कौन सा अर्धचालक एक डायोड और दो प्रतिरोधक की तरह कार्य करता है which semiconductor device acts like a diode and two transistor mcq

By  

mcq in hindi

प्रश्न . Which semiconductor device acts like a diode and two resistors?
कौन सा अर्धचालक एक डायोड और दो प्रतिरोधक की तरह कार्य करता है?
(अ) UJT (ब) SCR

(स) Diac / डायक (द) Triac ट्रायक
Ans: (अ) UJT (Unijunction Transistor) अर्द्धचालक एक डायोड और दो प्रतिरोधक की तरह कार्य करता है। UJt~ N-प्रारूपी सिलिकॉन अर्द्धचालक पर एक P-N सन्धि से निर्मित इकाई है। जिसमें तीन टर्मिनलों की व्यवस्था होती है। UJT का प्रयोग SCR के ट्रिगर परिपथ में तथा दोलन परिपथों में प्रयोग किया जाता है।

1. Convert the binary number 1011010 to hexadecimal.
बाइनरी संख्या 1011010 को हेक्सा डेसिमल में परिवर्तित करें।
(अ) 5 F (ब) 5 B (स) 5C (द) 5।
Ans : (द) (1011010)2
0101 1010
↓ ↓
5 A
= (5 A)2
2. Convert the decimal number 151.75 to binary.
दशमल संख्या 151.75 को बाइनरी संख्या में परिवर्तित करें।
(अ) 00111100.00 (ब) 10000111.11
(स) 10010111.11 (द) 11010011.01
Ans : (स) 10010111.11
3. What is dffierence between binary coding and binary coded decimal ?
बाइनरी कोडिंग (binary coding) और बाइनरी कोडिंग दशमलव (binary coded decimal) में क्या अंतर है?
(अ) Binary coding is pure binary
बाइनरी कोडिंग शुद्धरूप में बाइनरी है
(ब) BCd~ is pure binary/BCD शुद्ध रूप में बाइनरी है
(स) Binary coding has a decimal format
बाइनरी कोडिंग दशमलव प्रारूप में होती है
(द) BCd~ has no decimal format
BCD दशमल प्रारूप में नहीं होती है
Ans : (अ) बाइनरी कोडिंग और बाइनरी कोडित दशमलव में यह अन्तर है कि बाइनरी कोडिंग शुद्ध रूप में बाइनरी है। बाइनरी सिस्टम में केवल दो अंकों 0 तथा 1 का उपयोग किया जाता है। इस प्रणाली का आधार 2 है।
4. What is the decimal value of the hexadecimal number 777?
हेक्साडेसिमल संख्या 777 का दशमलव मान क्या होगा?
(अ) 191 (ब) 19111
(स) 1911 (द) 19
Ans : (स) (777)16 =7×162$7×161$7×160
= 1792$112$7=(1911)10
5. Convert the binary number 1001.0010 to decimal.
बाइनरी संख्या 1001.0010 को दशमलव में परिवर्तित करें।
(अ) 90.125 (ब) 125
(स) 9.125 (द) 12.5
Ans: (स)
1001= 1×23$0x22$0x21$1×20 = 9
0.0010-0x2.1 $0x2.2$1×2.3= 0.125
(1001.0010)2-(9.125)10
6. The following circuit gives the output.
निम्नांकित परिपथ का आउटपुट होगा-
(अ) C(A़B)DE (ब) [C;A़B)D़E’,
(स) [{C;A़B)D}E’, (द) ABCDE
Ans : (अ) परिपथ में एक OR तथा तीन AND गेट है।
1st- Input-A और B है प्रयुक्त गेट OR है।
Output-A़B
2nd Input- A़B और C है प्रयुक्त गेट AND है।
Output-(A़B).C
3rd Input- (A़B).C और D है प्रयुक्त गेट AND है।
Output-(A़B)CD
4th- Input- (A़B).CD और E है प्रयुक्त गेट AND है।
Output-C(A़B)DE
7. The observation that a bubbled input Or~ gate is interchangeable with a bubbled output ANd~ gate is referred to as:
ccy (bubbled) इनपुट OR गेट का ccy (bubbled) आउटपुट ।छक् गेट में परस्पर परिवर्तन के अवलोकन को कहा जाता है
(अ) कम-morgan’s second theorem
डिमॉर्गन का द्वितीय प्रमेय
(ब) a karnaugh map / कारनाफ मानचित्र
(स) the assosiative law of multiplication
