विद्युत आवेशों की योज्यता additivity of electric charges in hindi

additivity of electric charges in hindi विद्युत आवेशों की योज्यता : कोई भी आवेश एक अदिश राशि होता है अर्थात आवेश को लिखने व दर्शाने के लिए केवल मान की आवश्यकता होती है दिशा की नहीं।

विद्युत आवेश योगात्मक प्रकृति का होता है अर्थात किसी भी निकाय पर उपस्थित कुल आवेश का मान सभी आवेशों के बीजगणितीय योग के बराबर होता है।
अर्थात निकाय पर कुल आवेश का मान निकालने के लिए सभी आवेशों को धनात्मक या ऋणात्मक चिन्ह के साथ लिखकर जोड़ा जाता है।
यहाँ ध्यान देने वाली यह बात है की ऋणात्मक आवेश को ऋणात्मक चिह्न के साथ तथा धनात्मक आवेश को धनात्मक चिह्न के साथ लिखा है तथा इस प्रकार लिखकर उनका योग किया जाता है।
विद्युत आवेशों की योज्यता का उदाहरण :
किसी वस्तु पर चार आवेश उपस्थित है +8q  , +3q , -7q तथा +2q , बताइये की उस वस्तु पर उपस्थित कुल आवेश कितना होगा।
हल : वस्तु पर कुल आवेश = सभी आवेशों का बीजगणितीय योग
कुल आवेश (Q) = (+8q) + (+3q) + (-7q) + (+2q)
Q = +8q +3q -7q +2q
Q = +6q
नोट : यदि किसी वस्तु पर कुल आवेश का मान शून्य प्राप्त होता है तो इसका अभिप्राय है की वस्तु अनावेशित अर्थात उदासीन है।