जेंटलमैन एग्रीमेंट किसके मध्य हुआ | जेन्टलमेन्स एग्रीमेंट क्या है किसे कहते है gentleman agreement definition in hindi

By   February 4, 2021

gentleman agreement definition in hindi meaning जेंटलमैन एग्रीमेंट किसके मध्य हुआ | जेन्टलमेन्स एग्रीमेंट क्या है किसे कहते है ? in rajasthan in which year started ?

प्रश्न : जेन्टिलमेन्स एग्रीमेन्ट ?

उत्तर : यह 1942 ईस्वीं की क्रान्ति के समय जयपुर प्रजामण्डल के नेता हीरालाल शास्त्री और जयपुर के प्रधानमंत्री मिर्जा इस्माइल के मध्य हुआ समझौता था। जिसके अनुसार राज्य सरकार भविष्य में अंग्रेजों की मदद नहीं करेगी और राज्य में उत्तरदायी शासन की शीघ्र स्थापना की जाएगी। दूसरी तरफ प्रजामण्डल महाराज के विरुद्ध सीधी कार्यवाही नहीं करेगा। यह समझौता भारत छोड़ों आन्दोलन की मूल भावना के विपरीत था। शास्त्रीजी द्वारा महाराजा के विरुद्ध आन्दोलन छेड़ने का विचार त्याग दिया गया जिसकी सर्वत्र आलोचना हुई। अन्य नेताओं ने इसके विरुद्ध आजाद मोर्चा खड़ा करके आंदोलन छेड़ा।

प्रश्न : ‘राजस्थान यूनियन’ ?

उत्तर : मेवाड़ महाराणा भूपालसिंह ने छोटे बड़े राज्यों को मिलाकर एक बड़ी इकाई “राजस्थान यूनियन” बनाने के उद्देश्य से 25-26 जून , 1946 को उदयपुर में राजाओं का सम्मेलन आयोजित किया। इस सम्मेलन में राजस्थान के समस्त राजाओं ने और मालवा तथा गुजरात के अनेक शासकों और उनके प्रतिनिधियों ने भाग लिया। महाराणा भूपालसिंह ने उपस्थित राजाओं से अपील की , वे सभी मिलकर ‘राजस्थान यूनियन’ का गठन करे ताकि भारतीय संघ में वे एक इकाई के रूप में सम्मिलित होकर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके।

शासकों ने महाराणा की इस योजना पर विचार करने का आश्वासन दिया। जयपुर , बीकानेर और जोधपुर रियासतों को छोड़कर शेष रियासतों ने राजस्थान यूनियन के निर्माण को सिद्धान्तत: स्वीकार कर लिया तथा संविधान निर्माण के लिए समिति भी गठित कर दी गयी , परन्तु इसका भी कोई सुपरिणाम नहीं निकला।

प्रश्न : ‘राजपूताना संघ’ ?

उत्तर : मेवाड़ द्वारा राजस्थान यूनियन बनाने के असफल प्रयासों के बाद जयपुर महाराजा सवाई मानसिंह द्वितीय ने इस सन्दर्भ में प्रयास किये। जयपुर के प्रधानमंत्री बी.टी. कृष्णाचारी के सुझावोनुसार राजस्थान के राजाओं का जयपुर में एक सम्मेलन बुलाया गया। सम्मेलन में यह प्रस्ताव रखा कि उच्च न्यायालय , उच्च शिक्षा , पुलिस आदि विषय संघ के नियंत्रण में रहे और शेष मामले राज्यों के पास रहे। यदि इस शर्त पर सहमति न हो तो छोटे राज्यों को अपने पडौस के बड़े राज्यों के साथ मिल जाना चाहिए। अंततः यह सम्मेलन भी सफल नहीं हो सका।

प्रश्न : ‘हाड़ौती संघ’ ?

उत्तर : कोटा महाराव भीमसिंह कोटा , बूंदी तथा झालावाड राज्यों को मिलाकर एक ‘वृहत्तर कोटा’ राज्य के निर्माण में लग गया। लेकिन पारस्परिक अविश्वास , इर्ष्या और अपना पृथक अस्तित्व बनाये रखने की महत्वाकांक्षा के कारण ‘हाडौती संघ’ अस्तित्व में नहीं हो सका।

प्रश्न : ‘बागड़ संघ’ ?

उत्तर : डूंगरपुर महारावल लक्ष्मणसिंह ‘वृहत्तर डूंगरपुर’ का निर्माण करना चाहता था। उसने डूंगरपुर , बाँसवाड़ा , कुशलगढ़ , लावा तथा प्रतापगढ़ के राज्यों को मिलाकर ‘बागड़ संघ’ का निर्माण करना का प्रयास किया। मगर महारावल लक्ष्मणसिंह को भी अपने प्रयासों में सफलता नहीं मिली।

प्रश्न : मेवाड़ प्रजामण्डल ?