गुणन का साहचर्य नियम
(द) the commutative law of addition
योग का क्रम विनिमेय नियम
Ans : (अ) बबल इनपुट OR गेट का ccy आउटपुट AND गेट में परस्पर परिवर्तन के अवलोकन को डिमॉर्गन का द्वितीय प्रमेय कहते है। इस प्रमेय के अनुसार किसी गुणन फल का कम्पलीमेन्ट राशियों के पृथक-पृथक कम्पलीमेन्ट के योग के बराबर होता है।
8. Which of the examples below expresses the commutative law of multiplication?
निम्न उदाहरणों में से कौन गुणन के क्रम विनिमेय नियम को व्यक्त करता है?
(अ) A*B = B*A (ब) A़B = B़A
(स) A*B = B़A (द) A*(B*C)= (A*B)*C
Ans : (अ)A*B = B*A क्रम विनिमेय नियम को व्यक्त करता है। क्रमविनिमेय नियम में क्रम का परिवर्तन नहीं होता है।
9. How many 3 to 8 line decoderare required for a 1 of 32 decoder ?
32 में से 1 डिकोडर के लिए कितनी 3 से 8 लाइन डिकोडर की आवश्यकता होगी?
(अ) 1 (ब) 2 (स) 4 (द) 8
Ans : (स) 32 में से 1 डिकोडर के 4, 3 से 8 लाइने डिकोडर की आवश्यकता होगी।
10. The transducer in a measurement system is the:
किसी मापन प्रणाली में ट्रांसड्यूसर है-
(अ) signal-conditioning device
एकल अनुकूलन उपकरण
(ब) input element/इनपुट तत्व
(स) output element/आउटपुट तत्व
(द) processing device./प्रक्रमण उपकरण
Ans: (ब) किसी मापन प्रणाली में ट्रांसड्यूसर इनपुट तत्व है। ट्रांसड्यूसर वह युक्ति होती है जो एक स्वरूप की ऊर्जा को दूसरे स्वरूप में रूपान्तरण करती है। यद्यपि सामान्य रूप से ट्रांसड्यूसर किसी भी प्रकार की ऊर्जा को किसी अन्य प्रकार की ऊर्जा में रूपान्तरित करने वाली युक्ति होती है। जैसे-माइक्रोफोन, फोटोसेल, वैद्युत थर्मामीटर आदि।
11. An accurate ammeter must have a resistance of:
किसी सटीक अमीटर का प्रतिरोध होना चाहिए
(अ) very low value/बहुत निम्न मान
(ब) low value/निम्न मान
(स) high value/उच्च मान
(द) very high value/बहुत उच्च मान
Ans : (अ) किसी सटीक अमीटर का प्रतिरोध बहुत निम्न होना चाहिये। अमीटर एक धारा मापने का उपयन्त्र है। अमीटर को वैद्युत परिपथ की श्रेणी में संयोजित किया जाता है। जिससे वह परिपथ की सम्पूर्ण धारा माप सके।
12. Regarding VTVM which of the following statement is incorrect ?
VTVM के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा कथन असत्य है?
(अ) It measures ac volts/;g a.c. वोल्ट को मापता है
(ब) It is usually plugged into power supply line
यह सामान्यतः पावर आपूर्ति की लाइन में लगा होता है
(स) It cannot measure directly
प्रत्यक्ष रूप से इसका मापन नहीं किया जा सकता
(द) Its ohm rangers are usually up to r~ X
1000Ω/इसकी ओम सीमा सामान्यतः r~ x 1000Ω तक होती है
Ans : (द) VTVM के संदर्भ में असत्य कथन- इसकी ओम सीमा सामान्यतः Rx 1000Ω तक होती है।
सत्य कथन- VTVM a.c- वोल्टता को मापता है। यह सामान्यः पॉवर आपूर्ति की लाइन में लगा होता है और प्रत्यक्ष रूप से इसका द्यमापन नहीं किया जा सकता है।
13. In a CRO, the time base signal is a:
CRO में समय आधारित सिगनल है-
(अ) Square waveform / वर्गाकार तरंग रूप
(ब) High frequency saw tooth waveform.
उच्च आवृत्ति आरादती तरंग रूप
(स) Rectangular waveform/ आयताकार तरंग रूप
(द) High frequency sinusoidal waveform
उच्च आवृत्ति ज्यावक्रीय तरंग रूप
