काली घटा का घमंड घटा में कौन सा अलंकार है | काली घटा का घमंड घटा पंक्ति में प्रयुक्त अलंकार बताइए-

By  

काली घटा का घमंड घटा पंक्ति में प्रयुक्त अलंकार बताइए- काली घटा का घमंड घटा में कौन सा अलंकार है क्या है ? kaali ghata ka ghamand me kaunsa alankar hai ?

निर्देश प्र.सं. (1-2): निम्नलिखित प्रत्येक चार विकल्पों में बेमेल शब्द को चिन्हित कीजिये।

1. (अ) समस्या (ब) खेद (स) कठिनाई (द) जटिलता

उत्तर- (ब)

2. (अ) घर (ब) प्रियजन (स) परिवार (द) बच्चे

उत्तर- (अ)

3. बेमेल को छाँटिए

(अ) सेवा सदन (ब) निर्मला (स) चंद्रकांता (द) गोदान

उत्तर-(स)

रचना-रचनाकार

1. सुमित्रानन्दन पंत को किस कृति पर ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला?

(अ) स्वर्णधूलि (ब) लोकायतन (स) युगवाणी (द) चिदाम्बरा

उत्तर- (द)

2. प्रेमचन्द के अधूरे उपन्यास का नाम है

(अ) गबन (ब) रंगभूमि (स) मंगलसूत्र (द) सेवासदन

उत्तर- (स)

3. ‘हंस‘ पत्रिका के संस्थापक संपादक थे?

(अ) प्रेमचंद (ब) निराला (स) धर्मवीर भारती (द) अज्ञेय

उत्तर- (अ)

निर्देश प्र०सं० (4-7): निम्न भक्ति काव्य के प्रमुख कवि कौन हैं?

4. दिए गए विकल्पों में से निर्गुण भक्ति काव्य के प्रमुख कवि कौन हैं?

(अ) सूरदास (ब) कबीर (स) तुलसीदास (द) केशव

उत्तर- (ब)

5. भारतीय संविधान में किस भाषा को ‘‘राजभाषा‘‘ के रूप में स्वीकार किया गया है?

(अ) अंग्रेजी (ब) उर्दू

(स) हिन्दी (द) तमिल

उत्तर- (स)

6. “कामायनी‘‘ महाकाव्य के रचियता कौन हैं?

(अ) सूरदास (ब) प्रेमचंद (स) जयशंकर (द) कबीरदास

उत्तर-(स)

7. ‘‘पृथ्वीराज रासो’’ किस काल की रचना है?

(अ) आदिकाल (ब) रीतिकाल

(स) भक्तिकाल (द) आधुनिक काल

उत्तर- (अ)

8. निम्न में से कौन सी ‘दिनकर’ की रचना नहीं है?

(अ) उर्वशी (ब) कुरुक्षेत्र (स) मृगनयनी (द) रश्मिरथी

उत्तर-(स)

अलंकार

1. ‘‘सारंग लै सारंग चल कई सारंग की ओट। सारंग झीनो पाइकें सारंग कई गई चोट।‘‘

उक्त पद्य में कौन-सा अलंकार विद्यमान है?

(अ) उत्प्रेक्षा अलंकार (ब) श्लेष अलंकार

(स) यमक अलंकार (द) रूपक अलंकार

उत्तर- (स)

2. दिवसावसान का समय

मेघमय आसमान से उतर रही है वह संख्या-सुन्दरी परी सी धीरे-धीरे-धीरे इन पंक्तियों में कौन सा अलंकार है?

(अ) रूपक (ब) उपमा (स) श्लेष (द) मानवीकरण

उत्तर- (द)

3. ‘‘ले चला साथ मैं तुझे कनक ज्यों भिक्षुक लेकर स्वर्ण । झनक’’ में अलंकार बताइये?

(अ) रुपक (ब) उत्प्रेक्षा (स) उपमा (द) श्लेष

उत्तर- (ब)

4. ‘‘तीन बेर खाती थी वो तीन बेर खाती है।’’ में कौन सा अलंकार है?

