Linked Lists in hindi in c language , what is Linked Lists in c , c भाषा में लिंक्ड लिस्ट क्या है हिंदी में

By  
c भाषा में लिंक्ड लिस्ट क्या है हिंदी में Linked Lists in hindi in c language , what is Linked Lists in c :-
हमने इससे पहले के article मे सभी data type को स्टूडे किया अब आने वाले article मे कुछ advanced data structure जैसे linked list,stack और queues को पढेगे |
जिसे की array भी एक लिस्ट है |array मे ,data को sequential collection है जिसमे data को index से accessing और manipulation का सकते है |लेकिन अर्रा में ,array की size को compile time पर declare करना होता है |जो की कई बार मुश्किल हो जाता है |इस प्रॉब्लम को solve करने के लिए एक नए data structure को introduce किया गया है |

Linked List
linked list एक एसी data structure है जिसमे data structure के item के अलावा lost मे आने वाले next item के address को contain किया जाता है |इस data structure को linked list इसलिए कहते है क्योकि इसमे list के सभी item आने वाले item से link होते है |
linked लिस्ट के प्रत्येक block को नोड कहते है |जिसके दो part होते है :-
1.पहले भाग linked लिस्ट के item को रखता है |
2.दुसरे भाग मे ,next item के address को रखता है |

इस data structure मे element , memory address से link नहीं होते है बल्कि किसी लॉजिकल लिंक से लिंक होते है जो की सभी नोड के दुसरे भाग मे store होता है |लिंक एक pointer variable होता है जिसका type दुसरे नोड के data type का होता है |linked लिस्ट को structure data type से define किया जाता है जिसका syntax है :-

struct node
{
int item;
struct node *next ;
};
इस syntax मे :-
1. item : item एक integer variable है जो की linked लिस्ट के element को रखता है |
2. next : next एक pointer variable है जो की linked लिस्ट के next element के address को contain करता है |इसका data type struct node होता है |
इस तरह की structure जो की members फ़ील्ड मे एसे member को रखते है जिसका data type ,खुद का data type होता है |ये structure self referential structure कहते है |
किसी नोड का syntax होता है :-
struct node
{
mem 1;
mem 2;
……….;
……….;
struct node *pointer_name ;
};
 
एक उदाहरन लेते है :-
struct node
{
int salary;
struct node *n;
};
ये एक linked list के node का declartion है |अब उसके बाद ,node1 और node2 दो नोड है जिसका data type struct node है |
इसे declare करेगे :-
struct node node1 ,node2 ;
 इस statement से दो space create हो जायेगे जिसमे से एक space पहले node के item को और दुसरे node के address को contain करेगा |और दूसरा node ,दुसरे node का  item को तीरसे node के address को contain करता है |
अतः node1.n=&node2; अगला statement होगा जो की linked लिस्ट  की condition को follow करता है |
उसके बाद :
node1.salary=2000;
node2.salary=4500;
इन statement से , दो node के item वाले space मे 2000 और 4500 assign हो जायेगा |
अगर इस लिस्ट मे अगला node add होगा तब node2.n=&node3; statement से node3 का address node2 के pointer variable मे store हो जाता है |
अगर किसी लिस्ट का end हो जाता है  इस लिस्ट के last वाले element के pointer variable मे null pointer ‘0’ को store होता है | अतः node2.n=0;
किसी linked लिस्ट के element को access करने के लिए printf(“%d”,node1.n->salary); use कर सकते है |
Linked list : advantage और disadvantage :-
1.लिंक लिस्ट एक dynamic data type है इसे प्रोग्राम के run time के समय declare किया जा सकता है |मतलब इसके size को कम और ज्यादा run time के समय किया जा सकता है |
2.इस डट type से memory wastage नहीं होती है |ये memory को तभी use करता है जब इसे उसकी जरुरत होती है |अनावश्यक memory को होल्ड नहीं करता है |
3.सबसे महत्वपूर्ण advantage होता है की linked list की flexibility |इसका मतलब है की linked लिस्ट के किसी भी element को कभी भी rearrange कर सकते है |
Disadvantage
1,linked लिस्ट की सबसे पहले disadvantage है की item के random access complex और time consuming होता है |
2.अगर हम fixed length linked list को use करते है linked list सेअच्छा array होती है क्योकि linked लिस्ट से data को process करना मुश्किल होता है |