बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो (Bartolomé Esteban Murillo in hindi)

By  
(Bartolomé Esteban Murillo in hindi) बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो : आज गूगल ने जिनका डूडल लगाया है वे एक महान पेंटर है उनकी चित्रकारी का नजारा देखकर आज के चित्रकार शर्मा जाए कि कैसे आज से 400 साल पहले चित्रकारी के मामले में यह महान चित्रकार पारंगत था।
विकिपीडिया पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार ” बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो ” का जन्म दिसंबर महीने के अंत में 1617 में अथवा जनवरी महीने में 1618 में हुआ था।  लेकिन चूँकि गूगल आज उनका डूडल लगाया है इसका अभिप्राय है कि आज के दिन इनका जन्मदिन है।  आज “बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो” का 400 वां जन्मदिन है।
उनकी चित्रकारी का अद्भुद नजारा आप इस फोटो में देख सकते है –

इस चित्रकारी को देखकर आप यह अनुमान लगा सकते है कि यह चित्र लगभग 400 साल पहले बनाया हुआ है , यह फोटो देखकर देखकर आप ” बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो ” की चित्रकारी में महानता को समझ गए होंगे।  अब हम उनके जीवन के बारे में जानते है।

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो की जीवनी

इनका जन्म दिसंबर महीने के अंत में 1617 में या कह सकते है 1 जनवरी 1618 को स्पेन देश के सविल नामक जगह पर हुआ था तथा इनकी मृत्यु 3 अप्रैल 1682 को स्पेन के सविल जगह पर ही लगभग 64 साल की उम्र में हुई।
ये एक स्पेन के बहुत ही जाने माने पेंटर थे साथ ही उनको इनके धार्मिक कार्यों के लिए भी बहुत अधिक जाना जाता है।
ये उस समय पर समकालीन औरतों और बच्चों पर बहुत अधिक चित्रकारी करते थे , उनकी चित्रकारी का नमूना तो आप ऊपर देख ही चुके है कि कैसे आज से लगभग 400 साल पहले बनी पेंटिंग भी ऐसी लगती है जैसे आज की ही बनाई हुई हो , कोई कह नहीं सकता है 400 साल पहले भी ऐसी पेंटिंग बनाना संभव था।
उनकी फोटो वास्तविक घटनाओं या तथ्यों पर भले ही आधारित न हो अर्थात उन्होंने देखि न हो लेकिन देखकर ऐसा लगता था जैसे आपके सामने घटित हो रही हो।
उनकी अधिकतर चित्रकारी नटखट बच्चो , औरतों , भिखारी , फूलों के साथ लड़कियों आदि पर होती थी।
वे अपने दैनिक जीवन में जो महसूस करते थे या देखते थे उनको पेंटिंग का रूप दे देते थे।

बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो का बचपन और करियर

इनके पिता का नाम Gaspar Esteban था तथा इनकी माता का नाम मारिया पेरेज़ था। इनका जन्म सविल या पिलस नामक शहर में हुआ था , चूँकि यह इतिहास है इसलिए इतिहास पर सवाल उठते है , यही कारण है कि विकिपीडिया पर जन्मदिन लगभग 1 जनवरी 1618 लिखा हुआ है लेकिन गूगल इनका 400 वाँ जन्मदिन 29 नम्वंबर 2018 को मना रहा है।
लेकिन यह स्पष्ट है कि आज लगभग 400 साल पहले उनका जन्म हुआ था।
उनके पिता एक बाबर और सर्जन थे , उनकी माता और पिता की मृत्यु 1627 और 1628 में होने के बाद वे अपने बहन के पति के वार्ड बन गए थे। बर्तोलोमे इस्टेबैन मुरिलो अपने पिता का सरनाम अपने नाम में रखते थे (इस्टेबैन) .
इन्होने अपनी पढाई अपनी माता के किसी रिश्तेदार के यहाँ से शुरू की थी , अर्थात उनके अंकल (इनकी माता के रिश्तेदार) के पेंटिंग के संसथान “जुआन डेल कैस्टिलो” से अपनी पढाई की शुरुआत की थी।
उनके अंकल भी एक बहुत अच्छे पेंटर थे , इनके अंकल ने इन्हें पेंटिंग सिखाई और कैसे पेन्टिंग में जान डाली जाती है इसकी विद्या इनको दी और बनाकर दिखाया।
और इस प्रकार वे एक अच्छे और महान चित्रकार बन गये और उनकी पेंटिंग का कुछ अंश निचे दिया गया है आप देखिये और उनकी कारीगरी का अनुमान लगाइए की आज से लगभग 400 साल पहले भी ऐसे पेंटर हुए है जिनको देखकर आज के पेंटर प्रेरणा लेते है और कुछ सीखते है।
यह चित्रकारी लगभग 1645 से 1650 के मध्य की है जिसमे एक पवित्र परिवार एक कुत्ते के साथ खेल रहा है या समय व्यतीत कर रहा है।
इस फोटो में दो लड़कियां या औरते एक खिड़की से झाँख रही है यह पेटिंग 1655 से 1660 के मध्य की है।
ऐसी ही कई फोटो को मिलकर उनकी चित्रकारी का एक म्यूजियम बनाया हुआ है। जिसमे उनकी अद्भुद पेंटिंग का नजारा देखने को मिलेगा जो आज से लगभग 400 साल पुराना है।