const member function c++ in hindi , what is constant member function in c++ language

By  
what is constant member function in c++ language , const member function c++ in hindi :-
इससे पहले के article मे const के basic को discuss किया तह अब इस article मे const के बारे और कुछ पॉइंट्स को discuss करेगा |
c++ मे , const keyword का use किसी storage को alter करने के लिए किया जाता है |जहा पर global variable का linking external होता है लेकिन const global variable का linking internal होता है |  c++ मे जिस पारकर static specifier को use किया जाता है उसी प्रकार global const variable को use किया जाता है |
उदाहरन के लिए
#include<iostream.h>
#include<conio>h>
const int a= 16;
int main() {
cout<<“data : “<<a;
getch();
}
इस उदाहरन मे , a एक global const variable है जिसकी value 16 है ये variable एक static variable की तरह कार्य करता है | इसके value पुरे प्रोग्राम मे constant होता है |
c++ constant variable की value को change करने के लिए simple method होती है | उद्धरण के लिए अगर किसी constant value को header file मे declare किया जाता है | इसे कही जगह use किया जा सकता है |  लेकिन इस header file को preprocessor के बाद include किया जाता है | तभी इसे variable को use किया जा सकता है |सभी सौद्र्स file मे global variable को define किया जाता है  |
const int a= 10 ;
const char * name = ” parth “;
अगर global variable को  रेगुलर variable से external linkage होता है | लेकिन इसमें error होता है | जब किसी global variable को एक file मे define किया जाता है  तब केवल इस file मे ही global variable को use किया जाता है | लेकिन किसी दूसरी file मे , इस variable को use करने के लिए extern keyword को use किया जाता है |
इसका उदाहरन है ;
file 1 मे
const int a= 1;
char char * name = parth;
file 2 मे ,
#include<iostream.h>
#include<conio>h>
#include file1 ;
int main() {
cout<<“data : “<<a;
cout<<“name :”<<*name ;
cout<<“Adddress :”<<&name ;
getch();
}
उपर दिए गये उदाहरनो मे ग्लोबल variable को file 2 मे use किया जाता है | इसमें error आता है | क्योकि file 1 और file 2 मे const variable को access नहीं किया जा सकता है |
इसके लिए extern को use किया जाता है |
file 1 मे
extern const int a= 1;
extern char char * name = parth;
file 2 मे ,
#include<iostream.h>
#include<conio>h>
#include file1 ;
int main() {
cout<<“data : “<<a;
cout<<“name :”<<*name ;
cout<<“Adddress :”<<&name ;
getch();
}
इस उदाहरनो मे const variable को external linking को बनाया गया है इसके लिए extern keyword को use किया जाता है | external linking के द्वारा इन variable  को file 2 मे  use किक्या जा सकता है |
variable मे linking को बजाय जाता है | इसके अलावा function के साथ linking को use किया जा सकता है |
Function linking
c++ मे , एक function के अन्दर दुसरे function को define नहीं किया जा सकता है | in function का scope static storage होता है इन function का life cycle जब तक होता है तब प्रोग्राम की running होगा | जब किसी function को किसी दुसरे function के अन्दर को define किया जाता है तब in function को extern keyword के अथ define किया जाता है | लेकिन यव ऑप्शनल है |
static keyword से function का scope static होता है | इसका linking इंटरनल होता है |
इसका उदाहरन होता है :
#include<iostream.h>
#include<conio>h>
static void add(int , int );
int main() {
int a, b;
cout<<“Enter values :”<<endl;
cin>>a>>b;
add(a,b);
getch();
}
static void add(int e , int f)
{
int c= e+f;
cout<<“Output :”<<c;
}
इस उदहारण मे , function केवल इस file मे use हो सकता है | लेकिन जब किसी function को external के साथ define किया जाता है तब इस function को किसी file मे
c++ मे , const keyword का use किसी memory location को  fixed करने के लिए किया जाता है |जहा पर function का linking external होता है लेकिन const global function  का linking internal होता है |
उदाहरन के लिए
#include<iostream.h>
#include<conio>h>
const print(char a);
int main() {
cout<<“data : “<<a;
getch();
}
इस उदाहरन मे , print एक global const function  है जिसमे line को print किया जाता  है ये function एक static function की तरह कार्य करता है | इसके value पुरे प्रोग्राम मे use किया जा सकता  है |
c++ constant function  की scope को change करने के लिए linking को change किया जाता है  | उदाहरन  के लिए अगर किसी function  को header file मे declare किया जाता है | इसे कही जगह use किया जा सकता है |  लेकिन इस header file को pre processor के बाद include किया जाता है | तभी इसे function  को use किया जा सकता है |
int add(int , int );
int check( int number );
अगर global function को  रेगुलर function  से external linkage होता है | लेकिन इसमें error होता है | जब किसी global function  को एक file मे define किया जाता है  तब केवल इस file मे ही global function  को use किया जाता है | लेकिन किसी दूसरी file मे , इस function  को use करने के लिए extern keyword को use किया जाता है |
इस article मे , const  को discuss किया है अब आगे के article मे c++ के कुछ और advance topic को discuss करेगे |