WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

खाद्य श्रृंखला परिभाषा क्या है food chain definition in hindi

खाद्य श्रृंखला परिभाषा (food chain definition) :किसी परितंत्र में उत्पादक से उच्च उपभोक्ता ताकि खाद्य पदार्थों या खाद्य ऊर्जा के स्थानांतरण के क्रमबद्ध प्रवाह के पथ को खाद्य श्रंखला कहते हैं |

खाद्य श्रंखला दो प्रकार की होती है

  1. चारण खाद्य श्रंखला :

उदाहरण : घास → बकरी → मनुष्य

 उत्पादक → प्राथमिक उपभोक्ता → द्वितीयक उपभोक्ता

इस प्रकार के खाद्य श्रंखला हरे पादप अथवा उत्पादकों से आरंभ होकर छोटे-छोटे शाकाहारी जीवो से मांसाहारी बड़े जीवो पर आधारित होती है यह खाद्य श्रंखला सौर ऊर्जा पर आधारित होती है |

एक घास वन पारितंत्र की खाद्य श्रृंखला निम्नलिखित प्रकार से है

घास → टिड्डा → मेंढक → सांप → मोर

उत्पादक → प्राथमिक उपभोक्ता → द्वितीयक उपभोक्ता → तृतीयक उपभोक्ता → चतुर्थ उपभोक्ता

(2) अपरद खाद्य श्रंखला :

यह खाद्य श्रंखला मृत पादपों में जंतुओं के मृत अवशेष अर्थार्थ अपरद से शुरू हो कर छोटे उपभोक्ताओं की ओर अग्रसर होती है , मृत जीवों के कार्बनिक पदार्थों से पोषण प्राप्त करने के कारण इन छोटे उपभोक्ताओं या अपघटन को मृतकोशी पूर्ति जीवी के नाम से जाना जाता है | यह खाद्य श्रंखलाएं छोटी होती है |

मृत जंतुओं या पादप अवशेष ( अपरद) → केंचुआ → मेंढक → सर्प → मोर

खाद्य जाल(Food net) :

अनेक खाद्य श्रंखलाएं भोजन के लिए आपस में जटिल रूप से एक जाल का निर्माण करती है जिसे खाद्य जाल कहते हैं , जैसे अपरद खाद्य श्रंखला के कुछ जीव चारण खाद्य श्रंखला के पशुओं के शिकार बन जाते हैं |

अन्य उदाहरण में जैसे : एक प्राकृतिक पारिस्थितिकी तंत्र में कुछ जीव जैसे कॉकरोच व कांचे सर्वभक्षी होती है अतः इन की खाद्य श्रंखला बनाना असंभव होता है

खाद्य श्रंखला के उत्पादकों एवं उपभोक्ताओं के विभिन्न स्तरों को पोषण स्तर कहते हैं |

पारिस्थितिकी तंत्र के घटक(Components of the ecosystem):

  1. अजैविक घटक : ताप , प्रकाश , जल , वायु , वर्षा , वातावरणीय गैसे , खनिज (P, S , Ca आदि)
  2. जैविक घटक :
  • उत्पादक : पादप सौर ऊर्जा ग्रहण करके खाद्य पदार्थ निर्मित करते हैं अतः उत्पादक कहलाते हैं |

उपभोक्ता : वह प्राणी जो पादपों से आहार पूर्ति करती हैं प्राथमिक उपभोक्ता( शाकाहारी) कहलाते हैं , प्राथमिक उपभोक्ताओं से द्वितीयक उपभोक्ता ( मांसाहारी) , आहार पूर्ति करते हैं तृतीयक उपभोक्ता ( सवोच्च मांसाहारी) दित्य उपभोक्ताओं को खाकर आहार पूर्ति करते हैं |

One comment

Comments are closed.