ibwm ka full form in hindi | ibwm का पूरा नाम क्या है किसे कहते है परिभाषा International Bureau of Weights and Measures in hindi

By  

International Bureau of Weights and Measures in hindi ibwm ka full form in hindi | ibwm का पूरा नाम क्या है किसे कहते है परिभाषा ?

फुल फॉर्म : IBWM का पूरा नाम “International Bureau of Weights and Measures” है और इसे हिंदी में “वज़न और माप के अंतर्राष्ट्रीय ब्यूरो” अर्थात ‘अन्तर्राष्ट्रीय मापतौल ब्यूरो’ कहते है |

1. यान्त्रिकी
 साइंस (Science) शब्द की उत्पत्ति किस शब्द से हुई ?
-लैटिन शब्द ‘सिंटिया‘ (Scientia) से
 सिटिंया शब्द का क्या अर्थ है? -ज्ञान (Knowledge) या जानना
 विज्ञान की वह शाखा जिसके अन्तर्गत द्रव्य (Matter) तथा ऊर्जा (Energy) और उनकी परस्पर क्रियाओं का अध्ययन किया जाता है क्या कहलाती है? -भौतिकी
 जिसे संख्या के रूप में प्रकट किया जा सके उसे क्या कहते हैं?
-राशि
 किसी राशि को मापने के लिए, उस राशि की निश्चित पर्याप्त मात्रा लेकर, एक मानक मान लेते हैं जो उस राशि का क्या कहलाता है?
-मात्रक
 जब कोई दी गई राशि मात्रक के रूप में मापी जाती है तो यह प्रक्रिया क्या कहलाती है?
-मापन
 किसी भौतिक राशि को व्यक्त करने के लिए कुछ ऐसे मानकों का प्रयोग किया जाता है, जो अन्य मात्रकों से स्वतंत्र होते हैं. क्या कहलाते हैं?
-मूल मात्रक
 कौन-सी पद्धति मीट्रिक पद्धति कहलाती है? -CGS पद्धति
 कौन-सी पद्धति ब्रिटिश पद्धति कहलाती है? – FPS पद्धति
 SI का पूरा नाम क्या है?
– Systeme International d’k~ Units
 लम्बाई का मूल मात्रक क्या है? -मीटर
 1 मीटर दूरी को प्रकाश निर्वात् में कितने समय में पूरी करता है?
-1/299492758 सेकण्ड

SI के कुछ व्युत्पन्न मात्रक
भौतिक राशि विमीय सूत्र SI मात्रक संकेत भौतिक राशि विमीय सूत्र SI मात्रक संकेत
ऽ क्षेत्रफल [L2]  मीटर2 m2
ऽ आयतन [L3] मीटर3 m3
ऽ घनत्व [ML.3] क्रिग्रा/मी3 ाहउ.3
ऽ वेग [LT-1] मी/से ms-1
ऽ त्वरण [LT-2] मी/से2 ms-2
ऽ बल [MLT-2] न्यूटन N
ऽ कार्य या ऊर्जा [ML2 T-2] जूल J
ऽ शक्ति [ML2 T-3] वाट W
ऽ संवेग [MLT-1] किग्रा मी/से kgms-1
ऽ कोण विमाहीन, रेडियन rad
ऽ कोणीय वेग [T-1] रेडियन/से rads-1
ऽ कोणीय त्वरण [T-2] रेडियन/से2 rads-2
ऽ आवृत्ति[T-1] हर्ट्ज़ Hz
ऽ बल-आघूर्ण [ML2 T-2] न्यूटन-मी Nm
ऽ जड़त्व-आघूर्ण [ML2] किग्रा-मी2 kgm2 s-1
ऽ कोणीय संवेग [ML2 T-1] किग्रा मी2/से kgm2
ऽ गुरूत्वीय क्षेत्र तीव्रता [LT-2 ] मी/से2 ms-2
ऽ दाब [ML-1 T-2] न्यूटन/से2 Nm-2
ऽ विशिष्ट ऊष्माधारिता [L2 T-2 K-1] जूल/किग्रा-केल्विन Jkg-1 K-1 · विशिष्ट गुप्त ऊष्मा [L2 T-2] जूल/क्रिग्रा Jkg-1
ऽ आवेश [IT] कूलाम्ब C
ऽ वैद्युत-क्षेत्र तीव्रता [I-1MLT-3] वोल्ट/मी Vm-1
ऽ वैद्युत विभव या [ML2I-1T3] वोल्ट V
ऽ वि. वा. बल
ऽ विद्युत् द्विध्रुव आघूर्ण [ITL] कूलाम्ब मी Cm
ऽ धारिता [M-1L-2 I2 T4] फैराड F
ऽ प्रतिरोध [ML2 T3] ओम
ऽ प्रतिरोधकता [I-2ML3T3] ओम मी Ohm m
ऽ प्रेरकत्व[I-2ML2T-2] हेनरी H
ऽ चुम्बकीय क्षेत्र [I-2ML-2] टेसला या T या
वेबर मी2 Wbm-2
ऽ चुम्बकीय द्विध्रुव [IL2] ऐम्पियर मी2 Am-2
आघूर्ण
ऽ चुम्बकशीलता [I-2 MLT-2] हेनरी/मी Hm-1
ऽ विद्युत्शीलता [I-2 M-1L-3T4] फैराड/मी Fm-1
प्लांक नियतांक [ML2 T-1] जूल-से J-s

