C++ : Integer Type in computer programming , what is and how many Integer in c++ language in hindi

By  
what is and how many Integer in c++ language in hindi , C++ : Integer Type in computer programming :-
computer memory मे यूनिट्स होती है जिसे bits कहते है |अतः integer type के अलग अलग data type को अलग अलग values को store करते है |C++ मे , तीन प्रकार के modifier है :
1-short
short integer कम कम से 16 bits width के integer को store करता है |
2.int
int , short type से थोडा ज्यादा width के integer value को store करता है |
3.long
long integer कम कम से 32 bits width के integer को store कर सकता है |
कई सारे सिस्टम मे integer type मे कई options को देते है |जैसे
IBM PC के लिए integer के लिए 16 बिट होता है |
वही पर window सिस्टम के लिए 32 bits  होता है |
निन्म variable को नीचे प्रकार से declare कर सकते है :-
short age;  // short type declaration
int salary; // integer type declaration
long position; // long type declaration
तीनो integer type signed type है | सभी की range को positive और negative integer को सामान मे बाट दिया जाता है |16 bit int run – 32,768 to  32,767 |
sizeof() operator का use ,integer variable के size को calculate करने के लिए किया जाता है | उदाहरण के लिए :
#include<iostream>
#include<climits>
void mian()
{
using namrespace std;
int n_int=INT_MAX;
short n_short = SHRT_MAX;
long n_long = LONG_MAX;
cout<<“int is”<<sizeof (int) << Endl;
cout<<“short is “<<sizeof n_short <<endl;
cout<<“long is “<< sizeof n_long<<endl;
cout<<“Maximum Value”<<endl;
cout<<“int :”<<n_int<<endl;
cout<<“short :”<<n_short<<endl;
cout<<“long :”<<n_long<<endl;
getch();
}
sizeof() operator
sizeof() operator का integer variable के size को calculate करने के लिए किया जाता है |इसका syntax होता है :
sizeof( variable );
यहा पर
variable : variable / type हो सकता है |अगर आप किसी variable के नाम को sizeof() operator के साथ use करते है तो () ऑप्शनल है |
यहा पर sizeof() operator , climits header file मे store है |इसके अलवा climits मे constant होता है :-
char_bit
NUMBER OF BITS IN CHAR
CHAR_MAX
MAXIMUM CHAR VALUE
CHAR_MIN
MINIMUM CHAR VALUE
SCHAR_MAX
MAXIMUM SIGNED CHAR VALUE
SCHAR_MIN
MINIMUM SIGNED CHAR VALUE
UCHAR_MAX
MAXIMUM UNSIGNED CHAR VALUE
SHRT_MAX
MAXIMUM SHORT VALUE
SHRT_MIN
MINIMUM SHORT VALUE
USHART_MAX
MAXIMUM UNSIGNED SHORT VALUE
INT_MAX
MAXIMUM INT VALUE
INT_MIN
MINIMUM INT VALUE
LONG_MAX
MAXIMUM LONG VALUE
LONG_MIN
MINIMUM LONG VALUE
ULONG_MAX
MAXIMUM UNSIGNED LONG VALUE
UINT_MAX
MAXIMUM UNSIGNED INT VALUE
Initialization 
Initialization statement मे assignment operator के साथ declaration को combine करता है |उदाहरन के लिए int max = 5;
यहा पर max integer type variable है जिसमे value ‘5’ को assign किया गया है |c++ मे किसी variable से दुसरे variable को initial कर सकते है |दुसरे variable को सबसे पहले initial करना होता है |
अतः आप इस initial statement को expression मे use कर सकते है
उदाहरण के लिए
#include<iostream>
#include<climits>
void mian()
{
using namrespace std;
int a=5;
int b=a;
int c=a+b+10;
cout<<“value of a”<<a<<endl;
cout<<“value of b”<<b<<endl;
cout<<“value of c”<<c<<endl;
getch();
}
इस उदाहरन मे , ‘a’ को सबसे पहले initial किया गया है और बाद मे इसे b मे assign किया गया है | इस statement के अलावा C++ मे निन्म पत्रकार से initial statement को लिखा जा सकता है |
int a(5);
int b(a);
unsigned types
सभी तीन integer का एक और प्रकार होता है जिसे unsigned कहते है |unsigned type एसे type होता है जो की negative value को hold नहीं कर सकते है |अतः इस प्रकार integer के range भी बढ़ जाती है |उदाहरण के लिए
short integer की range – 32,768 to  32,767 होती है लेकिन unsigned short integer की range 0 से 65,535 होती है |लेकिन unsigned type को केवल उस case मे solve किया जा सकता है जिसमे कभी भी value negative ना हो |Unsigned type का declaration निन्म प्रकार से होता है |
unsigned short age;
unsigned long age;
unsigned int age;
unsigned age;
Choosing an integer type
c++ मे integer type मे variety होने के कारन ,integer type को चुनना मुश्किल होता है |Normal integer को कंप्यूटर efficiently handel कर लेते है |
जब तक कोई और requirement न हो तब तक नार्मल integer को use करना चाहिए | अगर value कभी negatative नहीं होगी तब sunsigned integer को use किया जा सकता है |अगर value की size 16 बिट से ज्यादा हो तब long type को use करना चाहिए |
short type को तब use करना चाहिए जब large number ऑफ़ value की array को store करना चाहिए |इससे storage को कम किया जा सकता है |
अलग अलग कंप्यूटर सिस्टम के लिए अलग अलग size होती है |जैसे DOS के लिए int की size 16 बिट ,XP के लिए int की size 32 बिट होती है |
Integer Constant
C++ मे , तीन base सिस्टम होता है | 10,8,और 16 | C++ मे किसी value के first और दो डिजिट से number base को identify किया जाता है |
अगर first और दो डिजिट , 0-9 के बीच मे होते है तब इसे decimal number सिस्टम कहते है|
अगर first और दो डिजिट 0x होते है तब base सिस्टम hexadecimal कहते है |
अगर first डिजिट ‘0’ होता है तब base सिस्टम octal होता है |
उदाहरण के लिए :
#include<iostream>
#include<climits>
void mian()
{
using namrespace std;
int a=52;
int b=0x34;
int c=042;
cout<<“value of a”<<a<<endl;
cout<<“value of b”<<b<<endl;
cout<<“value of c”<<c<<endl;
getch();
}
इस उदाहरण मे , a मे assign होने वाली value decimal है | b मे assign होने वाली value hexadecimal है |c मे assign होने वाली value octal है |
 iostream header file मे कुछ manipulators होते है base सिस्टम को interchage कर सकते है |जैसे
1.dec: इसका use decimal base के लिए किया जाता है |
2.hex :इसका use hexadecimal base के लिए किया जाता है |
3.oct :इसका use octal base के लिए किया जाता है |
 इसे endl की तरह use किया जाता है| इससे value को print करने से पहले declare किया जाता है |
उदहारण के लिए:
#include<iostream>
#include<climits>
void mian()
{
using namrespace std;
int a=52;
cout<<dec;
cout<<“Decimal value of a”<<a<<endl;
cout<<hex;
cout<<“hexadecimal value of a”<<a<<endl;
cout<<oct;
cout<<“octal value of a”<<a<<endl;
getch();
}
इस आर्टिकल मे integer के type , initial , constant को discuss किया है | आगे के article मे , charecter को discuss करेगे |