाता है।  यह जोन सामान्यत: अपदलनी कायान्तरण प्रिवेल (Prevail) की स्थिति है।
2. Meso zone (मध्य मण्डल ) : यह मेटा मोर्फिज्म का मध्य जोन है जो epizone के नीचे स्थित होता है।  मध्य मण्डल में ताप व दाब की स्थितियाँ रीजनल मेटामोर्फिज्म को प्रमोट करने वाली होती है।
3. katazone (निम्नमण्डल) :  मेटामोर्फिज्म का सबसे मुख्य व नीचे का जोन निम्न जोन कहलाता है।  इस ज़ोन में वितलीय कायान्तरण होता है।

grade of metamorphism

किसी rock के मेटामोर्फिज्म की दर अथवा घनत्व “मेटा मोर्फिज्म” की श्रेणी (grade) कहलाती है।  यह सीधे सीधे अफेक्टेड rock के ताप व दाब की मात्रा दर निर्भर करती है।
अलग अलग मिनरल से निर्मित समान कम्पोजीशन वाली पेरेंट रॉक में कई मेटा मार्फिक ग्रेड्स होती है।
metamorphism की श्रेणियां बहुत low , low medium और high श्रेणी की हो सकती है।
उदाहरण के लिए –
Slate और phyllite आग्नेय शैल रूपों से बहुत दूर निर्मित होते है और ये निम्न श्रेणी का कायान्तरण दिखाते है जबकि gneiss इस क्षेत्र के नजदीक निर्मित होता है और उच्च श्रेणी का कायान्तरण दिखाता है।

zones of Progressive regional metamorphism उत्तरोतर प्रादेशिक कायान्तरण के मण्डल

इन्डेक्स खनिजो की प्राप्ति के आधार पर पाँच प्रकार के कायान्तरण मण्डल बतायें गए है।  इंडेक्स खनिज वे खनिज है जो कायान्तरण की श्रेणियों को सूचित करते है।
इन्डेक्स मिनरल जो की आरजिलेसियस शैलो में निर्मित होते है इनमे उच्चतर कायान्तरण श्रेणी का क्रम है – पहला क्लोराईट , फिर बायोटाइट , फिर एल्मेनडाईट फिर स्टेरोलाइट फिर कायनाइट और फिर उच्च तापीय सिलिमेनाइट।  इन इन्डेक्स मिनरलो की उपस्थिति के बाद कायान्तरण मंडलों के नाम दिए गए।
जो निम्न प्रकार है –
1. Clorite zone : इस मण्डल में clayey पदार्थ muscovite और chlorite में पुन: क्रिस्टलित हो जाते है।  phyllite और slates इस मण्डल की शैलें है।
2. Biotite zone : इस जोन में मस्कोवाईट व क्लोराईट की जगह भूरा बायोटाइट appears होता है।  biotite schist इस प्रकार के मण्डल की शैल है।
3. Garnet zone : इस मण्डल का characteristic मिनरल parphyroblastic almandite garnet है।  इस zone की मुख्य rock garnetiferous mica schist है।
4. staurolite kyanite zone : staurolite केवल आयरन की अधिकता वाली argillaceous rocks में बनते है जबकि kyanite normal argillaceous rocks में बनते है।
5. Sillimanite zone : इस zone में gneisses , potash felspar के साथ biotite , garnet और sillimanite रखते है।
एक ही कोटि के कायान्तरण के प्रतिक विभिन्न शैलो को समश्रेणीय (isograde) कहते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!