 द्रव्यमान का मूल मात्रक क्या है? -किलोग्राम
 ताप का मूल मात्रक कौन सा है? ्-केल्विन
 खगोलीय इकाई किसे कहते हैं? – सूर्य और पृथ्वी के बीच की
माध्य दूरी को खगोलीय इकाई कहते हैं
 निर्वात् में प्रकाश के द्वारा एक वर्ष में चली गयी दूरी क्या कहलाती है?
-प्रकाश वर्ष
 एक प्रकाश वर्ष किसके बराबर होती है? -9.46 1015 मीटर
 पारसेक (Parsec) क्या है?-यह दूरी नापने की सबसे बड़ी इकाई है
 किसी वस्तु द्वारा किसी समय अन्तराल में तय किए गये मार्ग की लम्बाई को क्या कहते हैं? -दूरी
 किसी वस्तु की प्रारम्भिक तथा अन्तिम स्थिति के अन्तर को क्या कहते हैं? -विस्थापन
 किसी गतिशील वस्तु द्वारा एकांक समय में चली गई दूरी को क्या कहते हैं ? -चाल
 एकांक समय में कोई वस्तु एक निश्चित दिशा में जितनी विस्थापित होती है उसे क्या कहते हैं? -वस्तु का वेग
 वेग परिवर्तन की दर को क्या कहते हैं? -त्वरण
 कार्य का मात्रक क्या है? -जूल
 प्रकाश वर्ष किसकी इकाई है? -दूरी की
 कौन-सी मात्रा जड़त्व का माप है? -द्रव्यमान
 पारसेक (Parsec) किसकी इकाई है? – दूरी की
 दो वेक्टर (Vector) जिनका मान अलग है क्या उनका परिणामी शन्य हो सकता है? -उनका परिणामी शून्य नहीं हो सकता

S.I. के सात मूल मात्रक
राशि मूल मात्रक पारिभाषा
ऽ लम्बाई मीटर S.I. में लम्बाई का मूल मात्रक मीटर है। 1 मीटर वह दूरी है जिसे प्रकाश निर्वात् में 1/299792458 सेकण्ड में पूरी करता है।