(अ) अनुप्रास (ब) यमक द्य (स) श्लेष (द) रुपक

उत्तर- (ब)

5. अलंकार का शाब्दिक अर्थ होता है

(अ) वस्त्र (ब) वर्ण (स) आभूषण (द) विशिष्ट

उत्तर- (स)

6. ‘वही मनुष्य है कि जो मनुष्य के लिए मरे‘ पंक्ति में कौन सा अलंकार है?

(अ) अनुप्रास (ब) यमक (स) श्लेष (द) रुपक

उत्तर-(ब)

7. ‘तीन बेर खाती थी वे तीन बेर खाती हैं‘ में प्रयुक्त अलंकार:

(अ) अनुप्रास (ब) श्लेष (स) यमक (द) अन्योक्ति

उत्तर-(स)

8. ‘चरण कमल बंदौ रघुराई‘ में अलंकार:

(अ) श्लेष (ब) उपमा (स) रुपक (द) रुपकातिश्योक्ति

उत्तर-(स)

9. “अम्बर-पनघट में डुबो रही, तारा-घट ऊषा-नागरी।‘‘ में कौन-सा अलंकार है?

(अ) अनुप्रास (ब) श्लेष (स) रूपक (द) उपमा

उत्तर- (स)

10. ‘‘काली घटा का घमंड घटा‘‘ उपर्युक्त पंक्ति में कौन-सा अलंकार है?

(अ) यमक (ब) उपमा (स) उत्प्रेक्षा (द) रूपक

उत्तर- (अ)

11. जहाँ बिना कारण के कार्य का होना पाया जाए, वह कौन-सा अलंकार होता है?

(अ) विरोधाभास (ब) विभावना (स) वक्रोक्ति (द) विशेषोक्ति

उत्तर- (ब)

12. ‘‘संतौ भाई आई ग्यान की आँधी रे’’- पंक्ति में कौनसा अलंकार है?

(अ) उपमा (ब) अन्योक्ति (स) रूपक (द) अतिशयोक्ति

उत्तर- (स)

13. “सखिन्ह सहित हरषी अति रानी। सूखत धानु पराजनु पानी। इस पंक्ति में अलंकार है

(अ) संभावना (ब) विभावना (स) उत्प्रेक्षा (द) श्लेष

उत्तर- (स)

14. ष्सो सिवधनु मृनाल की नाई। तोरहूँ राम गणेन गोसाई।

इस पंक्ति में किस अलंकार का प्रयोग है?

(अ) विभावना (ब) वक्रोक्ति (स) अर्थन्तरन्यास (द) उपमा

उत्तर- (द)

15. “खिली हुई हवा आई फिरकी सी आई, चल गई‘‘ पंक्ति में अलंकार है –

(अ) उपमा (ब) अनुप्रास (स) संभावना (द) उत्प्रेक्षा

उत्तर- (अ)

16. ‘‘पापी मनुज भी आज मुख से, राम नाम निकालते‘‘ इस काव्य-पंक्ति में अलंकार है

(अ) विरोधाभास (ब) दृष्टान्त (स) विभावना (द) उदाहरण

उत्तर- (अ)

17. जहाँ उपमेय का निषेध करके उपमान का आरोप किया

जाय, वहाँ होता है,

(अ) रूपक अलंकार (ब) उत्प्रेक्षा अलंकार

(स) अपहलुति अलंकार (द) उपमा अलंकार

उत्तर- (अ)

18. निम्नलिखित में से कौन सादृश्यमूलक अलंकार नहीं है?  (अ) उपमा (ब) रूपक (स) विशेषोक्ति (द) उत्प्रेक्षा

उत्तर- (स)

19. किस पंक्ति में ‘अपह्नति‘ अलंकार है?

(अ) इसका मुख चन्द्रमा के समान है।

(ब) चन्द्र इसके मुख के समान है

(स) इसका मुख ही चन्द्र है।

(द) यह चन्द्र नहीं मुख है।

उत्तर- (द)

20. ‘रावण सिर सरोज बनचारी।

चलि रघुवीर सिली-मुख धारी।‘ सिली- मुख में अलंकार है,

(अ) श्लेष (ब) लाटानप्रास (स) वृत्यनुप्रास (द) उपमा

उत्तर-(अ)