उत्तर : मेवाड़ प्रजामंडल की स्थापना बलवंत सिंह मेहता की अध्यक्षता में 1938 ईस्वीं में उदयपुर में हुई। जिसका प्रमुख उद्देश्य संवैधानिक अधिकारों और राज्य में उत्तरदायी शासन की स्थापना करना था। माणिक्यलाल वर्मा , भूरेलाल बयां आदि अनेक इसके प्रमुख सक्रीय कार्यकर्त्ता थे। जिन्होंने कठोर यातनाएँ सहते हुए प्रजामंडल के माध्यम से मेवाड़ में जनजागृति और राष्ट्रीय चेतना उत्पन्न की। प्रजामण्डल ने बेगार प्रथा समाप्ति , दलितोद्धार , नशाबंदी , शिक्षा प्रसार , जैसे अनेक सामाजिक सुधार और रचनात्मक कार्य किये। अंततः राज्य के नागरिक अधिकारों और उत्तरदायी शासन की स्थापना कर मेवाड़ (निरंकुश राजशाही का) का राजस्थान संघ में विलय करवाया। इस प्रकार देश को राजनैतिक एकता के सूत्र में बाँधने का महत्वपूर्ण कार्य किया।

राजस्थान में प्रजामंडल आन्दोलनों

 प्रजामंडल का नाम 

स्थापना वर्ष  

 गठनकर्ता  

अध्यक्षता  

प्रमुख नेता / उद्देश्य / कार्य / सहयोगी  

 1. जयपुर प्रजामंडल 

 1931 ईस्वीं 

1936 ईस्वीं

 जमनालाल बजाज 

जमनालाल बजाज 

 कपूर चन्द्र पाटनी 

चिरंजीलाल मिश्र 

 हीरालाल शास्त्री , जमनालाल बजाज |

हीरालाल शास्त्री , बाब हरिश्चन्द्र , टीकाराम पालीवाल , लादूराम जोशी , हंस डी. राय. पूर्णानन्द जोशी

 2. बूंदी प्रजामंडल 

बूंदी राज्य प्रजा परिषद् 

 1931 ईस्वी 

1937 ईस्वीं

 कांतिलाल 

ऋषिदत्त मेहता

 कांतिलाल 

हरीमोहन माथुर 

 नित्यानन्द सागर , गोपाललाल कोटिया , गोपाललाल जोशी , मोतीलाल अग्रवाल , पूनम चन्द्र 

बृज सुन्दर शर्मा 

 3. हाड़ौती प्रजामण्डल 

1934 ईस्वीं  

पं. नयनू राम शर्मा  

हाजी फैज मोहम्मद  

प्रभुलाल शर्मा , पं. अभिन्न हरि  

 4. मारवाड़ (जोधपुर) प्रजामण्डल 

1934 ईस्वीं  

जयनारायण व्यास  

भंवरलाल सर्राफ  

आनन्दराज सुराणा , मथुरादास माथुर , रणछोड़दास गट्टानी , इंद्रमल जैन , कन्हैयालाल मणिहार , चांदकरण शारदा , छगनलाल चौपसनीवाल , अभयमल मेहता  

 5. सिरोही प्रजामण्डल (बम्बई)

सिरोही प्रजामंडल 

1934 ईस्वीं  

1939 ईस्वीं 

वृद्धिशंकर शर्मा  

गोकुल भाई भट्ट 

भीमशंकर शर्मा 

गोकुल भाई भट्ट  

रामेश्वर दयाल , समथर्मल , भीमशंकर  

धर्मचन्द्र सुराणा , रामेश्वर दयाल , रूपराज , जीवनमल , घासीलाल , चौधरी , पूनमचन्द्र 

 6. बीकानेर राज्य प्रजामण्डल (कलकत्ता )

बीकानेर प्रजामंडल

बीकानेर राज्य परिषद्

1936 ईस्वीं  

1936 ईस्वीं 

1942 ईस्वीं 

 मछाराम वैद्य 

मछाराम वैद्य 

रघुवर दयाल गोयल 

मछाराम वैद्य  

मछाराम वैद्य 

रघुवर दयाल गोयल 

लक्ष्मणदास स्वामी और अन्य राजस्थानी प्रवासी 

लक्ष्मणदास स्वामी , रघुवरदयाल गोयल , बाबू मुक्ता प्रसाद , गंगाराम कौशिक  

लक्ष्मण दास स्वामी , रघुवरदयाल गोयल , बाबू मुक्ता प्रसाद , गंगाराम कौशिक 

 7. कोटा प्रजामण्डल 

1939 ईस्वीं  

पं. नयनूराम शर्मा  

पं. नयनूराम शर्मा  

पं. अभिन्न हरि , तनसुखलाल मित्तल , शम्भूदयाल सक्सेना , बेनी माधव प्रसाद  

 8. मारवाड़ लोक परिषद् (जोधपुर)

