चिराग तले अंधेरा मुहावरे का अर्थ या दीपक तले अंधेरा मुहावरे का अर्थ chirag tale andhera meaning in hindi

By  
सब्सक्राइब करे youtube चैनल

chirag tale andhera meaning in hindi चिराग तले अंधेरा मुहावरे का अर्थ या दीपक तले अंधेरा मुहावरे का अर्थ ?

मुहावरेः अर्थ तथा वाक्य में प्रयोग

1. खाक में मिलाना (नष्ट करना)- नादिरशाह ने दिल्ली के वैभव को खाक में मिला दिया।
2. खून का प्यासा होना (जान लेने पर उतारू होना)- धन दौलत के लिए भाई-भाई भी खून के प्यासे हो जाते हैं।
3. छलनी हो जाना (घायल हो जाना)- गोलियों से जवान का पूरा शरीर छलनी हो गया।
4. छठी का दूध याद आना ( भारी संकट में पड़ना)- मैं तुझे ऐसा पीटूँगा कि तुम्हें छठी का दूध याद आ जाएगा।
5. आग लगाना (चुगली करना)- मीना अपनी सहेली मोहिनी से वैसे ही नाराज थी, आँचल ने उसकी बातें सुना-सुनाकर और आग लगा दी।
6. आपे से बाहर होना (गुस्सा होना)- परीक्षा में मोहित के कम अंक देखकर पिता जी आपे से बाहर हो गए।
7. आँखों में धूल झोंकना (धोखा देना)- छत्रपति शिवाजी पहरेदारों की आँखों में धूल झोंक कर जेल से भाग गए थे।
8. अपनी खिचड़ी अलग पकाना (साथ मिलकर न रहना)- कम्युनिस्टों को देश की क्या पड़ी है? वे सदा अपनी खिचड़ी अलग पकाते हैं।
9. चिराग (दीपक) तले अँधेरा (महत्त्वपूर्ण स्थान के समीप अपराध का पनपना) – कल रात थाने के पास वाले मकान डाका पड़ा, सच है चिराग तले अँधेरा होता है।
10. चादर के बाहर पैर पसारना (आय से अधिक व्यय करना)- चादर से बाहर पैर मत पसारो। वेतन से कम व्यय करो।
11. अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारना (अपनी हानि स्वयं करना)- मोहन! तुमने सरकारी नौकरी छोड़कर अपने पाँव पर आप कुल्हाड़ी मारी है।
12. आँखे बिछाना (बहुत आदर सम्मान करना)- सुदामा को अपने द्वार पर आया देख भगवान कृष्ण ने उनके स्वागत में आँखे बिछा दी।
13. आँख भर देखना (मन भर कर देखना)- गोपियाँ कृष्ण को आँख भर देख भी न पाती और वे कहीं छिप जाते।
14. ढाक के तीन पात (कभी कोई विशेषता न होना)- अनपढ़ को समझाना व्यर्थ है क्योंकि वह तो वही ढाक के तीन पात है।
15. आँसू बहाना (रोना)- इतने आँसू बहाने से तो अच्छा है अपनी गलती को सुधारो।
16 अँगूठा दिखाना ( समय पड़ने पर मना कर देना)- राम से मैनें सौ रूपये एक सप्ताह के लिए उधार माँगे पर उसने अंगूठा दिखा दिया।
17. अँधेरे घर का उजाला (इकलौता पुत्र)- मदनलाल ने अपने भाई के पुत्र को गोद ले लिया है। अब तो वही उसके अंधेरे घर का उजाला है।
18. कंचन बरसना (लाभ ही लाभ होना)- इस बार बरसात क्या हुइ बस कंचन बरसा है।
19. कोरा जवाब देना (साफ इंकार कर देना)- मैंने जब अतुल से अपनी पुस्तक मांगी तो उसने कोरा जवाब दे दिया।
20. आँचल पसारना (प्रार्थना करना)- माँ ने बीमार बच्चे के लिए भगवान से आँचल पसारकर भीख माँगी।
21. आकाश-पाताल एक करना (बहुत परिश्रम करना)- श्याम ने अपने व्यापार को ऊँचाइयों तक पहुँचाने के लिए आकाश-पाताल एक कर दिया। उसी का परिणाम है कि वह आज लाखों में खेल रहा है।
22. आँखों का तारा (बहुत ही प्यारा)- राम लक्ष्मण दोनों ही महाराज दशरथ की आँखों के तारे थे।
23. आँच न आने देना (हानि न होने देना)- चाहे मेरा सर्वस्व लुट जाए, मैं प्रतिज्ञा करता हूँ कि अपने देश पर आँच न आने दूंगा।
24. आसमान पर चढ़ना (बहुत अभिमान करना)- हरि विश्वविद्यालय में प्रथम क्या आया, उसका सिर आसमान में चढ़ गया।
25. आसमान सिर पर उठाना (बहुत शोर करना)- अध्यापक के कक्षा में न होने पर विद्यार्थियों ने आसमान सिर पर उठा लिया।
26. मुँह लगाना (बहुत स्वतंत्रता दे देना)- गज्जु, तुम अपने लड़कों को मुँह मत लगाओ नहीं तो बिगड़ जाएँगे।
27. लबालब छलकना (बहुत अधिक होना)- मदर टेरेसा के मुख से स्नेह लबालब छलकता था। 28.पगड़ी उतारना (अपमान करना)- दूसरो की पगड़ी उतारने वालों को अंत मे पछताना पड़ता है।
29. आड़े हाथों लेना (खरी-खरी सुनाना)- रमेश के घर देर से पहुँचने पर उसके पिताजी ने उसे आड़े हाथों लिया।
30. आँसू पोंछना (धीरज दिलाना)- रामेश्वर के पिता के मरने के पश्चात् जनेश्वर ही उसके आँसू पोंछने वाला रह गया है।