kmno4 का प्रयोग किया जाता है , kmno4 का उपयोग किस रूप में किया जाता है kmno4 is used for in hindi

By  

kmno4 is used for in hindi kmno4 का प्रयोग किया जाता है , kmno4 का उपयोग किस रूप में किया जाता है  ?

प्रश्न :  KMnO4 का प्रयोग किया जा सकता है-
(अ) कीटनाशी के रूप में (ब) उर्वरक के रूप में ।
(स) पीड़कनाशी के रूप में (द) रोगाणुनाशी के रूप में ै
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
KMnO4 (पोटैशियम परमैग्नेट) का प्रयोग रोगाणुनाशी के रूप में किया जा सकता है। यह एक एंटीसेफ्टिक है जिसका उपयोग हाथों तथा पैरों में त्वचा रोग तथा कवकों के संक्रमण को रोकने में तथा अल्सर के उपचार में किया जाता है। इसका उपयोग गोनोरिया के उपचार में भी होता है। इसे लाल दवा के नाम से भी जाना जाता है।
प्रश्न :  KMnO4 का प्रयोग किस रूप में किया जा सकता है?
(अ) कीटनाशक (ब) उर्वरक
(स) पीड़कनाशी (द) विसंक्रामक
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
13. जब पेपर पर फैले संदलित KMnO4 में ग्लिसरॉल की एक बूंद मिलाई जाती है, तो क्या होता है?
(अ) चटखने की आवाज होती है।
(ब) हिंसक विस्फोट होता है।
(स) कोई प्रतिक्रिया नहीं होती।
(द) पेपर सुलगने लगता है।
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
जब पेपर पर फैले संदलित KMnO44 में ग्लिसरॉल की एक बूंद मिलाई जाती है तो पेपर सुलगने लगता है। पोटैशियम परमैग्नेट एक प्रबल ऑक्सीकारक के रूप में प्रयुक्त होता है।
14  KMnO4  +  4C3H5;OH)3 → 7K2CO3 + 7Mn2O3  +  5
CO2 + 16 H2O
14. संवेदनाहारी (ऐनिस्थेटिक) के रूप में निम्नलिखित में से किसका प्रयोग किया जाता है?
(अ) NH3 (ब) NO
(स) NO2 (द) N2O
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
नाइट्रस ऑक्साइड जिसे प्रायः ‘लाफिंग गैस‘ या N2O कहते हैं, एक रासायनिक अकार्बनिक यौगिक है। इसका प्रयोग शल्य क्रिया और दंत चिकित्सा में संवेदनाहारी (ऐनिस्थेटिक) के रूप में होता है।

