रसायन विज्ञान किसे कहते हैं ? रसायन विज्ञान को इंग्लिश में क्या कहते हैं chemistry definition in hindi

By  

chemistry definition in hindi रसायन विज्ञान किसे कहते हैं ? रसायन विज्ञान को इंग्लिश में क्या कहते हैं ?

विज्ञान की परिभाषा :

डेम्पियर के अनुसार , “विज्ञान प्राकृतिक विषय का व्यवस्थित ज्ञान तथा धारणाओं के मध्य सम्बन्धों का विचारयुक्त अध्ययन है। “
आइन्स्टाइन के अनुसार , “हमारी ज्ञान की अनुभूति की अस्त व्यस्त विभिन्नता को तर्कपूर्ण एक रूप विचार प्रणाली बनाने के प्रयास को विज्ञान कहते है। “
वुडबर्न और ओबोर्न के अनुसार , “हमारे प्राकृतिक वातावरण में स्थित परिस्थितियों अथवा घटित घटनाओं की अधिक शुद्धता से व्याख्या करने का मानवीय कार्य ही विज्ञान है। “
रसायन विज्ञान की परिभाषा : विज्ञान की वह शाखा जिसमें पदार्थ के गुणों , संगठन , संरचना आदि का अध्ययन किया जाता है उसे रसायन विज्ञान कहते है |
रसायन विज्ञान को इंग्लिश में “Chemistry” (केमिस्ट्री) कहते है |
प्रश्न : विज्ञान की प्रकृति से आप क्या समझते है ?
उत्तर : विज्ञान की प्रकृति : साधारण रूप से विज्ञान का अर्थ “क्रमबद्ध ज्ञान” से लिया जाता है लेकिन विशिष्ट रूप से वैज्ञानिक ज्ञान प्राचीन काल से वर्तमान तक की सतत शोध प्रक्रिया के परिणामों का व्यवस्थित और संचित रूप है। उदाहरण के रूप में प्राचीन काल में वैज्ञानिक परमाणु को अविभाज्य मानते थे लेकिन बाद में इसके विभिन्न भागों जैसे न्यूट्रोन , प्रोटोन तथा इलेक्ट्रॉन का पता लगा तथा वैज्ञानिकों की पूर्व धारणा बदल गयी। इसके बाद और आविष्कार हुए तथा कणों जैसे मेसोन , केओन , लेम्ब्डा आदि का पता लगा।
विज्ञान (साइंस) शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के scientia (सांइटिया) से हुई है , जिसका अर्थ है ‘जानना’ |
प्रश्न : रसायन विज्ञान शिक्षण का क्या महत्व है ?
उत्तर : रसायन विज्ञान शिक्षण के महत्व निम्नलिखित है –
1. बौद्धिक महत्व : रसायन विज्ञान , विज्ञान की ही एक शाखा है। इसका बौद्धिक महत्व बहुत अधिक है। इस विषय के लिए हमें यह मानना होगा कि इसके अध्ययन से वैज्ञानिक प्रशिक्षण और वैज्ञानिक विधि के चिन्तन करने में अवश्य सहायता मिलती है।
अमेरिका तथा इंग्लैंड में हुए शोधों से ज्ञात होता है कि विज्ञान के विषयों के अध्ययन से किसी न किसी प्रकार का प्रशिक्षण अवश्य प्राप्त होता है अत: बौद्धिक शक्तियों को विकसित करने में विज्ञान सहायक है तथा रसायन विज्ञान इसका एक अभिन्न अंग है।
2. व्यावहारिक महत्व : विज्ञान को यदि उपयोगिता की दृष्टि से देखा जाए तो वह अन्य सभी विषयों में प्रमुख स्थान प्राप्त करेगा। हम जिस संसार में रहते है उसका ज्ञान हमें अवश्य होना चाहिए। रसायन विज्ञान दैनिक जीवन में हमसे किस प्रकार सम्बन्धित है , यह निम्न बिन्दुओं से स्पष्ट है –
  • पेट्रोलियम उत्पादों के कारण आज विश्व एक छोटा शहर बनकर रह गया है। आज विश्व के सभी शहरों में दिन प्रतिदिन पेट्रोलियम की खपत बढ़ रहती है। यह रसायन विज्ञान की ही देन है।
  • रसायन विज्ञान तथा वस्त्र उद्योग – आज सभी तरफ हमें विभिन्न रंगों और गुणवत्ता के वस्त्र दिखाई देते है। रसायन विज्ञान ने हमें अनेक रंजक दिए है – रेयोन , नायलोन आदि के वस्त्र प्रदान किये है जो अत्यधिक महत्वपूर्ण है।
