यहूदी धर्म का इतिहास क्या है ? किसकी पूजा करते हैं , यहूदियों का पूजा स्थल क्या कहलाता है Judaism in hindi

By   April 21, 2022
सब्सक्राइब करे youtube चैनल

Judaism in hindi history यहूदी धर्म का इतिहास क्या है ? किसकी पूजा करते हैं , यहूदियों का पूजा स्थल क्या कहलाता है ?

यहूदी धर्म
यह प्राचीनतम धर्मों में से एक होने के बावजूद सबसे अधिक सताया गया धर्म है। इस धर्म के अनुयायियों को यहूदी कहा जाता है। कई साम्राज्यों ने इन्हें लक्षित कर उत्पीड़न का शिकार बनाया था। सबसे निकृष्टतम उदाहरण हिटलर का है, जिसने जर्मनी में लाखों यहूदियों को मार डाला या उन्हें यातनाएं दी। यह भी एक ईश्वर में विश्वास रखने वाला एकेश्वरवादी धर्म है। उनका धर्म ईसाई धर्म तथा इस्लाम के पूर्व का है, वस्तुतः इन दोनों धर्मों में बहुत कुछ यहूदी दर्शन से लिया गया है।
यहूदी अब्राहम के द्वारा प्रचलित यहोवा या एक सत्य ईश्वर में विश्वास करते हैं।
उनके पवित्र ग्रन्थ को ‘‘तोरा’’ कहा जाता है। यह बाईबिल के ओल्ड टेस्टामेंट भाग से सबंधित पहली पांच किताबों में से एक है। इनके अलावा, कानूनी तथा आचार संबंधी लेखन तथा संक्षिप्त यहूदी इतिहास को ताल्मुद कहा जाता है। उनके पृथक् प्रार्थना कक्ष तथा साइनागाॅग्स ;आराधना स्थलद्ध होते हैं। वे ऐलियाहु या पैगम्बर एलिजा को धन्यवाद-आयोजन नामक धार्मिक अनुष्ठानों का पालन करते हैं।
इन कहानियों से हमें पता चलता है कि अब्राहम सभी पादरियों का पूर्वज था, तथा ईश्वर के निर्देशों का पालन करने वालों पर उनकी कृपा बरसेगी। इसके बेटे इसाक तथा पोते जैकब जिसे अड्डायल भी कहा जाता है, उन्हें भी ईश्वर का आशीर्वाद प्राप्त हुआ था। ईश्वर ने मूसा को धरती पर भेजा तथा उसे सिनाई पर्वत पर दस धर्मादेश दिए जिन्हें ‘‘सेफर तोराहोन’’ भी कहा जाता है। इसमें स्पष्ट किया गया है इजरायलियों (जैकब या अड्डायल के बच्चे रहे यहूदियों के लिए प्रयुक्त) को किस प्रकार जीवन बिताना चाहिए। जैकब के 12 बच्चे थे जो बेने इजरायल या ‘इजरायल के बच्चे’ नाम से चर्चित 12 जनजातियों के पूर्वज बन गए।
सेफर तोरा में 613 ज्ञान बोध हैं। ये बताते हैं कि पवित्र यहूदी जीवन किस प्रकार बिताया जा सकता है, तथा ये प्राचीन विधान के पहले पांच खण्डों की रचना करते हैं। प्रार्थना के दौरान, सभी यहूदी पुरुषों को सिसिथ या प्रार्थना के लिए प्रयुक्त दुशाले के धागे को पहनना पड़ता है। यहूदी फैसले के दिन में भी विश्वास करते हैं जब मसीहा पवित्र लोगों को स्वर्ग ले जाने तथा दुष्टों को नर्क भेजने आएगा। यहूदियों के तीन मुख्य धड़े हैंः
कट्टरपंथी वे सभी प्राचीन रिवाजों, धार्मिक रीतियों तथा परम्पराओं का पालन करते हैं।
परम्परावादी वे मध्य मार्ग का अनुसरण करते हैं, उदाहरण के लिए वे कुछ परम्परागत पहलुओं को ले कर रूढ़िवादी सोच रखते हैं किन्तु अन्य मामलों में उनका दृष्टिकोण उदार होता है।
सुधारवादी उन्होंने हाल के समय के अनुसार अपने धार्मिक समारोहों तथा रीतियों में परिवर्तन कर लिया है।