ऽ द्रव्यमान किलोग्राम फ्रांस के सेवरिस नामक स्थान पर मापतौल के अन्तर्राष्ट्रीय मापतौल ब्यूरो (IBWM) में सुरक्षित रखे लेटिनम-इरीडियम मिश्रधातु के बने हुये बेलन के द्रव्यमान को मानक किलोग्राम कहते हैं। इसे संकेत में किग्रा (kg) लिखते है।
ऽ समय सेकण्ड सीजियम-133 परमाणु की मूल अवस्था के दो निश्चित ऊर्जा स्तरों के बीच संक्रमण (Transition) से उत्पन्न विकिरण के 9192631770 आवर्तकालो की अवधि को । सेकण्ड कहते है आइन्सटाइन ने अपने सापेक्षता के सिद्धान्त (TransitionTheory of relativity) में समय को चतुर्थ विमा (fourth dimension) के रूप में प्रयुक्त किया।
ऽ विद्युत्धारा ऐम्पियर यदि दो लम्बे और पतले तारों को निर्वात में एक मीटर की दूरी पर एक-दूसरे के समान्तर रखा जाए और उनमें ऐसे परिमाण की समान विद्युत्धारा प्रवाहित की जाये जिरासे तारों के बीच प्रति मीटर लम्बाई में 2×10-7 न्यूटन का बल लगे। तो विद्युतधारा के उस परिमाण को 1 ऐम्पियर कहा जाता है।
ताप केल्विन जल के त्रिक बिन्द (triple point) के ऊष्मा-गतिक ताप के 1/273.16 वे भाग को केल्विन कहते है। इसका प्रतीक K होता है।
ज्येति
तीव्रता केण्डेला किसी निश्चित दिशा में किसी प्रकाश
स्रोत की ज्योति तीव्रता 1 केण्डेला तब कही जाती है, जब यह स्रोत उस दिशा में 540×1012 हर्ट्ज का तथा 1/683 वाट/स्टेरेडियन तीव्रता का एक वर्णीय प्रकाश उत्पन्न करता है।
 पदार्थ
की मात्रा मोल एक मोल पदार्थ की वह मात्रा है,
जिसमें उसके अवयवी तत्वों (परमाणु अणु आदि) की संख्या 6-023×1023 होती है। इस संख्या को ऐवोगेड्रो नियताक कहते हैं।

गुरुत्वाकर्षण का सार्वत्रिक नियम
विश्व का प्रत्येक पिण्ड प्रत्येक अन्य पिण्ड को एक बल से आकर्षित करता है, जो दोनों पिण्डो के द्रव्यमानों के गुणनफल के समानुपाती तथा उनके बीच की दूरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होता है।

किन्हीं दो एकसमान पिण्डों के बीच गुरुत्वाकर्षण बल उनके केन्द्रों को मिलाने वाली रेखा की दिशा में निर्देशित होता है।
यह नियम सार्वत्रिक इस अभिप्राय से है कि यह सभी वस्तुओं पर लागू होता है, चाहे ये वस्तुएँ बड़ी हों या छोटी, चाहे ये खगोलीय हो या पार्थिव।

 ब्रह्माण्ड में प्रत्येक कण दूसरे कण को केवल अपने द्रव्यमान के कारण हो आकर्षित करता है तथा किन्हीं भी दो कणों के बीच इस प्रकार के आकर्षण को क्या कहते हैं? -गुरुत्वाकर्षण बल
 त्वरण ज्ञात करने का सही सूत्र कौन-सा है?
 पदार्थ के संवेग और वेग के अनुपात से कौन-सी भौतिक राशि प्राप्त की जाती है? -दव्यमान
 शून्य में स्वतंत्र रूप से गिरने वाली वस्तुओं का क्या समानता होती है?
-उनका त्वरण समान होता है
 एक लड़की झूले पर जैसी स्थिति में झूला झूल रही है। उस लड़की के खड़े हो जाने पर दोलनों के आवर्त काल पर क्या अन्तर पड़ेगा?
-कम हो जाएगा
 घूर्णन करती एक गोल मेज पर अचानक एक लड़का आकर बैठ जाता है। मेज के कोणीय वेग पर क्या प्रभाव पड़ेगा? -कम हो जाएगा़
 किसी पिण्ड के द्रव्यमान तथा भार में अन्तर होता है, क्योंकि
-द्रव्यमान स्थिर रहता है, जबकि भार परिवर्तनीय होता है
 ‘‘किसी भी स्थिर या गतिशील वस्तु की स्थिति और दिशा में तब तक कोई परिवर्तन नहीं होता जब तक उस पर कोई बाह्य बल सक्रिय न हो‘‘, यह किसका नियम है? -न्यूटन का गति विषयक प्रथम नियम
 किसी असन्तुलित बल द्वारा किसी पिण्ड में उत्पन्न त्वरण के बीच क्या सम्बन्ध है? -बल के अनुक्रमानुपाती होता है