Ans: (ब) CRO में समय आधारित सिगनल उच्च आवृत्ति आरादती तरंग रूप है। CRO एक अति महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक उपयन्त्र है। इसका उपयोग प्रयोगशालाओं में वैद्युत तथा इलेक्ट्रॉनिकी परिपथों के अन्तर्गत होने वाले प्रभावों में अध्ययन हेतु और विविध तरंगों के रूपों को दर्शाने मापने व विश्लेषण हेतु किया जाता है।
14. fi~ there are b branches and n nodes.k~ the number of equations will be:
यदि b शाखाएं और द नोड हो तो समीकरणों की संख्या होगी-
(अ) n-1 (ब) b
(स) b-n (द) b-n़1
Ans : (द) शाखाएं = b
नोड =n
समीकरणों की संख्या = b – n़1
15. A coil having an inductance of 75 mHk~ is carrying a current of 100 A.k~ fi~ the current is reduced to zero in 0.2 second.k~ the selfinductance emf will be:
प्रेरकत्व 75 mH वाली किसी कुंडली में 100 A की धारा प्रवाहित हो रही है। यदि 0.2 सेकेण्ड में धारा प्रवाह घटकर शून्य हो जाए तो स्वतः प्रेरकत्व emf  होगी-
(अ) 125 V (ब) 37.5V
(स) 500 V (द) 750 v
Ans: (c) प्रेरकत्व (L)= 75 mH
धारा (I)= 100 Amp
समय = 0.2 सेकण्ड
e = L
e = 75×10 -3 – = 37.5v
16. An inductor stores energy in :
प्रेरक, ऊजों का संचय करता है
(अ) clectrostatic field/स्थिर वैद्युतक्षेत्र में
(ब) electromagnetic field/विद्युत-चुम्बकीय क्षेत्र में
(स) core/कोर में
(द) magnetic field/चुम्बकीय क्षेत्र में
Ans: (द) प्रेरकत्व चुम्बकीय क्षेत्र के रूप में ऊर्जा का संचार करता है।
17. The super&position theorem is applicable to:
अध्यारोपण प्रमेय निम्न विकल्पों में से किस पर लागू होता है
(अ) current only/ केवल धारा प्रवाह पर
(ब) voltage only/ केवल वोल्टता पर
(स) both current and voltage
धारा प्रवाह तथा वोल्टता दोनों पर
(द) current,voltage and power
धारा प्रवाह, वोल्टता तथा पावर पर
Ans: (स) अध्यारोपण प्रमेय धारा प्रवाह, वोल्टता पर लागू होता है। यदि किसी जटिल परिपथ में एक से अधिक विद्युत वाहक बल या धारा स्रोत एक साथ कार्य कर रहे हो तो विभिन्न शाखाओं में बहने वाली धारा का मान प्रत्येक स्रोत से उस शाखा में बहने वाली धाराओं के बीजीय योग के बराबर होगा।
18. In case of delta connected circuit, when one resistor is open- power will be:
डेल्टा-संयोजित परिपथ के संदर्भ में, यदि एक प्रतिरोधक खुला हो तब पावर होगी-
(अ) zero/ शुन्य
(ब) reduced to 1/3/1/3 तक कम
(स) reduced by 1/3/1/3 से कम
(द) unaltered / स्थिर
Ans: (स) डेल्टा-संयोजित परिपथ के सन्दर्भ में यदि एक प्रतिरोधक खुला तो वह पावर 1/3 से कम होगी।

20. As compared to oscillators, an inverter provides:
दोलित्र की तुलना में, प्रतीपक प्रदान करता है-
(अ) low voltage output / निम्न वोल्टता आउटपुट
(ब) low frequency output / निम्न आवृत्ति आउटपुट
(स) distortionless output / विरूपणहीन आउटपुट
(द) noiseless output / नि:शब्द आउटपुट
Ans: (ब) दोलित्र की तुलना में प्रतीपक निम्न आवृत्ति आउटपुट प्रदान करता है वे शक्ति इलेक्ट्रॉनिक परिपथ जिनकी सहायता से दिष्ट धारा शक्ति को इच्छित वोल्टता, आवृत्ति की प्रत्यावर्ती धारा शक्ति में रूपान्तरित किया जा सकता है प्रतीपक कहलाते है। इलेक्ट्रॉनिक परिपथों के लिए दोलित्र की डी.सी. और ए.सी. परिवर्तित करने वाली इकाईयां होती है परन्तु वे निम्न शक्ति पर उच्च आवृत्तियों की ए.सी. प्राप्त करने हेतु उपयोगी होती है।