1. ‘कोका कोला‘ का खट्टा स्वाद किसके अस्तित्त्व के कारण होता है?
(अ) एसिटिक एसिड (ब) फॉस्फोरिक एसिड
(स) हाइड्रोक्लोरिक एसिड (द) फॉर्मिक एसिड
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
‘कोका कोला‘ का खट्टा स्वाद फॉस्फोरिक एसिड के उपस्थिति के कारण होता है। यह आस्कंदन कारक (Sowing agent) के रूप में मृदु पेय के निर्माण में प्रयोग किया जाता है।
2. ऑक्टेन संख्या के लिए किस यौगिक का न्यूनतम मान होता है?
(अ) आइसो-ऑक्टेन (ब) 2,2-डाइ मेथिल हेक्सेन
(स) द-हेप्टेन (द) 2-मेथिल हेप्टेन
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
सभी ईंधनों के ऑक्टेन संख्या का निर्धारण द-हेप्टेन एवं 2,2,4 ट्राई मिथाइल पेंटेन (आइसो ऑक्टेन) यौगिकों के मध्य होता है। जहां द- हेप्टेन का ऑक्टेन सं.-शून्य है वहीं आइसो ऑक्टेन का ऑक्टेन सं.-100 है।
3. ऐमोनेल एक मिश्रण है-
(अ) एल्युमीनियम पाउडर और अमोनियम नाइट्रेट का
(ब) एल्युमीनियम पाउडर और अमोनियम क्लोराइड का
(स) एल्युमीनियम पाउडर और अमोनियम सल्फेट का
(द) एल्युमीनियम पाउडर और पोटैशियम नाइट्रेट का
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2008
उत्तर-(अ)
ऐमोनैल एल्युमीनियम पाउडर और अमोनियम नाइट्रेट का मिश्रण है। यह बम बनाने में इस्तेमाल होता है।
4. निम्नलिखित में से किसे विलयन भी कहा जाता है?
(अ) यौगिक (ब) समांगी मिश्रण
(स) विषमांगी मिश्रण (द) सस्पेंशन
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
समांगी मिश्रण को ‘विलयन‘ भी कहा जाता है। इसके कणों का हम अपनी आंखों से नहीं देख सकते हैं। जैसे- नमक और पानी का मिश्रण एक समांगी मिश्रण है, इसे ‘विलयन‘ भी कहते है।
5. हाइड्रॉक्सी समूह वाला आर्गनिक (Organic) अम्ल है-
(अ) बेन्जोइक अम्ल (ब) कार्बोलिक अम्ल
(स) सिनामिक अम्ल (द) एसीटिक अम्ल
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
बेन्जोइक अम्ल, सिनामिक अम्ल एवं एसीटिक अम्ल में कार्बोक्सिलिक जबकि फीनॉल का दूसरा नाम कार्बोलिक अम्ल है। इसमें हाइड्रॉक्सी समूह होता है।
6. उच्चतम आयनन ऊर्जा वाला तत्व है-
(अ) हाइड्रोजन (ब) हीलियम
(स) लीथियम (द) सोडियम
S.S.C.  मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
संवृत कोश इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के कारण उत्कृष्ट गैसों के आयनन विभव बहुत ऊंचे होते हैं। दिए गए विकल्प में हीलियम का आयनन ऊर्जा सबसे अधिक है।
7. आंतरिक संक्रमण तत्त्वों की कुल संख्या कितनी है?
(अ)16 (ब) 28
(स) 32 (द) 33
S.S.C.  मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
आंतरिक संक्रमण तत्त्वों की कुल संख्या लगभग 28 है। जिसमें 14 लेंथेनाइड तथा 14 एक्टेनाइड हैं।
8. स्तंभ ब के स्रोत का मिलान स्तंभ अ के उत्पादन के साथ करे –
स्तंभ अ स्तंभ ब
(उत्पाद) (स्रोत)
(अ) फॉर्मिक अम्ल 1. नींबू
(ब) सिट्रिक अम्ल 2. इमली
(स) टार्टरिक अम्ल 3. चीटियां
अ ब स
(अ) 3 2 1
(ब) 3 1 2
(स) 2 3 1
(द) 2 1 3
S.S.C.Tax Asst.  परीक्षा, 2007
उत्तर-(ब)
सही सुमेलन हैं-
उत्पाद स्त्रोत
फॉर्मिक अम्ल – चीटिंया
टार्टरिक अम्ल – इमली
सिट्रिक अम्ल – नींबू
9. एल्कोहॉली (OH) समूह की पहचान की जा सकती है-
(अ) टॉलेन अभिकर्मक परीक्षण द्वारा
(ब) एस्टरीकरण परीक्षण द्वारा
(स) FeCl3 परीक्षण द्वारा
(द) ओजोनॉलिसिस अभिक्रिया द्वारा
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(स)
एल्कोहॉली (OH) समूह की पहचान FeCl3 परीक्षण द्वारा होता है।
10. फॉर्मेलिन एक जलीय विलयन है-
(अ) मीथेनॉल का (ब) ईथेनॉल का
(स) फ्रक्टोस का (द) नाइट्रिक एसिड का
S.S.C.  स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
फॉर्मेलिन (फॉर्मेल्डिहाइड या मीथेनॉल का 40ः जलीय विलयन) का उपयोग एक प्रबल रोगाणुनाशी और पूर्तिरोधी के रूप में तथा जंतुओं के नमूनों के परिरक्षण (जैव पदार्थों के शव लेपन) में किया जाता है।

