पैलेस ऑन व्हील्स कब शुरू हुई | किस राज्य में चली ट्रेन के कोच के नाम when was palace on wheels started in hindi

By   April 7, 2021

when was palace on wheels started in hindi पैलेस ऑन व्हील्स कब शुरू हुई | किस राज्य में चली ट्रेन के कोच के नाम ?

प्रश्न : पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए “भारतीय रेल” ने किस राज्य में “पैलेस ऑन व्हील्स” गाड़ी चलाई है ?

उत्तर : भारतीय रेल ने “राजस्थान” राज्य में पैलेस ऑन व्हील्स नामक रेल चलाई है जिसका उद्देश्य पर्यटन को बढ़ावा देना है |

प्रश्न : पैलेस ऑन व्हील्स कब शुरू हुई ?

उत्तर : 26 जनवरी 1982 में पैलेस ऑन व्हील्स शुरू की गयी थी और अगस्त 2009 में इसको इसकी सेवाओं को नवीनीकरण और पुन: लॉन्च किया गया था |

प्रश्न : पैलेस ऑन व्हील्स ट्रेन के कोच के नाम ?

उत्तर : इस ट्रेन में 23 कोच है | इस ट्रेन में 104 यात्री यात्रा कर सकते है | प्रत्येक कोच का नाम पूर्व राजपूत राज्यों के नाम पर रखा गया है और शाही अतीत के सौंदर्यशास्त्र और अंदरूनी हिस्सों से मिलता जुलता प्रतीत होता है अर्थात इसकी डिजाईन एतिहासिक रूप को दर्शाया गया है | अर्थात पैलेस ऑन व्हील्स ट्रेन में कोच या डब्बों के नाम अलवर, भरतपुर, बीकानेर, बूंदी, धौलपुर, डूंगरगढ़, जैसलमेर, जयपुर, झालावाड़, जोधपुर, किशनगढ़, कोटा, सिरोही और उदयपुर रखे गए है |

प्रत्येक कोच में 4 चैम्बर बनाये गए है , और सभी कोच में लग्जरी सुविधाएँ दी जाती है , साथ ही प्रत्येक कोच में wifi की सुविधा भी दी जाती है |

ट्रेन में दो रेस्टोरेंट है जिनका नाम, द महाराजा और द महारानी हैं, जिसमें राजस्थानी परिवेश में महाद्वीपीय, चीनी व्यंजन, वन बार कम-लाउंज (one bar-cum-lounge), 14 सैलून और एक स्पा है।

अत: कह सकते है कि यह ट्रेन आधुनिक सुविधाओं से भरपूर है और इसकी डिजाईन को भी काफी आकर्षक बनाया गया है | इस ट्रेन में सफ़र करने पर पर्यटक को राजा महाराजा के समय की फील आती है और चूँकि इसमें अत्याधुनिक सुविधा भी है अत: उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी भी नहीं होती है |