विधायिका को किस प्रकार की सरकार में कार्यपालिका से अधिक प्राथमिकता मिलती है ? In which type of government does the legislature get more priority than the executive in hindi

By   June 27, 2021

In which type of government does the legislature get more priority than the executive in hindi विधायिका को किस प्रकार की सरकार में कार्यपालिका से अधिक प्राथमिकता मिलती है ?

प्रश्न 1. विधायिका को किस प्रकार की सरकार में कार्यपालिका से अधिक प्राथमिकता मिलती है?
(अ) संसदीय सरकार (ब) संघीय सरकार
(स) राष्ट्रपति सरकार (द)अधिकारवादी सरकार
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
विधायिका (व्यवस्थापिका) को संसदीय सरकार में कार्यपालिका से अधिक प्राथमिकता मिलती है। शासन के तीन अंग व्यवस्थापिका, कार्यपालिका एवं न्यायपालिका हैं। व्यवस्थापिका देश के लिए कानून बनाती है, कार्यपालिका उन कानूनों को लागू करती है तथा न्यायपालिका लोकतंत्रीय व्यवहार नियमों के अनुसार न्याय दिलाती है। संसदीय शासन प्रणाली में व्यवस्थापिका का कार्यपालिका पर प्रत्यक्ष नियंत्रण होता है और मंत्रिमंडल व्यवस्थापिका के प्रति उत्तरदायी रहती है। ऐसी शासन प्रणाली में व्यवस्थापिका का स्थान सरकार के अन्य विभागों से उच्च होता है।
2. स्वतंत्र भारत की लोक सभा का पहला अध्यक्ष कौन था?
(अ) हुकम सिंह (ब) बलिराम भगत
(स) रवि राय (द) जी. वी. मावलंकर
S.S.C.C.P.O  परीक्षा, 2006
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
स्वतंत्रता के उपरांत भारत की प्रथम निर्वाचित लोक सभा के पहले अध्यक्ष गणेश वासुदेव मावलंकर थे। उनका कार्यकाल 15 मई, 1952 से 27 फरवरी, 1956 के मध्य था। वे 17 नवंबर, 1947 से संविधान सभा एवं तदनुसार 26 नवंबर, 1949 से अंतरिम संसद के भी अध्यक्ष रहे थे।
3. लोक सभा के प्रथम अध्यक्ष थे-
(अ) जी.वी. मावलंकर (ब) एन.संजीवा रेड्डी
(स) डॉ.एस.पी.मुखर्जी (द) बी.आर.अंबेडकर
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
4. लोक सभा के प्रथम अध्यक्ष कौन थे?
(अ) के.एस.हेगड़े
(ब) हुकुम सिंह
(स) गणेश वासुदेव मावलंकर
(द) नीलम संजीवा रेड्डी
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
5. भारतीय संविधान के अनुसार, संसद के दोनों सदनों का अधिवेशन एक वर्ष में कम-से-कम कितनी बार बुलाना जरूरी है?
(अ) चार बार (ब) तीन बार
(स) दो बार (द) एक बार
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
सामान्यतया प्रतिवर्ष संसद के तीन अधिवेशन होते हैं यथा बजट अधिवेशन (फरवरी-मई), वर्षाकालीन अधिवेशन (जुलाई-सितंबर) और शीतकालीन अधिवेशन (नवंबर-दिसंबर)। हालांकि राज्य समा के संबंध में बजट अधिवेशन को दो अधिवेशनों में विभाजित कर दिया जाता है। किसी एक वर्ष में दो अधिवेशन होने आवश्यक हैं क्योंकि प्रत्येक अधिवेशन की अंतिम तिथि के बाद राष्ट्रपति को 6 माह के भीतर आगामी अधिवेशन के लिए सदनों की बैठक के लिए आमंत्रित करना होता है।
6. संसद के किसी सदन के दो सत्रों के बीच अंतराल किससे अधिक नहीं होना चाहिए?
(अ) तीन महीने (ब) छः महीने
(स) नौ महीने (द) बारह महीने
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
7. किसी विधानमंडल के किसी सदस्य द्वारा प्रस्तुत प्रस्ताव का जनमहत्त्व का अविलंब मामला मानते हुए जो चर्चा का जा है, उसे क्या कहते हैं?
