रासायनिक विस्थापन की परिभाषा क्या है , chemical shift in hindi

chemical shift in hindi रासायनिक विस्थापन : इलेक्ट्रॉन के परिरक्षण से प्रोटोन का सिग्नल उच्च क्षेत्र की ओर एवं विपरिक्षण के कारण निम्न क्षेत्र की ओर विस्थापित हो जाते है , इस प्रकार proton के परिरक्षण अथवा विपरीरक्षण से एनएमआर (NMR) सिग्नल का उच्च क्षेत्र या निम्न क्षेत्र की ओर विस्थापन रासायनिक विस्थापन (chemical shift) कहलाता है।
या
प्रोटोन के परिरक्षण अथवा विपरिरक्षण से NMR स्पेक्ट्रम में सिग्नल की reference (सन्दर्भ) के सापेक्ष हुई विस्थापन को रासायनिक विस्थापन कहते है अर्थात संदर्भ से signal की स्थिति को रासायनिक विस्थापन (chemical shift) कहलाती है।
इसे  या τ से दर्शाते है।
अणुओं में विभिन्न प्रोटोन के रासायनिक विस्थापन को ज्ञात करने के लिए एक सन्दर्भ यौगिक काम में लिया जाता है।
1H1 एनएमआर (NMR) spectroscopy में टेट्रा मैथिल सिलेन (TMS) को सन्दर्भ के रूप में काम में लिया जाता है।

 

टेट्रा मैथिल सिलेन (TMS) का उपयोग सन्दर्भ यौगिक के रूप में किया जाता है , इसके निम्न कारण है –

1. TMS में उपस्थित सभी 12 proton रासायनिक highly shielding प्रोटॉन हैं , अतः इसका NMR signal सामान्य कार्बनिक यौगिकों के प्रोटोन की अपेक्षा upfield में होता हैं।
2. यह रासायनिक रूप से अक्रिय होता है , अर्थात less reactive होता है।
3. यह ध्रुवीय एवं अध्रुवीय विलायकों में आसानी से विलेय हो जाता है।
4. यह thermally stable (तापीय स्थायी) होता है।
5. इसे नमूने से आसानी से वाष्पन द्वारा अलग किया जा सकता है।
नोट : 1H1 एनएमआर (NMR) spectroscopy में D2O
, CDCl
2 , CCl4 व CS2 आदि को विलायक के रूप में काम में लिया जाता है।
रासायनिक विस्थापन (chemical shift) का मापन 
1. डेल्टा पैमाना  : इसमें TMS के अवशोषण संकेत को शून्य मान लिया जाता है एवं अन्य proton के रासायनिक विस्थापन का मान इसके सन्दर्भ में ज्ञात किया जाता है।
2. τ टाउ पैमाना : इसमें TMS के अवशोषण संकेत को 10 मानते है एवं अन्य प्रोटोन के रासायनिक विस्थापन का मान ज्ञात करते है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!