चूना पत्थर का क्या उपयोग है किस उद्योग में होता है चूना पत्थर किस प्रदेश में पाया जाता है limestone is used to in hindi

By   May 31, 2021

limestone is used to in hindi चूना पत्थर का क्या उपयोग है किस उद्योग में होता है चूना पत्थर किस प्रदेश में पाया जाता है ?

चूना पत्थर (Lime Stone)
यह पर्तदार चट्टानों में मिलता है और विविध प्रकार के कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है। कुल उपयोग का 75 प्रतिशत सीमेन्ट उद्योग, 16 प्रतिशत लोहा-इस्पात उद्योग तथा 4 प्रतिशत रसायन उद्योग में प्रयोग किया जाता है। शेष को कागज, चीनी, उर्वरक, कांच, रबड़ आदि उद्योगों में प्रयोग किया जाता है। देश में चूना पत्थर के सभी प्रकार और सभी वर्ग का कुल अनुमानित भण्डार 175345 मिलियन टन आंका गया है। आंध्र प्रदेश में सर्वाधिक चूना पत्थर के भण्डार हैं। राजस्थान, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, गुजरात, उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु में भी चूना पत्थर के भंडार हैं।
देश में तेजी से उन्नति और औद्योगीकरण के कारण चूना पत्थर का उत्पादन तथा उपयोग बहुत तेजी से बढ़ा है। चूना पत्थर का उत्पादन
यद्यपि लगभग सभी राज्यों में चूना पत्थर का उत्पादन किया जाता है तथापि छः राज्य आंध्र प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ तथा तमिलनाडु मिलकर देश का लगभग तीन-चैथाई चूना पत्थर पैदा करते हैं (तालिका 2.17 )।
1. आंध्र प्रदेश: भारत का 18 प्रतिशत से भी अधिक चूना पत्थर का उत्पादन करके आंध्र प्रदेश देश का सबसे बड़ा उत्पादक है। यहाँ पर देश के तीन-चैथाई सीमेन्ट ग्रेड के भण्डार उपलब्ध हैं। अधिकांश भण्डार कुडप्पा, कर्नूल, गुन्टूर, कृष्णा, नालगोंडा, आदिलाबाद, वारंगल, महबूबनगर तथा करीमनगर जिलों में हैं।
2. राजस्थान: राजस्थान में देश के 6% भण्डार हैं और यह राज्य देश का 15ः से अधिक चना पत्थर पैदा करता है। झुनझुनू, बांसवाड़ा, जोधपुर, सिरोही, बून्दी, अजमेर, बीकानेर, डुंगरपुर, कोटा, टोंक, अलवर, सवाई माधोपुर चित्तौड़गढ़, नागौर, उदयपुर तथा पाली मुख्य उत्पादक जिले हैं।
3. मध्य प्रदेश: यह भारत का तीसरा बड़ा चूना पत्थर का उत्पादक है। जबलपुर, सतना, बेतूल, सागर तथा रीवा जिलों में विस्तृत भण्डार हैं। कुल भण्डार 1500 मिलियन टन होने का अनुमान है।
4. गुजरात: गुजरात में देश के 11 प्रतिशत भण्डार हैं और यह 11 प्रतिशत ही उत्पादन करता है। बनासकांठा जिले में उच्च कोटि का चूना पत्थर मिलता है। अन्य मुख्य उत्पादक अमरेली, कच्छ, सूरत, जूनागढ़, खेड़ा तथा पंचमहल हैं।
5. छत्तीसगढ़: यह राज्य देश का लगभग 9 प्रतिशत चूना पत्थर पैदा करता है। बस्तर, बिलासपुर, रायगढ़ रायपुर तथा दुर्ग जिलों में चूना पत्थर के भण्डार मिलते हैं।
6. तमिलनाडु: रामनाथपुरम्, तिरुनेलवेली, तिरुचिरापल्ली, सलेम. कोयम्बटूर, मदुरै तथा तंजावुर जिलों में बड़े पैमाने पर चूना पत्थर के भण्डार मिलते हैं जिस कारण से यह राज्य का लगभग 9 प्रतिशत चूना पत्थर पैदा करने में समर्थ है।
7. कर्नाटक: गुलबर्गा, बीजापुर, तथा शिमोगा जिलों में भारत के लगभग एक-तिहाई सीमेन्ट ग्रेड के भण्डार मिलते हैं। इस समय कर्नाटक देश का 7 प्रतिशत से अधिक चूना पत्थर पैदा कर रहा है।

सीसा और जस्ता (Lead and Zinc)
सीसा और जस्ता के भण्डार राजस्थान, बिहार, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, उड़ीसा, महाराष्ट्र, मेघालय, तामिलनाडु तथा सिक्किम में पाए जाते हैं। भारत में 1994-95 में सीसे का उत्पादन 52 हजार टन था जो 2007-08 में बढ़कर 107 हजार टन हो गया। राजस्थान सीसा एवं जस्ता का सबसे बड़ा उत्पादक है। सन् 2005-06 में भारत का समस्त सीसा राजस्थान से प्राप्त हुआ था। भारत में जस्ते का उत्पादन सन् 1994-95 में 268.8 हजार टन था, जो 2005-06 में बढ़कर 8932 हजार टन अर्थात् तीन गुना से भी अधिक हो गया। लगभग सारे का सारा जस्ता राजस्थान से प्राप्त होता है।