(अ) स्थगन प्रस्ताव (ब) अविश्वास प्रस्ताव
(स) कटौती प्रस्ताव (द) उपरोक्त में से कोई नहीं
S.S.C.Tax Asst.  परीक्षा, 2007
उत्तर-(अ)
किसी विधानमंडल के किसी सदस्य द्वारा प्रस्तुुत प्रस्ताव को जनमहत्व का अविलंब मामला मानते हुऐं जो चर्चा होती है उसे ‘स्थागन प्रस्ताव‘ कहा जाता है। यह एक असाधारण प्रक्रिया है जिसके गृहीत किए जाने पर सदन का नियमित कार्य रोक दिया जाता है।
39. निम्न में से कौन-सा संसद से संबंधित नही है?
(अ) आमुख (ब) स्थागन
(स) भंग करना (द) बर्खास्त करना
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
आमुख, स्थागन और भंग करना संसद से संबंधित शब्दावलियां है जबकि बर्खास्त करना संसद से संबंधित नही है।
40. यदि संसद किसी विशिष्ट उदे्दश्य के लिए कोई समिति नियुक्त करें, तो उसे कहते है-
(अ) आमुख (ब) स्थागन
(स) भंग करना (द) बर्खास्त करना
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
तदर्थ समिति (Ad-hoc Committee) किसी विशिष्ट उद्देश्य के लिए नियुक्त की जाती है और जब वह अपना काम समाप्त कर लेती है तथा अपना प्रतिवेदन प्रस्तुुत कर देती है तब उसका अस्तित्व समाप्त हो जाता है।
41. मत्रिपरिषद में शामिल नहीं है।
(अ) कैडिनेट मंत्री (ब) राज्य मंत्री
(स) कैबिनेट सचिव (द) बिना विभाग के मंत्री
S.S.C.Tax Asst.  परीक्षा, 2008
उत्तर -(स)
मंत्रीपरिषद में कैबिनेट सचिव को शामिल नहीं किया जाता है जबकि केबिनेट मंत्री राज्य मंत्री और बिना विभाग के मंत्री मंत्रीपरिषद का अंग होते हैं। अनुच्छेद 74(1) में मंत्रिपरिषद का उल्लेख किया गया है जिसके अनुसार राष्ट्रपति को उसके कार्य संचालन में सहायता के लिए एक मंत्रिपरिषद होगी जिसका अध्यक्ष प्रधानमंत्री होगा। आमतौर पर सरकार से तात्पर्य मंत्रिपरिषद से ही होता है।
42. संसद में अविश्वास प्रस्ताव के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा सही है?
1. संविधान में इसका कोई उल्लेख नहीं है।
2. एक ‘अविश्वास प्रस्ताव‘ के बाद दूसरा ‘अविश्वास प्रस्ताव‘ प्रस्तुत करने के लिए छः माह की अवधि अवश्य होनी चाहिए।
3. सदन में प्रस्तुत करने से पहले कम से कम 100 व्यक्ति उस प्रस्ताव का समर्थन अवश्य करें।
4. वह केवल लोक सभा में प्रस्तुत किया जा सकता है।
(अ) 2 और 4 (ब) 1,2,3 और 4
(स) 1,2 और 3 (द) 1 और 4
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2009
उत्तर-(द)
भारतीय संविधान में अनु. 75 (3) के तहत मंत्रीपरिषद को लोेक सभा के प्रति सामूहिक रूप से उत्तरदायी बताया गया है परंतु संविधान में विश्वास प्रस्ताव या अविश्वास प्रस्ताव का कोई उल्लेख नहीं है। अनु. 118 के तहत संसद के प्रत्येक सदन को अपनी कार्य प्रक्रिया के संचालन संबंधी नियम बनाने की स्वीकृति दी गई है, तदनुसार, लोक सभा के नियम 100 में मंत्रीपरिषद के प्रति अविश्वास प्रस्तावको प्रक्रिया का वर्णन है जिसके अनुसार, किसी भी सदस्य की लिखित नोटिस एवं 50 सदस्यों द्वारा सदन में उसका समर्थन करने पर 10 दिनों के भीतर लोक सभा अध्यक्ष द्वारा निशारित तिथि पर लोक सभा के पटल पर अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाता है अविश्वास प्रस्ताव एक सत्र में एक ही बार लाया जा सकता है और अगले सत्र में पुन अविश्वास प्रस्ताव पस्तुत किया जा सकता है परंतु दो अविश्वास प्रस्तावों के मध्य का समय दोनों सत्रों के मध्य अंतराल पर निर्भर करेगा। मंत्रीपरिषद के लोक सभा के प्रति ही उत्तरदायी होने के कारण अविश्वास प्रस्ताव केवल लोक सभा में ही प्रस्तुत किया जा सकता है।
43. केंद्रीय मंत्रिपरिषद के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव कहाँ प्रस्तुत किया जा सकता है?