15. साबुन उद्योग को मिलने वाला उपोत्पाद है-
(अ) कॉस्टिक सोडा (ब) ग्लिसरॉल
(स) नेप्थलीन (द) कॉस्टिक पोटाश
S.S.C.Section off  परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) सफेद क्रिस्टलीय ठोस है। यह जल में विलेय है। इसका जलीय विलयन साबुन के समान चिकना होता है। सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) दाहक पदार्थ है। यह त्वचा पर फफोले डाल देता है, इसलिए इसे दाहक सोडा कहते हैं। इसका उपयोग साबुन बनाने में करते हैं। तेल या वसा का कॉस्टिक सोडा विलयन द्वारा जल अपघटन करने पर साबुन और ग्लिसरॉल बनते हैं। यह क्रिया तेल या वसा का साबुनीकरण कहलाती है।
16. साबुनीकरण एक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा-
(अ) साबुन बनाया जाता है
(ब) प्लास्टिक बनाया जाता है
(स) सल्फर का निष्कर्षण किया जाता है
(द) प्रोटीन की पहचान की जाती है
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा 2017
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
17. साबुन बनाने में निहित प्रक्रिया है-
(अ) साबुनीकरण (ब) जल अपघटन
(स) द्रवण (द) बहुलकीकरण
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2008
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
18. साबुनीकरण प्रक्रिया में प्राप्त एल्कोहल कौन सा होता है?
(अ) इथाइल एल्कोहल (ब) मिथाइल एल्कोहल
(स) काष्ठ स्पिरिट (द) ग्लिसरॉल
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
साबुनीकरण प्रक्रिया में ‘ग्लिसरॉल‘ प्राप्त होता है। यह एक प्रकार का एल्कोहल (Suger Alcohal) है।
19. साबुन कपड़ों की बेहतर सफाई में क्यों सहायक होता है?
(अ) यह घोल के पृष्ठीय तनन को कम करता है।
(ब) साबुन उत्प्रेरक की तरह काम करता है।
(स) यह गंदगी को अवशोषित कर लेता है।
(द) यह घोल को शक्ति देता है।
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
साबुन कपड़ों की बेहतर सफाई में सहायक होते हैं क्योंकि यह घोल के पृष्ठीय तनाव को कम करता है।
20. डेटोल में मौजूद पूर्तिरोधी यौगिक है-
(अ) आयोडीन (ब) एनलोरॉक्सीलेनॉल
(स) बायोथियोनॉल (द) क्रेसॉल
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
डेटोल में मौजूद पूर्तिरोधी यौगिक के संघटन में क्लोरॉक्सीलेनॉल (Chloroxylenol), पाइन ऑयल, केस्टर ऑयल (Castor Oil) तथा पानी होता है।
21. तरल ब्लीच का मुख्य घटक क्या है?
(अ) हाइड्रोक्लोरिक एसिड
(ब) सोडियम क्लोराइड
(स) सोडियम हाइपोक्लोरेट
(द) सोडियम हाइपोक्लोराइट
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
सोडियम हाइपोक्लोराट क्लोरीन की तीक्ष्ण गंध वाला एक द्रव है। यह सामान्यतः रंगहीन किंतु कुछ विलयनों में हरे एवं पीले रंग का होता है। इसके अन्य नाम क्लोरॉक्स, ब्लीच, तरल ब्लीच, जावेक्स (Javex) भी हैं।
22. दाहक सोडा कैसा होता है?
(अ) उत्फुल्ल (ब) प्रस्वेदी
(स) ऑक्सीकारक (द) अपचायक
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
सोडियम हाइड्रॉक्साइड को कास्टिक सोडा (NaOH) भी कहते हैं। यह जल, एथेनॉल और मिथेनॉल में विलेय है। यह क्षार प्रस्वेदी है और हवा में नमी और कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करता है।
23. कौन-सी गैस वायुमंडल का अंग नहीं है?
(अ) नाइट्रोजन (ब) हीलियम
(स) क्लोरीन (द) उपर्युक्त में से कोई नही
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
वायुमंडल में नाइट्रोजन सबसे अधिक 78.095%, ऑक्सीजन 20.936%, कार्बन डाइऑक्साइड 0.031% और उत्कृष्ट गैसे 0.937% होती हैं। क्लोरीन वायुमंडल का अंग नही है।
24. सूर्य की सतह पर हाइडोजन के अलावा दूसरा कौन-सा तत्त्व बहुतायत से पाया जाता है?
(अ) हीलियम (ब) निऑन
(स) आर्गन (द) ऑक्सीजन
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
सूर्य की सतह पर हाइड्रोजन के अलावा दूसरा बहुतायत में पाया जाने वाला तत्त्व हीलियम (24.85%) है। इसके बाद क्रमशः ऑक्सीजन (0.77%), कार्बन (0.29%), लोहा (0.16%) तथा निऑन (0.12%) है।