प्रथम यहूदी निवासी भारत के पश्चिमी तट पर आए। यद्यपि उनकी संख्या बहुत कम है, भारत में पांच मुख्य यहूदी समुदाय निवास करते हैं- मलयालम भाषी कोचिनी, तथा मराठी भाषी बेने इजरायल। तीसरा समूह बगदादी यहूदियों का है जो पश्चिम एशिया से व्यापारियों के रूप में आए तथा मुख्यतः मुंबई, पुणे तथा कोलकाता के आस-पास बस गए।
चतुर्थ समूह बेने मेनाश या मणिपुरी यहूदियों का है। वे यहूदियों की 10 खोई हुई जनजातियों में से एक मेनाश या मेनासे जनजाति से अपनी वंशावली को सबंधित करते हैं। वे भारत तथा म्यांमार की सीमा पर निवास करते हैं तथा उनका दावा है कि उन्हें दास बना कर असिरियनों को बेच दिया गया था जहां से वे बच कर चीन भागने में सपफल रहे। वहाँ से आ कर वे भारत-म्यांमार सीमा पर बस गए। वे स्वयं को ‘मेनास्सेह के बच्चे’ या यीशू मसीह में विश्वास करने वाला मानते हैं। इन बेने मेराश में मिजो, कुकि एवं चिन जनजातियां सम्मिलित हैं। उनमें से अंतिम धड़ा बेने एफायम है, जो तेलुगू भाषी यहूदियों का लघु समूह है। उन्होंने 1980 के दशक में यहूदी धर्म अपना लिया था।

पिछले वर्षों के प्रश्न . प्रारंभिक परीक्षा
1. मध्यकालीन भारत के सांसकृतिक इतिहास के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः
1. तमिल क्षेत्रा के सिद्ध (सित्तर) एकेश्वरवादी थे तथा मूर्तिपूजा की निंदा करते थे।
2. कन्नड़ क्षेत्रा के लिंगायत पुनर्जन्म के सिद्धांत पर प्रश्न चिन्ह लगाते थे तथा जाति अधिक्रम को अस्वीकार करते थे।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) केवल 1 (ब) केवल 2
(स) 1 और 2 दोनों (द) न तो 1, न ही 2
2. निम्नलिखित राज्यों में से किनका संबंध बुद्ध के जीवन से था?
1. अवन्ती 2. गान्धार
3. कोसल 4. मगध
नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए।
(अ) 1, 2 और 3 (ब) केवल 2 और 3
(स) 1, 3 और 4 (द) केवल 3 और 4
3. प्राचीन भारतीय इतिहास के परिप्रेक्ष्य में, निम्नलिखित में से कौन-सा/से बौद्ध तथा जैन दोनों धर्मों में सामान था/थे?
(i) तपस्या तथा भोग दोनों की अति से बचना।
(ii) वेदों के प्रभाव से भिन्नता।
(iii) अनुष्ठानों की प्रभावोत्पादकता को अस्वीकृत करना।
नीचे दिए गए कूटों का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिएः
(अ) केवल (i) (ब) (ii) और (iii)
(स) (i) और (iii) (द) (i), (ii) और (iii)
4. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन ब्रह्म समाज के विषय में सत्य है/हैं?
(i) यह मूर्तिपूजा विरोधी है।
(ii) इसने धार्मिक ग्रंथों की व्याख्या के लिए पुरोहित वर्ग की आवश्यकता को नकारा।
(iii) इसने वेदों के अकाट्य होने के सिद्धांत को लोकप्रियता प्रदान की।
नीचे दिए गए कूटों का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिएः
(अ) केवल (i) (ब) (i) और (ii)
(ब) केवल (ii) (द) (i), (ii) और (iii)
5. ‘धर्म’ तथा ‘परम्परा’ भारत की प्राचीन वैदिक सभ्यता के मुख्य विचार का चित्राण करते हैं। इस सन्दर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
(i) ‘धर्म’ व्यक्ति के दायित्वों तथा स्वयं और अन्यों के प्रति अपने कर्तव्यों के निर्वहन की अवधारणा है।
(ii) ‘ऋत’ ब्रह्मांड तथा इसमें समाहित सभी वस्तुओं की कार्य-प्रणाली को नियंत्रित करने वाला एक आधारभूत नैतिक नियम था।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) केवल (i) (ब) केवल (ii)
(स) (i) और (ii) दोनो (द) न तो (i) न ही (ii)
6. अनेकान्तवाद निम्नलिखित में से किस धर्म का मूल सिद्धांत तथा दर्शन है?
(अ) बौद्ध धर्म (ब) जैन धर्म
(स) सिक्ख धर्म (द) वैष्णववाद
7. निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
i आर्य समाज की स्थापना 1835 में हुई।
ii लाला लाजपत राय ने सामाजिक सुधार कार्यक्रम के समर्थन में वेदों की अनिवार्यता के संबंध में आर्य समाज की अपील का विरोध किया।
iii केशव चन्द्र सेन के नेतृत्व में ब्रह्म समाज ने महिलाओं की शिक्षा का अभियान संचालित किया।
