क्रान्तिक ताप , क्रांतिक दाब व क्रांतिक आयतन क्या है , परिभाषा , उदाहरण , सूत्र (critical temperature pressure and volume in hindi )

(critical temperature pressure and volume in hindi ) क्रान्तिक ताप , क्रांतिक दाब व क्रांतिक आयतन क्या है , परिभाषा , उदाहरण , सूत्र :जैसा कि हम जानते है कि गैसों को जब एक निश्चित ताप , दाब द्वारा गैस अवस्था से द्रव अवस्था में बदला जा सकता है , यदि किसी गैस का ताप बहुत अधिक बढ़ा दिया जाए तो इन्हें फिर द्रव अवस्था में बदलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है क्यूंकि दाब बढ़ाने पर गैस के अणुओं की गतिज ऊर्जा का मान भी बढ़ जाता है।

अत: क्रांतिक ताप किसी पदार्थ का वह ताप का मान है जिस पर या जिसके बाद उस पदार्थ की गैस को द्रव में बदला नहीं जा सकता है चाहे उस पर कितना भी दाब आरोपित कर दिया जाए।
क्रान्तिक ताप की परिभाषा :किसी गैस का ताप का वह अधिकतम मान , जिससे कम ताप पर उस गैस को दाब आरोपित करके गैस अवस्था से द्रव अवस्था में परिवर्तित कर दिया जा सके उस तापमान को गैस का क्रांतिक ताप कहते है।
उदाहरण : यहाँ अलग अलग गैसों के लिए उनके क्रान्तिक ताप का मान लिखा हुआ है –
NH3 (नाइट्रोजन) गैस का क्रांतिक ताप = 132 डिग्री सेल्सियस (oC)
O2 (ऑक्सीजन) गैस का क्रांतिक ताप = -119 (oC)
CO2 (कार्बन डाई ऑक्साइड ) = 31.2 (oC)
जल (H2O) का = 374 (oC)
क्रांतिक दाब : चूँकि हमने ऊपर पढ़ा की जब किसी गैस पर दाब आरोपित किया जाता है तो वह गैस से द्रव अवस्था में द्रवित हो जाती है लेकिन कितना दाब ?
“क्रांतिक ताप पर किसी गैस पर आरोपित किया गया वह न्यूनतम दाब का मान जिसे किसी गैस पर लगाने पर वह गैस द्रव अवस्था में बदली जा सकती है अर्थात द्रवित की जा सकती है उसे क्रान्तिक दाब कहते है। “
NH3 (नाइट्रोजन) गैस का क्रांतिक दाब = 111.5 (atm)
O2 (ऑक्सीजन) का = 49.7 (एटीएम)
CO2 (कार्बन डाई ऑक्साइड ) का क्रांतिक दाब = 73.0 (एटीएम)
जल (H2O) का क्रान्तिक दाब का मान  = 217.7 (atm)
क्रांतिक आयतन : क्रान्तिक दाब और क्रांतिक ताप पर किसी गैस के एक मोल के आयतन को उस गैस के लिए क्रांतिक आयतन कहलाता है।
उदाहरण : कार्बन डाई ऑक्साइड का क्रांतिक आयतन का मान 73.8 bar होता है।
क्रांतिक आयतन (Vc) , क्रान्तिक ताप (Tc) तथा क्रांतिक दाब (Pc) को निम्न सूत्र की सहायता से ज्ञात किया जा सकता है –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *