मध्य मस्तिष्क किसे कहते हैं mesencephalon in hindi (मिसेनसिफेलान) मध्य मस्तिष्क के कार्य बताइए पश्च मस्तिष्क

By  

mesencephalon in hindimeaning work मध्य मस्तिष्क किसे कहते हैं (मिसेनसिफेलान) मध्य मस्तिष्क के कार्य बताइए पश्च मस्तिष्क  ?

मध्य मस्तिष्क (मिसेनसिफेलान) : यह डाइएनसिफेलोन के पीछे मस्तिष्क का संकुचित भाग है | (प्रमस्तिष्क के नीचे और पश्च मस्तिष्क के ऊपर) इसकी गुहा एक संकरी नलिका होती है जो cerebral aqueduct (= aqueduct of sylvius) कहलाती है जो third ventricle को पश्च मस्तिष्क की गुहा (fourth ventricle) से जोड़ती है | aqueduct के सामने वाले भाग में तंतुओं (white matter) , के दो बेलनाकार रज्जु होते हैं जो cerebral peduncles (प्रमस्तिष्क वृत्त) कहलाते हैं | इन वृन्त्तों के तंतु पश्च मस्तिष्क और मेरुरज्जु का प्रमस्तिष्क के साथ संयोजन करते हैं |

Aqueduct के पश्च भाग में तंत्रिकाओं के गुच्छे युक्त (= nuclei) धूसर द्रव्य (gray matter) के चार उभार (eminences) (दो उधर्ववर्ती और दो निम्नवर्ती) पाए जाते हैं | प्रत्येक eminence colliculus , के लिए समन्वयक केंद्र की तरह कार्य करते हैं जबकि inferior colliculi auditory reflexes के लिए समन्वयक केंद्र की तरह कार्य करते हैं |

पश्च मस्तिष्क (Rhombencephalon) : इसमें तीन भाग शामिल हैं | cerebellum , pones verolii और medulla oblongata . सेरेबेलम के सामने और पोन्स और मेड्यूला के पीछे fourth ventricle होता है जो aqueduct of sylvius द्वारा third ventricle से जुड़ रहता है | इस ventricle की छत posterior choroid plexus से सम्बन्धित होती है | छत में एक opening , foramen of magendie और fourth ventricle की पाशर्व दीवार में दो opening formina of luschka , होते हैं | यह इस ventricle को subarachnoid space से जोड़ते हैं | सेरेब्रोस्पाइनल तरल (CSF) arterial fluid , की तरह उत्पन्न होता है और choroid plexus की केपिलरी से निकलता है और एरेक्नोइड की venous capillaries से venous fluid के रूप में अवशोषित होता है |

The cerebellum (little brain) : इसमें दायें और बाएं दो विस्तारित पिण्ड होते हैं | ये दोनों भाग संकुचित भाग वर्मिस (vermis) द्वारा जुड़े रहते हैं | प्रत्येक भाग cerebellar hemisphere कहलाते हैं जो अपनी तरफ के cerebral hemisphere के ऑक्सीपिटल पिण्ड के नीचे पाए जाते है | इनके मध्य ड्यूरामेटर के अंतवर्लन के कारण बनी हुई transverse fissure पाई जाती है | cerebellar hemispheres में प्रमस्तिष्क गोलार्द्ध की तरह grey matter होता है परन्तु स्पष्टत: वलयित (folded) और एंठन युक्त होने की बजाय यह furrows (= sulci) द्वारा चिन्हित होती है | प्रत्येक cerebellar गोलार्द्ध का आंतरिक भाग white matter और तंत्रिकाओं के कुछ गुच्छों से बना होता है जो तंतु नलिकाओं और वृंत के बिखरे रूप में व्यवस्थित होते हैं इसलिए यह व्यवस्था arbor vitae (tree of life) कहलाती है | तंतु cerebellum को प्रमस्तिष्क , मध्य मस्तिष्क , पोन्स और मेड्युला ऑब्लोगेटा से जोड़ता है | अधिकांश तंतु आवेगों को neuronal centres तक लाते हैं जबकि अन्य आवेगों को अन्य केन्द्रों तक ले जाते हैं | आने वाले आवेग प्रमस्तिष्क के चालक केन्द्रों (motor centres) अंत:करण की अर्द्धवर्तुल नलिकाएँ और कंकालीय पेशियों से आते हैं |