(अ) केवल राज्य सभा में
(ब केवल लोक सभा में
(स) लोक सभा और राज्य सभा दोनों में
(द) राज्यों की विधान सभामों में
S.S.C. (डाटा एंट्री ऑपरेटर) परीक्षा 2008
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखो
44. एक वर्ष तक राजस्व एकत्र करने का प्रस्ताव सरकार किस विधेयक द्वारा करती है?
(अ) आर्थिक विधेयक (ब) चित विशेषक
(स) अनुपूरक विधेयक (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
S.S.C.Section off. परीक्षा 2007
उत्तर-(ब)
एक वर्ष तक राजस्व एकत्र करने का प्रस्ताव सरकार वित्त विधेयक के द्वारा करती है। अनु. 112 के अंतर्गत ‘वार्षिक वित्तीय विवरण‘ संबंधी उपबंध दिए गए हैं जिसे ‘बजट‘ (सामान्य बजट) नाम से भी संबोधित किया जाता है तथा इसमें एक वित्तीय वर्ष (1 अप्रैल-31 मार्च) के लिए अनुमानित प्राप्तियां और व्यय दर्शाए जाते हैं।
45. भारतीय संसद राज्य के किसी विषय पर कानून बनाने के लिए सक्षम है, यदि-
(अ) अनुच्छेद 352 के अंतर्गत आपात स्थिति लागू हो।
(ब) देश के दो या अधिक राज्यों की विधान सभाएं इसका अनुरोध
करें।
(स) राष्ट्रपति इस आशय का संदेश संसद को भेजे।
(द) (अ) एवं (ब) दोनों
S.S.C.Section off. परीक्षा, 2007
उत्तर-(द)
भारतीय संसद संविधान के अनुच्छेद 250 के अधीन समूचे भारत या उसके किसी भाग के लिए राज्य सूची में शामिल किसी मद के लिए विधियां बना सकती है यदि अनुच्छेद 352 के अंतर्गत देश में आपात स्थिति लागू हो। साथ ही अनु. 249 के तहत राज्य सभा के दो-तिहाई बहुमत द्वारा राष्ट्र हित में ऐसा आवश्यक बताए जाने पर, अनु. 252 के तहत दो या अधिक राज्यों के अनुरोध पर उन राज्यों के संदर्भ में तथा अनु. 253 के तहत अंतर्राष्ट्रीय संधियों के अनुपालन के क्रम में संसद द्वारा राज्य सूची के किसी भी विषय पर कानून बनाया जा सकता है।
46. भारत के संविधान की कौन-सी अनुसूची, राज्य सभा में सीटों के बंटवारे का निर्धारण करती है?
(अ) तीसरी अनुसूची (ब) चैथी अनुसूची
(स) पांचवीं अनुसूची (द) छठीं अनुसूची
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
भारत के संविधान की चैथी अनुसूची राज्य सभा में सीटों के बंटवारे का निर्धारण करती है। तीसरी अनुसूची में ‘शपथ‘ पांचवीं अनुसूची में ‘अनुसूचित क्षेत्रों और अनुसूचित जनजातियों के प्रशासन एवं नियंत्रण के बारे में उपबंध‘ एवं छठीं अनुसूची में ‘असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम राज्य के जनजाति क्षेत्रों के प्रशासन‘ के बारे में उपबंध हैं।
47. किस सदन में अध्यक्ष उस सदन का सदस्य नहीं होता?
(अ) लोक सभा (ब) राज्य सभा
(स) विधान सभा (द) विधान परिषद
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
राज्य सभा का अध्यक्ष राज्य सभा का सदस्य नहीं होता है। भारत का उपराष्ट्रपति राज्य सभा का पदेन सभापति होता है, जिसका वर्णन संविधान के अनुच्छेद 89 (1) में किया गया है।
48. भारतीय संसद की सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता है कि-
(अ) यह भारत में संघ विधानमंडल है
(ब) इसमें राष्ट्रपति भी शामिल है
(स) यह द्विसदनी स्वरूप की है
(द) संसद का ऊपरी सदन कभी भंग नहीं होता
S.S.C.Tax Asst.  परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
अनु. 79 संसद के गठन संबंधी प्रावधान करता है जिसके अनुसार भारतीय संसद लोक सभा, राज्य सभा और राष्ट्रपति से मिलकर बनी है जो इसकी सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता है। अन्य अधिकांश देशों की संसदीय व्यवस्था में राष्ट्रपति या राज्याध्यक्ष संसद से पृथक होता है।