iv विनोबा भावे ने शरणार्थियों के बीच कार्य करने के लिए सर्वोदय समाज की स्थापना की।
इन कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) (i) और (ii) (ब) (ii) और (iii)
(स) (ii) और (iv) (द) (iii) और (iv)
उत्तर
1. (स) 2. (द) 3. (ब) 4. (ब)
5. (स) 6. (ब) 7. (द)
अभ्यास प्रश्न . प्रारंभिक परीक्षा
1. हिन्दू धर्म के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
i वैदिक युग में, धार्मिक यज्ञ तथा बलिदान कार्य मुक्ताकाश के नीचे संपादित किए जाते थे।
ii उपनिषदों के अनुसार, वानप्रस्थ किसी व्यक्ति के जीवन का अंतिम चरण है।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) केवल (i) (ब) केवल (ii)
(ब) (i) और (ii) दोनों (द) न तो (i), न ही (ii)
2. जीवन की निम्नलिखित अवस्थाओं पर विचार करेंः
i गृहस्थ
ii ब्रह्मचर्य
iii वानप्रस्थ
iv संन्यास
इनका एक व्यक्ति के जीवन में क्रम क्या होता है?
(अ) (i) – (ii) – (iii) – (iv) (ब) (ii) – (i) – (iii) – (iv)
(स) (ii) – (i) – (iv) – (iii) (द) (iii) – (ii) – (प) – (iv)
3. निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
(i) उत्तर भारत में शैव मत के समर्थक नयनार कहे जाते हैं।
(ii) दक्षिण भारत के वैष्णवों को अलवार कहा जाता है।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से सही है/हैं??
(अ) केवल (i) (ब) केवल (ii)
(स) (i) और (ii) दोनों (द) न तो (i), न ही (ii)
4. ब्रहम समाज की स्थापना निम्नलिखित ने की थी ?
(अ) दयानंद सरस्वती (ब) केशवचंद्र सेन
(स) स्वामी विवेकानंद (द) राजा राममोहन राय
5. निम्नलिखित में से कौन जैन धर्म के 24 तीर्थंकरों में से नहीं हैं?
(अ) अभिनन्दन (ब) शान्ति
(स) आनंद (द) पाश्र्व
6. जैन धर्म के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
(i) दिगम्बरों का मानना है कि महिलाएं भी तीर्थंकर बन सकती हैं।
(ii) श्वेताम्बर संन्यासी अपने पथ से कीड़े-मकोड़ों को हटाने के लिए ब्रश का प्रयोग करते थे।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) केवल (i) (ब) केवल (ii)
(स) (i) और (ii) दोनो (द) न तो (i), न ही (ii)
7. निम्न में से कौन-सी बौद्ध धर्म के तीन मुख्य सारों में से नहीं है?
(अ) विनय पिटक (ब) सुत्त पिटक
(स) त्रि-पिटक (द) अभिधम्म पिटक
8. निम्नलिखित सिद्धांतों पर विचार करेंः
(i) अहिंसा (ii) सत्य
(iii) अस्तेय (iv) अपरिग्रह
(v) ब्रह्मचर्य
उपर्युक्त में से किनका पालन जैन धर्म में किया जाता है?
(अ) (i), (ii) और (iii) (ब) (i) और (ii)
(स) (i), (iii) और (iv) (द) (i), (ii), (iv) और (v)
9. बौद्ध धर्म के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार करेंः
(प) हीनयान पंथ बुद्ध की मूर्ति पूजा में विश्वास करता था।
(पप) महायान पंथ निर्वाण की बोधिसत्व अवधारणा का अनुसरण करता है।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(अ) केवल (प) (ब) केवल (पप)
(स) (प) और (पप) दोनों (द) न तो (प) न ही (पप)
10. मंदिरों की अवधारणा निम्नलिखित से संबंधित हैः
(अ) हिन्दू धर्म (ब) पारसी धर्म
(स) यहूदी धर्म (द) जैन धर्म
उत्तर
1. (अ) 2. (ब) 3. (ब) 4. (द) 5. (स)
6. (ब) 7. (स) 8. (द) 9. (ब) 10. (ब)

पिछले वर्षों के प्रश्न . मुख्य परीक्षा
2012
1. पारसी धर्म में अग्नि के महत्व पर टिप्पणी करें।
2008
2. बोधिसत्व के संबंध में लिखें।
2007
3. लिंगायत समुदाय के संबंध में लिखें।
2005
4. सुत्त पिटक पर विचार प्रस्तुत करें।
अभ्यास प्रश्न . मुख्य परीक्षा
1. उपनिषदों में प्रस्तावित मानव जीवन की चार अवस्थाओं के बारे में चर्चा करें।
2. धार्मिक सुधार लाने में ब्रह्मो आन्दोलन के प्रभाव की संक्षिप्त चर्चा करे।
3. बौद्ध तथा जैन धर्मों के बीच दार्शनिक अंतर क्या हैं?
4. बौद्ध धर्म के हीनयान तथा महायान सम्प्रदाय के आदर्शों के बीच भेद स्थापित करें।
5. दिगम्बरों की मान्यताएं स्वेताम्बरों की मान्यताओं से अधिक कठोर थीं। इस कथन की आलोचनात्मक परीक्षण करें।