  • रसायन विज्ञान तथा प्लास्टिक – प्लास्टिक रसायन का एक प्रमुख अविष्कार है। आज कल सभी प्रकार के खिलौने , बिजली के उपकरण , फर्नीचर , गाड़ियाँ पाइप आदि में प्लास्टिक का उपयोग आवश्यक हो गया है।
  • चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में आज सभी प्रकार की दवाइयाँ उपलब्ध है।
उपरोक्त बिन्दुओं से स्पष्ट है कि रसायन विज्ञान का व्यावहारिक मूल्य बहुत अधिक है।
3. मनोवैज्ञानिक महत्व : रसायन विज्ञान की सम्पूर्ण प्रक्रिया मनोविज्ञान के बुनियादी सिद्धान्तों पर आधारित है। ‘करके सीखना’ , क्रिया प्रक्रिया , नमूनों का परिक्षण कर सीखना आदि सिद्धान्त मनोविज्ञान के नियमों के अनुरूप है। इनके अतिरिक्त रसायन विज्ञान छात्रों में रचनात्मकता , आत्म दृढ़ता , जिज्ञासा आदि प्रवृत्तियों को संतुष्ट करता है।
4. नैतिक महत्व : रसायन विज्ञान के नैतिक मूल्यों पर भी ध्यान देना आवश्यक है। हमें यह नहीं चाहिए कि हम केवल वैज्ञानिकों द्वारा खोजी अथवा आविष्कार की गयी सुविधाओं का उपभोग करते रहे। विज्ञान के नैतिक मूल्य हमें बताते है कि हम उनका संतुलन और संयमित रूप में प्रयोग करे और स्वयं भी कुछ करने का प्रयत्न करे। तभी हमारा और समाज का कल्याण होगा।
5. सांस्कृतिक महत्व : रसायन विज्ञान के सांस्कृतिक मूल्य भी कम नहीं है। विज्ञान के अन्वेषणों का इतिहास व्यक्ति के मस्तिष्क में महान व्यक्तियों के कार्यों का चित्रण करता है तथा मानव द्वारा अध्ययन किये गए विषयों को प्रमुखता देता है। अंग्रेजी के प्रसिद्ध कवि कीट्स (keats) के अनुसार सत्य ही सुन्दर है। प्रकृति सुन्दरता से परिपूर्ण है तथा प्रकृति का अध्ययन तथा खोज ही विज्ञान है। रसायन वैज्ञानिक अपने आविष्कारों के सौन्दर्यात्मक पक्ष से आनन्द की अनुभूति करता है।
6. व्यावसायिक महत्व : रसायन विज्ञान अनेक व्यावसायिक विषयों का आधार है। यह विद्यार्थियों को चिकित्सा क्षेत्र , वस्त्र उद्योग , पेट्रोलियम क्षेत्र , फार्मेसी , कृषि रसायन क्षेत्र आदि के लिए तैयार करता है। उपरोक्त क्षेत्रों के उदाहरणों से स्पष्ट है कि रसायन विज्ञान हमारे जीवन से इतना घनिष्ठ रूप से सम्बन्धित है कि उसके व्यावसायिक मूल्यों की अवहेलना नहीं की जा सकती। इसके उच्च अध्ययन के पश्चात् कोई भी छात्र अपनी जीविका चलाने में कठिनाई अनुभव नहीं कर सकता तथा वह आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ता है।
7. वैज्ञानिक प्रणाली का महत्व : रसायन विज्ञान में किसी भी समस्या के हल अथवा समाधान के लिए एक विशिष्ट प्रक्रिया पर बल दिया जाता है। यह विशिष्ट प्रक्रिया वैज्ञानिक विधि कहलाती है। वैज्ञानिक विधि के विभिन्न क्रमबद्ध चरण निम्नलिखित प्रकार है –
  • समस्या कथन।
  • समस्या से सम्बन्धित तथ्यों का संग्रह।
  • एकत्रित तथ्यों के आधार पर परिकल्पना का निर्माण करना
  • परिकल्पना के सत्यापन हेतु निरिक्षण परिक्षण कर प्रदत्त एकत्रित करना तथा उनका विश्लेषण करना।
  • विश्लेषण के आधार पर निष्कर्ष पर पहुँचना तथा सामान्यीकरण कर उपयोग में लाना।
8. अनुशासन सम्बन्धित महत्व : रसायन विज्ञान का अध्ययन छात्रों में अनुशासन की भावना उत्पन्न करता है। छात्र इसके अध्ययन से स्वअनुशासित रहते हुए साथ साथ कार्य करना , प्रयोग करना , उपकरणों को व्यवस्थित रखना , अध्यापक से मार्गदर्शन लेना आदि कार्य बड़े नियोजित तरीके से सीखते है।