Cerebellum का कार्य “प्रमस्तिष्क के सचेतन नियंत्रण के अंतर्गत कंकालीय पेशियों का अचेतन (unconscious) नियंत्रण होता हैं |”

  • प्रमस्तिष्क के निर्देशन में cerebellum पेशियों के विभिन्न समूहों की क्रियाओं के समन्वयन के द्वारा निपुण प्रतिक्रिया उत्पन्न करते हैं |
  • यह साम्यावस्था (equilibrium) के लिए उत्तरदायी कंकालीय पेशियों के कार्यों को नियंत्रित करता है |
  • यह body posture के नियंत्रण में सहायता करता है |
  • वृद्धि के प्रारंभिक अवस्था में यह learning से सम्बन्धित होता है |

Cerebellum के चोटिल (injurd) होने के परिणामस्वरूप पेशीय कमजोरी , पेशीय तनाव (muscle tone ) में कमी और गतियों के उचित नियंत्रण में कमी होती है | कुछ जटिल बहुध्रुवीय गदाकार न्यूरॉन , purkinje cells की उपस्थिति इस क्षेत्र में होती है |

The pons : यह cerebellum , के सामने मध्य मस्तिष्क (ऊपरी) और मेड्युला ऑब्लागेटा (निम्न) के मध्य होता है | इसमें अनुप्रस्थ और लम्बवत तंत्रिका तंतुओं का जाल होता है जो grey matter के साथ अंत: मिश्रित होते हैं | अनुप्रस्थ तंतु बाह्यतम white matter बनाते है और दो सेरेब्रेल गोलार्द्ध को आपस में जोड़ने का कार्य करते हैं | लम्बवत तन्तु मध्य मस्तिष्क के द्वारा medulla को प्रमस्तिष्क से जोड़ता है | pneumotaxic centre जो pons में उपस्थित होता है , यह श्वसन को नियंत्रित करता है |

The medulla oblongata : मेड्युला ऑब्लागेंटा क्रेनियल गुहा से जैसे ही foramen magnum के द्वारा बाहर निकलता है तो मरुरज्जू में परिवर्तित हो जाता है | यह मुख्य रूप से तंत्रिका और neuronal nuclei और clusters के साथ मिलकर बना होता है | मस्तिष्क और मरुरज्जू के मध्य पाए जाने वाले अपवाही और अभिवाही नलिका के सभी तंतु मेड्युला में पाए जाते है | कुछ तंतु यहाँ व्यवस्थित (decussate) होते हैं अर्थात एक तरफ से दूसरी तरफ क्रॉस निर्माण करते हैं | कुछ तन्तु medullary nuclei में समाप्त होते हैं | nuclei के साथ कई केंद्र होते है जो cardiac , vasoconstrictor और श्वसन और अनेक reflex reactions को नियंत्रित करते हैं | अन्य nuclei जिनसे 9th से 12th तक कपालीय तंत्रिकाएं उत्पन्न होती है |

Brain stem : मध्य मस्तिष्क , पोंस वेरोलाई और मेड्युला ऑब्लागेटा मस्तिष्क की निचली सतह या आधार बनाते हैं जिसे brain stem कहा जाता है |

मस्तिष्क की गुहाएँ (ventricles)

प्रत्येक सेरेब्रल गोलार्द्ध में एक गुहा होती है जिसे lateral ventricle (पाशर्व गुहा) कहते हैं | Lateral ventricles को प्रथम और द्वितीय ventricles , भी कहा जाता है जो सामने से बंद होते है परन्तु पीछे की तरफ third ventricle में सामान्यतया foramen of monro द्वारा खुले रहते हैं | third ventricle मध्य मस्तिष्क में उपस्थित संकरे पथ inter द्वारा मेड्युला ओब्लोगेटा में उपस्थित पीछे की तरफ fourth ventricle से जुडी रहती है | fourth ventricle मेरुरज्जु की केन्द्रीय नाल के लम्बन (enlargement) से बनी होती है | तीन छोटे उपकरण इसकी छत में भी उपस्थित होते हैं जिनके द्वारा सेरोब्रोस्स्पाइनल तरल (cerebrospinal fluid) meningeal spaces में प्रवेश करता है | इस तरह मस्तिष्क की सभी ventricle नियमित होते हैं और ciliated columnar epithelium द्वारा आवरित रहती है इनमें लिम्फ जैसा बाह्य कोशिकीय द्रव्य जिसे cerebrospinal fluid कहते है , उपस्थित होता है | इस द्रव्य का अधिकांश भाग ventricles में उभरे हुए रक्त वाहिनियों के plexuses से स्त्रावित होता है |

