आवोगाद्रो का नियम क्या है avogadro’s law in hindi

(avogadro’s law in hindi) आवोगाद्रो का नियम क्या है : “इस नियम के अनुसार समान ताप व दाब पर यदि किन्ही गैसों का समान आयतन लिया जाए तो उस समान निश्चित आयतन की गैस के अणुओं की संख्या सभी के लिए समान होगी। ”

“माना दो गैसे है , यदि ताप व दाब का दोनों के लिए समान रखते हुए , दोनों गैसों का समान आयतन लिया जाये अर्थात गैसों के समान आयतन में , अणुओं की संख्या दोनों में समान होगी यही आवोगाद्रो का नियम है। ”
आवोगाद्रो ने अपना यह नियम 1811 में दिया था इनका पूरा नाम Amedeo Avogadro था , ये एक महान इटालियन रसायनज्ञ थे।
इस नियम को इस प्रकार से भी बताया जा सकता है “जब ताप व दाब को स्थिर रखा जाए तो गैस का आयतन अणुओं की संख्या के समानुपाती होता है अर्थात गैस का आयतन बढ़ाने पर गैस के अणुओं की संख्या बढती जाती है। ”
माना गैस का आयतन V है और गैस में अणुओं की संख्या n है तो आवोगाद्रो नियम के अनुसार
 n
V = kn
V/n = k
यहाँ k , समानुपाती स्थिरांक है।
यदि गैस दो हो और इनका आयतन क्रमशः V1 और V2 है और अणुओं की संख्या क्रमशः n1 व n2 है तो इनको निम्न प्रकार से लिखा जा सकता है –

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *