एकक कोष्ठिका क्या है , परिभाषा , एकक कोष्ठिका किसे कहते है , इकाई कोष्ठिका (unit cell in hindi)

By  
(unit cell in hindi) एकक कोष्ठिका क्या है , परिभाषा , एकक कोष्ठिका किसे कहते है , इकाई कोष्ठिका : किसी क्रिस्टल जालक का वह छोटे से छोटा भाग जिसकी पुनरावर्ती से सम्पूर्ण क्रिस्टल का निर्माण होता है एकक कोष्ठिका या इकाई सैल कहलाता है , अर्थात एकक कोष्ठिका किसी क्रिस्टल का सबसे छोटा भाग होता है या हम कह सकते है एकक कोष्ठिका किसी ठोस की आधारभूत और सबसे छोटा आयतन घेरने वाली संरचना होती है।
निचे एक क्रिस्टल जालक का चित्र दर्शाया गया है इसमें एकक कोष्ठिका को गहरे काले रंग द्वारा प्रदर्शित किया गया है –

एकक कोष्ठिका या इकाई सेल के पैरामीटर (parameters of unit cell)

किसी भी एकक कोष्ठिका को प्रदर्शित करने के लिए कुछ पैरामीटर की आवश्यकता होती है , एकक कोष्ठिका के इन पैरामीटर को उसके अभिलक्षण गुण भी कहा जा सकता है।
ये पैरामीटर एकक कोष्ठिका की किनारों की लम्बाई और कोष्ठिका के किनारों के मध्य बना कोण होते है।
एकक कोष्ठिका के किनारों की लम्बाई को अक्षीय दूरी कहते है और किनारों के मध्य बने कोण को अक्षीय कोण कहते है , इन दोनों को निम्न प्रकार परिभाषित किया जाता है –
एकक कोष्ठिका के तीन किनारें होते है जिन्हें अक्षीय दूरी कहते है और इन्हें a , b और c द्वारा व्यक्त किया जाता है ये तीनों अक्ष या किनारें एक दुसरे के लम्बवत होते है।
एकक कोष्ठिका के किनारों अर्थात अक्षों के मध्य बने कोण को अक्षीय कोण कहते है इन्हें यहाँ α , β, γ द्वारा व्यक्त किया जाता है।
एकक कोष्ठिका के पैरामीटर को चित्र में प्रदर्शित किया गया है –

 एकक कोष्ठिका या इकाई सेल या यूनिट सैल के प्रकार (types of unit cell)

इन्हें दो भागों में बांटा गया है –
1. आद्य एकक कोष्ठिका (primitive unit cell)
2. केन्द्रित एकक कोष्ठिका (centred unit cell)
अब हम यहाँ इनके बारे में विस्तार से अध्ययन करते है –
1. आद्य एकक कोष्ठिका (primitive unit cell)
वह एकक कोष्ठिका या इकाई सेल जिसमें अवयवी कण या जालक बिंदु , कोष्ठिका के कोनों पर उपस्थित होते है , उसे आद्य एकक कोष्ठिका या सरल एकक कोष्ठिका कहते है।
2. केन्द्रित एकक कोष्ठिका (centred unit cell)
जब किसी इकाई सेल या एकक कोष्ठिका में अवयवी कण कोनों के अलावा अन्य स्थितियों पर भी स्थित हो तो इन्हें केन्द्रित एकक कोष्ठिका कहते है।
केंद्रित एकक कोष्ठिका को तीन भागों में बांटा गया है –
i. अंत: केंद्रित एकक कोष्ठिका (body centred unit cell)
ii. फलक केंद्रित एकक कोष्ठिका (face centred unit cell)
iii. अन्त्य: केन्द्रित एकक कोष्ठिका (end centred unit cell)
i. अंत: केंद्रित एकक कोष्ठिका (body centred unit cell)
जब एकक कोष्ठिका में अवयवी कण कोनो के अतिरिक्त इसके केंद्र में भी स्थित हो तो इसे अंत: केंद्रित एकक कोष्ठिका कहते है।
ii. फलक केंद्रित एकक कोष्ठिका (face centred unit cell)
वह एकक कोष्ठिका जिसमें अवयवी कण इसके कोनों के अतिरिक्त इसके सभी फलको पर भी स्थित हो तो इसे फलक केंद्रित एकक कोष्ठिका कहते है।
iii. अन्त्य: केन्द्रित एकक कोष्ठिका (end centred unit cell)
जब एकक कोष्ठिका के अवयवी कण इसके कोनों के अतिरिक्त किन्ही दो विपरीत फलको पर भी स्थित हो तो इसे अन्त्य: केन्द्रित एकक कोष्ठिका कहा जाता है।