Choroid plexus एक तरफ रक्त और दूसरी तरफ मस्तिष्क में CSF के मध्य अवरोधक का कार्य करती है अत: इसे blood brain barriers कहते हैं , मानव में CSF की मात्रा लगभग 135 ml होती है | लगभग 550 ml द्रव प्रतिदिन स्त्रावित होता है यह द्रव नियमित रूप से प्रवाहित होता है और पुनः अवशोषित होता है | यह धीरे धीरे fourth ventricle की तरफ प्रवाहित होता है और मेरुरज्जु में प्रविष्ट होता है |

CSF जो meningeal spaces में होता है , एरेक्नोइड झिल्ली की रक्त वाहिनियों द्वारा अवशोषित होता है |

याद रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  1. एपीथैलेमस और पायोमेटर के लिए संयुक्त रूप से tela choroidea term प्रयोग में लिया जाता है |
  2. Tela choroidea एपीथिलियम और रक्त वाहिनियों की बनी होती है |
  3. घ्राण संवेदना शार्क (dog fish) , में अत्यधिक विकसित होती है | dog fish नाम अतिविकसित घ्राण पिण्डों के आधार पर ही दिया गया है | मछली का मस्तिष्क Nose Brain के रूप में जाना जाता है |
  4. Ataxia का मतलब पेशीय समन्वय का अभाव होता है | Cerebellum की क्षति ataxia करती है |
  5. लिखी गयी भाषा को समझने की अयोग्यता Dyslexia कहलाती है |
  6. CNS के न्यूरॉन की माइलिन आच्छद का नष्ट होना Multiple sclerosis कहलाता है |
  7. अमेरिका के वैज्ञानिक Roger sperry द्वारा 1981 में spit brain theory पर अभूतपूर्व कार्य किया जिसके लिए उन्हें नोबल पुरस्कार दिया गया था |
  8. पार्किन्सन्स बीमारी और Paralysis agitans (Agitans Palsy) मस्तिष्क की विकृति है |
  9. Parkinsonism न्यूरोट्रांसमीटर डोपामाइन और मस्तिष्क न्यूरोन के अपघटन के कारण उत्पन्न tremors और limbs की उत्तरोत्तर कठोरता के द्वारा लक्षित होते हैं |
  10. मस्तिष्क और प्रमस्तिष्क वल्कुट की विद्युतीय सक्रियता को electroencephalograph और cathode ray oscilloscope द्वारा दर्ज किया जाता है |
  11. Berger ने 1929 में सर्वप्रथम EEG दर्ज किया था |
  12. सामान्य मानव में इलेक्ट्रोएनसिफेलोग्राफ में चार विभिन्न प्रकार की तरंग एल्फा , बीटा , थीटा और डेल्टा तरंग होती है |
  • एल्फा तरंग : 10-12 चक्र / सेकंड | जब मस्तिष्क विश्राम अवस्था में होता है तो एल्फा तरंग अत्यधिक प्रभावी होती है लेकिन जब आँख खुली होती है तो एल्फा तरंग बिल्कुल अनुपस्थित होती है | सोने के दौरान एल्फा तरंगें अनुपस्थित होती हैं |
  • बीटा तरंग : 15-60 चक्र / सेकंड | तनाव और CNS की अत्यधिक सक्रियता के दौरान बीटा तरंग प्रकट होती है |
  • थीटा तरंग (theta waves) : 5-8 चक्र/सेकंड | ये तरंग 2 से 5 वर्ष के बच्चों में प्रभावी होती है |
  • डेल्टा तरंग : 1-5 चक्र / सेकंड | डेल्टा तरंग सामान्य दिनचर्या में मनुष्य में बहुत कम पायी जाती है | परन्तु गहरी निद्रा के दौरान सामान्यतया पायी जाती है | EEG में डेल्टा तरंग की उपस्थिति मस्तिष्क क्षति को दर्शाती है |