Input or Output Operation : getchar ( ) , Putchar , Scanf function , printf () in hindi in c language

By  
getchar ( ) , Putchar , Scanf function , printf () in hindi in c language क्या है हिंदी में c भाषा में जाने |
Input or Output Operation : किसी C प्रोग्राम मे तीन operation मुख्य होते है :-(i) Reading (ii) Processing(iii) Writing .और इस article मे हम C प्रोग्राम के input और आउटपुट commands को स्टडी करेगे |

किसी ब्व्ही कंप्यूटर language मे,दो तरीके से data को input करा सकता है |
(1) Assigment Operator
(2)Scan function
सभी higher level कंप्यूटर language की तरह C language मे, input और output statement को प्रोग्रामर नहीं बना सकता है | इसके लिए Pre define function को call करना पड़ता है |Print function और स्कैन function standard input output library मे store होता है  |
किसी data को read और write करने के लिए निम्न function को यूज़ किया जाता है :-

1. getchar ( )

किसी भी character को पढने  के लिए scanf के अलावा getchar() का use किया जाता है |इसकी header file stdio.h होती है|इसका syntax है :-
variable name = getchar();
variable name का datatype char होना चाहिए |जब ये syntax run होगा ,तब कंप्यूटर तब तक wait करेगा जब तक कोई key press नहीं होती है |जब कोई key press होगी तब कोम्प्लिएर यूजर द्वारा दिए गये charter को getchar() को assign कर देगा |
उदहारण के लिए :
#include <conio.h>
#include <Stdio.h>
void main ()
{
char variable_name ;
printf(“Please enter charter”);
variable_name=getchar();
printf(“%c”,variable_name);
getch();
}
आउटपुट होगा :-
Please enter charter G
G

2.Putchar ()

putchar() का उपयोग किसी charter को console screen या file मे रखने या डिस्प्ले के लिए किया जाता है |इसकी header file भी stdio.h है |इसका syntax है :-
putchar( variable name);
इसमें variable_name उस variable का नाम है जिसमे data store है |
उदहारण के लिए:
#include <conio.h>
#include <Stdio.h>
void main ()
{
char variable_name ;
printf(“Please enter charter”);
variable_name=getchar();
putchar (variable_name);
getch();
}
 
आउटपुट होगा :
Please enter charter P
P

3. Scanf function :

Scanf () function को हम पहले भी basic methodology of c languag मे पढ़ चुके है | किन्तु अभी हम कुछ advance methodology के बारे मे पढेगे| Scanf का syntax है :-
scanf(“data type identifier”, address of variable);
अगेर प्रोग्रामर character data को a variable के address पर सेव करना चाहता है तब scanf() statement होगा :-
scanf(“%c”,&a);
यहा पर %c charter का data identifier है और &a  का मतलब है variable a का address |
 
जब किसी प्रोग्राम मे एक से अधिक data को Read करना है तब उसका syntax होगा :-
scanf(“date type identifier 1 date type identifier 2 ………”,addressr of variables);
अगर प्रोग्रामर दो datas (integer type) और (float type) को variable a और b के address पर store करना चाहता है तब:
scanf(” %d %f”,&a,&b) ;
इसमें %d और %f integer और float data type के data indentifier है |और &a और &b ,a और b के address है |
 
Data identifier की लिस्ट निम्न है :-
S.No
Data
Indentifier
Datatype
1
%d
Integer
2
%c
Character
3
%e
Floating Value
In Exponation
4
%f
Floating Value
5
%h
Short Integer
6
%i
Octal,Hexdecimal
Integer
7
%o
Octal Integer
8
%s
String
9
%u
Unsigned
Integer
10
%x
Hexa Decimal

4. Format Input :

C प्रोग्राम मे data को formatting की सुविधा है |इसमें scanf function से ,प्रोग्रामर ये देसिड़े कर सकता है की c complier कितने डिजिट (Number) या charterer( String) करेगे |इसका syntax है :-
integer के लिए :
scanf(“% width d”,address);
width: डिजिट की सख्या जिसे complier read करेगे |
float के लिए:
scanf(“%width f”,address);
width : डिजिट की सख्या जो decimal के बाद read होगी |
उदहारण के लिए :
#include <conio.h>
#include<stdio.h>
void main ()
{
float a,b;
int c,d;
pritnf(“Please Enter four numbers”);
scanf(“%2d %4d %7f %6f”,&c,&d,&a,&b);
printf(“Integer 1=%d”,c);
printf(“Integer 2=%d”,d);
printf(“Decimal 1=%f”,a);
printf(“Decimal 2=%f”,b);
}
आउटपुट होगा :
Please Enter four numbers 2589 3456 123.98765443 5.897
Integer 1 = 25
Integer 2 = 3456
Decimal 1=123.9876544
Decimal 2=5.897000
इस उदहारण मे , पहले integer की width 2 होने के कारण कंप्यूटर कवेल दो हो डिजिट को read कर पाया |
दूसरा integer की width 4 है इसलिए ये 4 डिजिट को read करेगा |
पहले float मे , decimal के बाद 7 डिजिट को read करेगा तभी 7 digits read ही होगा |
दुसरे float मे , width मे 6 है और डेसीमल के बाद डिजिट 3 है इसलिए  इसमें तीन जीरो आ जाते है |

printf ()

printf () function मे data formating scanf () function की तरह होता है |इसका उदहारण  है|
#include <conio.h>
#include<stdio.h>
void main ()
{
float a,b;
int c,d;
pritnf(“Please Enter four numbers”);
scanf(“%d %d %f %f”,&c,&d,&a,&b);
printf(“Integer 1=%2d”,c);
printf(“Integer 2=%4d”,d);
printf(“Decimal 1=%5f”,a);
printf(“Decimal 2=%7f”,b);
}
आउटपुट होगा :
Please Enter four numbers 25 49 145.846572 8956.647326145629047
Integer 1 = 25
Integer 2 = 4900
Decimal 1=145.84657
Decimal 2=8956.6473261