13 वें वर्ग के तत्व , कौनसे है , इलेक्ट्रॉनिक विन्यास , गुण , आवर्त सारणी में वर्ग 13 के तत्व (group 13th elements in hindi)

By  
(group 13th elements in hindi) 13 वें वर्ग के तत्व , कौनसे है , इलेक्ट्रॉनिक विन्यास , गुण , आवर्त सारणी में वर्ग 13 के तत्व : हम जानते है कि p ब्लॉक के तत्वों में 13 से लेकर 18 ग्रुप के तत्व शामिल है इसलिए 13 वें वर्ग के तत्व p ब्लाक के प्रथम ग्रुप के तत्व कहे जा सकते है।

आवर्त सारणी के 13 वे वर्ग में बोरोन (B), एल्युमिनियम (Al), गैलियम (Ga), इंडियम (In) और थैलियम (Tl) को शामिल किया जाता है।
इस ग्रुप में बोरोन एक मात्र उपधातु को शामिल किया गया है , बाकी तत्व धातु के रूप में होती है तथा गेलियम लगभग 30 डिग्री सेल्सियस ताप पर द्रव अवस्था में पायी जाती है।
13 वें ग्रुप के तत्वों की संयोजकता कोश का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns2np1 होता है। इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के आधार पर हम बता सकते है कि इस ग्रुप के तत्वों के आखिरी कोश में  बाह्यतम कोश में तीन इलेक्ट्रॉन होते है जो S और p कक्षक में भरे जाते है।
13 वें वर्ग के तत्वों में कुछ विशेष गुण पाए जाते है जो इन्हें अन्य वर्ग के तत्वों से भिन्न करते है और इन गुणों के कारण ही इन तत्वों को 13th ग्रुप में डाला जाता है।

13 वें वर्ग के तत्वों के गुण

यहाँ हम 13 वें वर्ग में शामिल तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुणों का अध्ययन करते है जो निम्न होते है –
इस वर्ग में B , Al , Ga , In व Tl आदि तत्व आते है जिनका क्रम निम्न होता है –
  • जब ग्रुप में ऊपर से नीचे चला जाए तो तत्वों की परमाण्विक त्रिज्या और घनत्व का मान बढ़ता जाता है , इसलिए हम कह सकते है कि थैलियम की परमाणु त्रिज्या सबसे अधिक होती है और इसका घनत्व भी सबसे अधिक होता है।
अपवाद : एल्युमिनियम की परमाण्विक त्रिज्या गैलियम से अधिक होती है , इसका कारण परिरक्षण प्रभाव या डी-ऑर्बिटल इलेक्ट्रॉन होता है।
  • ऊपर से निचे जाने पर तत्वों की प्रथम आयनन ऊर्जा कम होती जाती है , थैलियम तत्व को छोड़कर।
  • इस ग्रुप के तत्वों में ऊपर से नीचे जाने पर क्वथनांक का मान कम होता जाता है।
  • ग्रुप में वैद्युतीयऋणात्मकता (विद्युत ऋणता) का मान बोरोन से लेकर एल्युमिनियम तक घटता है और उसके बाद बढ़ता है।
  • बोरोन से लेकर एल्युमिनियम तक जाने पर प्रथम तीन आयनिक एनथैल्पी का योग घटता है लेकिन उसके बाद आयनिक एन्थैल्पी का मान बढ़ता जाता है।
  • बोरोन और एल्युमिनियम तत्व उच्च ताप पर ऑक्सीजन से क्रिया करके ऑक्साइड बनाते है और इसी प्रकार उच्च ताप पर ही नाइट्रोजन से क्रिया करके नाइट्राइड बना लेते है।
  • सामान्य ताप पर बोरोन अम्ल और क्षार के साथ क्रिया नही करता है जबकि एल्युमिनियम तत्व अम्ल और क्षार दोनों के साथ क्रिया कर लेता है।

13 वें वर्ग के तत्वों के उपयोग

  • बोरोन तत्व का उपयोग बोरेक्स के रूप में हमारे घरो आदि में सफाई आदि के सामान बनाने के लिए किया जाता है। बोरेक्स का सूत्र Na2B4O7.10H2O होता है।
  • एल्युमिनियम का उपयोग हवाई जहाज बनाने में , पाइप , ट्यूब , एल्युमिनियम पन्नी , विद्युत धारा संचरण के लिए तार आदि में किया जाता है।
  • लिथियम एल्यूमीनियम हाइड्राइड (LiAlH4) और सोडियम बोरहाइड्राइड (NaBH4) को आर्गेनिक रसायन के अन्दर अच्छे अपचायक कारको के रूप में उपयोग किया जाता है।