निम्न की परिभाषा क्या है definitions in communication system physics

By  
निम्नलिखित की परिभाषा दीजिए अथवा समझाइये?
उत्तर :  1. ट्रांसड्यूसर (Transducer):- यह ऐसी युक्ति है जो ऊर्जा का एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित करती है जैसे माइक्रोफोन ध्वनि को विद्युत संकेतों में बदलता है। फोटो डायोड प्रकाशीय सिग्नल को विद्युत सिग्नल में बदलता है।
2. सिग्नल (Signal):– सूचना को विद्युत रूप में रूपान्तरित करने पर सिग्नल प्राप्त होते है ये दो प्रकार के होते है।
1. अनुरूप सिग्नल
2. अंकीय सिग्नल
3. मॉडुलन (Modulation):-संदेश सिग्नल की आवृत्ति कम होतीहै। अतः इन्हें उच्च आवृत्ति की वाहक तरंगों पर अध्यारोपित कराते है। इस प्रक्रिया को माडुलन कहते है।
4. परास:- प्रेषित्र से वह अधिकतम दूरी जहाँ पर सिग्नल पर्याप्त प्रबलता से प्राप्त किए जा सकते है परास कहते है।
5. बैंड चौड़ाई (Band width):- न्यूनतम आवृत्ति से अधिकतम आवृत्ति के अन्तर को बैण्ड चैड़ाई कहते है। जिस पर कोई उपकरण संचालित होता है अथवा सिंग्नल में ये आवृत्तिया निनिहत होता है।
6. क्षीणता (Weakness):- दूरी के साथ साथ सिग्नल की तीव्रता अथवा प्रबलता में कमी होती जाती है इस कमी को क्षीणता कहते है।
7. विमॉडुलन:- चैनल से प्राप्त सिग्नल में से वाहक एवं अवांछनिय सिग्नल को अलग हटाने की प्रक्रिया को विमाडुलन कहते है जो अभिग्राही ये सम्पन्न होता है।
8. परावर्तक (Reflector):- यह ऐसी युक्ति है जो सिग्नल को ग्रहण करके और उन्हें प्रवर्धित करके उन्हें चैनल को प्रेषित कर देती है। जैसे संचार उपग्रह सिग्नल को ग्रहण करके एवं प्रवर्धित करके पुनः पृथ्वी पर भेज देता है।
9. प्रवर्धन (Amplification):- सिग्नल के आयाम में वृद्वि करने को प्रवर्धन कहते है।