अर्जित प्रतिरक्षा न्यूनता संलक्षण एड्स AIDS in hindi

acquired immune deficiency syndrome (अर्जित प्रतिरक्षा न्यूनता संलक्षण) AIDS in hindi एड्स

अर्थ:-

मनुष्य द्वारा अपने जीवनकाल में र्जित प्रतिरक्षा में उत्पन्न बीमारियों के समूह को AIDS कहते है।

इसका पहला रोग 1981 में पाया गया तथा अब तक लगभग 2.5 करोड से अधिक व्यक्तियों को इस रोग से मृत्यु हो चुकी है।

 रोगजनक- विषाणु जनित (HIV) Human immunodeficiency virus

यह एक पश्च विषाणु टपतने है इसमें RNA जीनोम पर एक आवरण पाया जाता है।

चित्र

रोग का संचरण/प्रसारण/कारण:-

1 संक्रमित व्यक्ति के यौन सम्पर्क द्वारा

2 संदुषित रूधिरएवं रूधिर उत्पादों के आधान द्वारा

3 संक्रमित सूई के प्रयोग द्वारा

4 संक्रमित माँ से शिशु को।

 भ्रान्तियाँ:-

1हाथ मिलाने गले लगने, साथ रहने, साथ भोजन करने आदि से एडस नहीं होता है।

क्रियाविधि:-

चित्र

लक्षण:-

इसके लक्षण कुछ महीनों से लेकर कुछ वर्षो 5-10 वर्ष में उत्पन्न होते है।

1 लगातार बुखार।

2दस्त लगन

3 वजन में कमी

4 अवसरवादी संक्रमण:- इसमें अनेक विषाणु, जीवाणु जैसे:-माइक्रोबेकटेरियम कवक एवं  टेक्सोप्लेजमा जैसे परजीवियों का संक्रमण हो जाता है।

टेस्ट + निदान – ELISA  Enzyme-linked immune sorbent assay एन्जाइम सहलग्न प्रतिरक्षारोधी आमपन

 रोकथाम/उपचार:- 

1  बचाव ही एकमात्र उपचार है अत कहा जाता है अज्ञानता के कारण मत मो।

2 एण्टीेट्रोवाइरल औषधियों के प्रयोग द्वारा इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है।

रोकथाम:- National AIDS Control Organization (NACO)

इसके लिए निम्न प्रयास कर रहे है।

1 सुरक्षित यौन सम्पर्क को बढावा देना

2 कण्डोम का निःशुल्क वितरण

3 रक्त बैकों को भ्प्ट युक्त बनाना।

4 डिस्पोजेबल सीरीज को बढावा

5 ड्रग के कुप्रयोग पर नियंत्रण।

6 सुग्राही समष्टि की नियमित जाँच।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!