एकल कोशिका प्रोटीन (SCP) & ऊतक संवर्धन (tissue culture)

ऊतक संवर्धन (tissue culture)  एकल कोशिका प्रोटीन (SCP) in hindi

पशु एवं मानव के पोषण के लिए सूक्ष्म जीवों का प्रोटीन स्रोत के रूप में उपयोग करना एकल कोशिका प्रोटीन कहलाता है।

जैसे:-1:- मशरूम उत्पादन स्पाइरूलाइना

 महत्व:-

1 यह सम्पूर्ण पोषक आहार है इसमें प्रोटीन कार्बोहाइड्रेड, वसा, विटामिन, खनिज  लवण पाये जाते है।

2 इसे किसी भी स्थान पर जैसे:- पशु खाद्य व मल आदि पर उगाया जा सकता  है।

3 इससे प्रदूषण कम होता है।

4 हर प्रकार के मौसम में आता है।

2- 250 कि.ग्राम गाय – 250 ग्राम प्रोटीन/क्ंल

सूक्ष्म जीव:- मिथइलोम्लिस मिथाइलोसेपस

250 ग्राम:- 25 टन प्रोटीन/क्ंल

 ऊतक संवर्धन (tissue culture):-

किसी कोशिका ऊतक या अंग का पोष माध्यम की उपस्थिति में पत्ते संवर्धन की क्रिया को ऊतक संवर्धन कहते है।

पादप के जिस भाग का संवर्धन हेतु प्रयोग किया जाता है उसे कर्तोतक कहते है। कर्तोतक किसी भी अन्य कोशिका ऊतक अंग का निर्माण कर सकता है। इस गुण को पूर्ण शक्यता टोरीपोटेन्सी कहते है। कर्तोतक को एक पोष माध्यम मे ंरखते है जिसमें कार्बोनिक पदार्थ जैसे सुक्रोस, अमीनो अम्ल अकार्बोनिक लवण, विटामिन तथा वृद्धि नियामक पदार्थ जैसे आॅम्सीजनसाइटोकाइनीन होते है।

 अनुप्रयोग (महत्व):-

1 सूक्ष्म प्रवर्धन:-

हजारों की संख्या में पादप उत्पादन की क्रिया को सूक्ष्म प्रवर्धन कहते है। इस प्रकार बने नये पादप आपस में आनुवाँशिक रूप से समान होते है इसीलिए उन्हें सोमाक्लोन कहते है।

उदाहरण:- सेव, केला, गूलदाउदी।

2 विषाणुयुक्त पौधे:-

पादप के वायरस से संक्रमित होने पर भी प्रायः शीर्ष एवं पाश्र्वीय विभज्योतक पर वायरस का संक्रमण नहीं होता। अतः शीर्षस्थ विभज्योतक के ऊतक संवर्धन

उदाहरण:- आलू, केला, गन्ना।

3ण् प्रोटोप्लास्ट संलयन या कायिक संकरण:-

कोशिका भिति रहित पादप कोशिका को प्रोटोप्लास्ट कहते है इस प्रकार के दो प्रोटोप्लास्ट के संयोग की क्रिया को प्रोटोप्लास्ट संलयन कहते है।

इसमें क्रमिक कोशिका आपस में संलयित होती है इसे कायिक संकरणभी कहते है।

उदाहरण:- आलू X टमाटर

पोमेटो

इसमें व्यावसायिक उत्पादन अभी तक संभव नहीं हो सका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *