यूप्लेक्टेला (euplectella meaning in hindi) , क्या है , वंश , संघ , स्वभाव , यूप्लैक्टेला का चित्र

By  

euplectella meaning in hindi , यूप्लेक्टेला क्या है , वंश , संघ , स्वभाव , यूप्लैक्टेला का चित्र ?

यूप्लैक्टेला (euplectella) :

वर्गीकरण
संघ : पोरीफेरा
वर्ग – हैक्साएक्टिनीलिडा
गण – हेक्सास्टिरोफोरा
वंश – यूप्लैक्टेला
स्वभाव और आवास : काँच स्पन्जो में सबसे सुन्दर स्पंज यूप्लैक्टेला वंश के होते है जिन्हें वीनस की पुष्प मंजुषा के नाम से जाना जाता है। ये समुद्र की गहराई में पाए जाते है।
ये स्पंज जापान , फिलीपिंस आदि देशों के निकट प्रचुरता से मिलते है।
ये स्पंज लम्बी , वक्रीत , पतली भित्ति वाले और बेलनाकार नलियों के समान होते है।
इनकी वक्रित और दृढ संरचना समुद्र की मंद और सतत जलधारा के अनुकूल होती है।
शरीर कंकाल सामान्यतया 4 से 6 अरीय सिलिकायुक्त कंटिकाओं का बना होता है।
ये कंटिकायें सिरों पर संगलित हो जाती है और आड़ी छड़ो के रूप में जुड़कर एक महीन लेकिन जटिल जालिकायुक्त शरीर का निर्माण करती है।
ऊपरी सिरे पर स्थित शिखरस्थ छिद्र एक ऑस्कूलम चालनी प्लेट द्वारा बंद रहता है।
यूप्लैक्टेला की जातियां श्रिम्पो (shrimps) की कुछ जातियों के साथ सहभोजी सम्बन्ध प्रकट करती है। नर और मादा शिशु श्रिम्प स्पंज की स्पंज गुहा में प्रवेश करते है और वृद्धि करके बड़े हो जाते है। इस कारण ये स्पंजगुहा के ऊपर शिखरस्थ छिद्र की चालनी प्लेट से बाहर नहीं निकल पाते।
इस अवस्था में ये स्पंज के शरीर में प्रवेश करने वाली जलधारा के साथ अन्दर आये प्लवकियों को खाते है।