16 मई 1938 ईस्वीं 

  जयनारायण व्यास 

  रणछोड़दास गट्टानी

 आनन्दराज सुराणा तथा भंवरलाल सर्राफ , चाँदकरण शारदा , रणछोड़दास गट्टानी , मथुरादास माथुर , कन्हैयालाल मनिहार , इन्द्रमल जैन

 9. मेवाड़ प्रजामण्डल 

1938 ईस्वीं  

माणिक्यलाल वर्मा  

बलवंत सिंह मेहता  

माणिक्य लाल वर्मा , भूरेलाल बयां , भवानी शंकर वैद्य , जमनालाल वैद्य , परसराम , दयाशंकर श्रोत्रिय  

 10. अलवर प्रजामण्डल 

1938 ईस्वीं  

पं. हरि नारायण शर्मा  

पं. हरि नारायण शर्मा  

कुंजबिहारी मोदी , लक्ष्मणस्वरूप त्रिपाठी , इन्द्रसिंह आजाद , नत्थू राम मोदी , मंगलसिंह  

 11. भरतपुर प्रजामण्डल 

1938 ईस्वीं  

किशनलाल जोशी  

गोपीलाल यादव  

रेवती शरण शर्मा , मा. आदित्येन्द्र , ठा. देशराज , मोतीलाल यादव , लच्छीराम , मुहम्मद अली , कुञ्ज बिहारी मोदी , रमेश स्वामी , जुगल किशोर चतुर्वेदी . 

 12. शाहपुरा प्रजामंडल 

1938 ईस्वीं  

रमेशचन्द्र ओझा  

रमेशचन्द्र ओझा  

लादूराम व्यास , अभयसिंह , गोकुललाल असावा , लक्ष्मीकांत कोटिया , अभयसिंह डांगी  

 13. धौलपुर प्रजामण्डल 

1938 ईस्वीं  

ज्वाला प्रसाद जिज्ञासु  

कृष्ण दत्त पालीवाल  

जौहरी लाल इन्दु , मूलचन्द , केश्वदेव , केदारनाथ  

 14. करौली प्रजामण्डल 

1938 ईस्वीं  

त्रिलोक चन्द्र माथुर  

मुंशी त्रिलोक चंद माथुर  

चिरंजीलाल शर्मा , कुंवर मदन सिंह  

 15. किशनगढ़ प्रजामण्डल 

1939 ईस्वीं  

कांतिलाल चौथानी  

कांतिलाल चौथानी  

जमालशाह  

 16. जैसलमेर राज्य प्रजा परिषद (जोधपुर)

जैसलमेर राज्य प्रजामण्डल 

1939 ईस्वीं  

1945 ईस्वीं 

शिवशंकर गोपा 

मीठालाल व्यास  

शिवशंकर गोपा  

मीठालाल व्यास 

मदनलाल पुरोहित , लालचन्द जोशी , जीवनलाल कोठारी , जीतमल और मोहनलाल  

मीठालाल व्यास और अन्य साथी

 17. कुशलगढ़ प्रजामण्डल 

1942 ईस्वीं  

भंवरलाल निगम  

कन्हैयालाल सेठिया  

पन्नालाल त्रिदेवी और अन्य साथी  

 18. डूंगरपुर प्रजामण्डल 

1944 ईस्वीं  

भोगीलाल पंड्या  

भोगीलाल पंड्या  

शिवलाल कोटडिया , हरिदेव जोशी , गौरीशंकर उपाध्याय  

 19. बूंदी राज्य लोक परिषद् 

1944 ईस्वीं  

ऋषिदत्त मेहता  

हरिमोहन माथुर  

नित्यानन्द नागर , गोपाल कोटिया , गोपाललाल जोशी , मोतीलाल अग्रवाल , पूनमचंद  

 20. बांसवाडा प्रजामण्डल 

1945 ईस्वीं  

भूपेन्द्र नाथ त्रिवेदी  

विनोदचन्द्र कोठारी  

धूलजी भाई , मणिशंकर , चिमनलाल , मोतीलाल , लक्ष्मण दास  

 21. प्रतापगढ़ प्रजामंडल 

1945 ईस्वीं  

अमृतलाल पायक  

अमृतलाल पायक  

चुन्नीलाल प्रभाकर और अन्य साथी  

 22. झालावाड प्रजामण्डल 

1946 ईस्वीं  

मांगीलाल भव्य  

माँगी लाल भव्य  

कन्हैया लाल मित्तल , मदनगोपाल , मकबूल आलम तथा रतनलाल , तनसुखलाल , रामनिवास  शर्मा