भ्रंश (faults in hindi ) , fault terminology , वर्गीकरण  

(faults in hindi ) भ्रंश : भ्रंश वे रचनाएँ है जिनके तल पर संस्तर के दो विभिन्न भाग एक दूसरे से दूर हट जाते है ऐसा सतह पर होने वाली क्रियाओं के कारण होता है।

fault terminology

Fault plane : वह तल जो किसी फ्रेक्चर के along गति करने पर बना है , भ्रंश तल कहलाता है।
Hade : Fault plane के vertical में मापा गया कोण Hade कहलाता है।
Dip : Fault plane के horizontal surface से बना angle dip होता है।
strike : ground surface पर fault continuity की दिशा strike होती है या horizontal plane व fault plane की intersection line strike कहलाती है।
Throw : Foot wall व hanging wall की dip slip के vertical घटक को throw कहते है।
या
दो शैल खंडो के बीच के dip slip के vertical घटक को throw कहते है।
Heave : दो शैल खंडो के बीच के dip slip के शैतिज घटक को Heave कहते है।
Net slip : यह दो शिला खंडो के विक्षेप के बीच की दूरी fault plane की दूरी net slip कहलाती है।
dip slip : fault plane के dip की parallel दिशा में movement dip slip कहलाती है।
strike slip : fault plane की strike की parallel दिशा में movement strike slip कहलाती है।
hanging wall : fault plane के ऊपर वाला block hanging wall कहलाता है।
Foot wall : fault plane के निचे वाला block foot wall कहलाता है।

fault का वर्गीकरण  

1. विस्थापन के आधार पर :
A. Normal fault :
जिसमे hanging wall नीचे चला गया हो (foot wall की तुलना में )
B. Reverse fault  :
जिसमे hanging wall ऊपर चला गया हो (foot wall की तुलना में )
2. शिला संस्तर के आधार पर
A. dip fault : 
इसमें भ्रंश का नतिलम्ब (strike) नति (dip) की दिशा में हो।
B. strike fault :
वह भ्रंश जिसका नतिलम्ब शिला संस्तर के नतिलम्ब के समान्तर हो।
C. bedding fault (संस्तर भ्रंश) :
वह भ्रंश जिसमे भ्रंश का नतिलम्ब शिला संस्तर के समान्तर हो।
D. Transverse fault /Oblique fault (अनुप्रस्थ भ्रंश )
यह नतिलम्ब रेखा के उद्र्ग होता है।
E. Tear fault or Wrench fault /Longitudinal fault :
यह भ्रंश लम्बाई में नतिलम्ब रेखा के सामानांतर फैला होता है।
3. भ्रंश समूह के pattern के आधार पर
A. Parallel faults :
समान strike तथा dip वाली एक fault श्रेणी parallel faults कहलाती है।
कुछ भ्रंश एक दूसरे के parallel run करते है और कुछ समान दिशा में same hade angle के साथ।
B. step faults :
ऐसे समान्तर भ्रंश जो सभी नीचे की ओर समान दिशा में run करते है , इसमें down throw block एक step की तरह संरचना बनाते है।
C. Graben or Rift fault :
यह भ्रंश तब निर्मित होता है जब दो समान्तर normal fault hade एक दूसरे की ओर होते है और इनके बीच की rock bed , gravity force के प्रभाव से नीचे धंस जाती है।
D. Horst :
जब दो समान्तर normal fault hade एक दूसरे से दूर हो जाते है और इनके बीच rock beds एक ऊंचाई तक ऊपर उठ जाती है तो वह horst कहलाती है।
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *