गैसीय माध्यम में ध्वनि की चाल को प्रभावित करने वाले कारक (factors affecting velocity of sound in gaseous medium)

(factors affecting velocity of sound in gaseous medium) गैसीय माध्यम में ध्वनि की चाल को प्रभावित करने वाले कारक  : यहाँ हम अध्ययन करेंगे की गैसीय माध्यम में ध्वनी की चाल पर दाब , ताप , घनत्व , आदृता , आवृति , तरंग दैर्ध्य , कला , आदि का क्या प्रभाव रहता है या ये कारक ध्वनि की गति को किस प्रकार प्रभावित करते है।
1. घनत्व का प्रभाव (effect of density) : गैसीय माध्यम में ध्वनि की चाल ,  गैस के घनत्व के वर्गमूल के व्युत्क्रमानुपाती होती है।

अर्थात जब गैस का घनत्व बढ़ता है तो ध्वनि की चाल कम होती है और घनत्व कम होता है तो चाल बढती है।
2. ताप का प्रभाव (effect of temperature) : जब ताप को बढाया जाता है तो ध्वनि का वेग गैसीय माध्यम में बढ़ता है।

ध्वनि का वेग , ताप के वर्गमूल के समानुपाती होता है।

v ∝√T
जब ताप में बहुत कम परिवर्तन  0° C किया जाए अर्थात 273.15 कैल्विन परिवर्तन से ध्वनि की चाल 0.61 m/s से बढ़ जाती है।  
3. दाब का प्रभाव (effect of pressure) : यदि ताप को नियत रखकर दाब में परिवर्तन किया जाए तो दाब परिवर्तन का ध्वनि की चाल पर कोई प्रभाव नही डालता है।
जब तक ताप को नियत रखा जाता है तब तक P/ρ भी नियत रहेगा जिससे दाब में परिवर्तन का कोई प्रभाव नही पड़ता जब तक की ताप नियत रखा जाता है।
4. आदृता का प्रभाव (effect of humidity) : जब आदृता बढती है तो वायु का घनत्व कम हो जाता है और वायु का घनत्व कम होने से वायु में ध्वनि की चाल भी बढ़ जाती है।
अर्थात आदृता बढती है तो ध्वनि की चाल भी बढती है।
यही कारण है की बारिश में वायु में नमी होने की वजह से यह शुष्क वायु की तुलना में ध्वनि का का संचरण आसानी से करती है।
5. अन्य कारकों का प्रभाव  : गैसीय माध्यम में ध्वनि की चाल पर आवृति ,  तरंग दैर्ध्य , कला , आदि का कोई प्रभाव नही पड़ता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *