ऊर्जा स्तर किसे कहते हैं | energy level in hindi definition meaning ऊर्जा स्तर क्या होता है मीनिंग

By  

energy level in hindi definition meaning ऊर्जा स्तर किसे कहते हैं ऊर्जा स्तर क्या होता है मीनिंग ?

रसायन विज्ञान

परमाणु के विभिन्न ऊर्जा स्तर
परमाणु में उपस्थित कक्षाओं (या कोशों) को ऊर्जा स्तर कहते हैं। नीचे चित्र में किसी परमाणु के ऊर्जा स्तरों को प्रदर्शित कया गया है –

p उपकक्षा में अधिकतम कितने इलेक्ट्रॉन रह सकते हैं? -6
d उपकक्षा में अधिकतम कितने इलेक्ट्रॉन रह सकते हैं? -10
नाभिक के सबसे निकट वाले शेल (n = 1) को किस अक्षर द्वारा व्यक्त करते हैं ? -K
नाभिक के किस शैल की ऊर्जा सबसे कम होती है?
-नाभिक के सबसे निकट वाले शैल की
नाभिक के किस शेल की ऊर्जा सबसे अधिक होती है?
-परमाणु के बाह्यतम शैल की
f उपकक्षा में अधिकतम इलेक्ट्रॉनों की संख्या कितनी होती है?
-अधिकतम 14
‘S’ उपकक्षा का आकार कैसा होता है? -वृत्तीय

प्रमुख क्वाण्टम संख्याएं
क्वाण्टम संख्या प्रतीक तथ्य ज्ञान
ऽ चक्रण क्वाण्टम संख्या
ऽ चुम्बकीय क्वाण्टम संख्या
ऽ दिगंशी क्वाण्टम संख्या
ऽ मुख्य क्वाण्टम संख्या द
I
m
s इलेक्ट्रॉन का ऊर्जा स्तर
इलेक्ट्रॉन का उपकोश
इलेक्ट्रॉन का कक्षक
इलेक्ट्रॉन का चक्रण
‘p’ उपकक्षा की आकृति कैसी होती है? -डमरू की आकृति
‘d’ उपकक्षा की आकृति कैसी होती है? -द्वि डमरू के आकार की
कक्षाओं एवं उपकक्षाओं में इलेक्ट्रॉनों के वितरण को क्या कहते हैं?
-इलेक्ट्रॉनिक विन्यास
रसायन विज्ञान से सम्बन्धित खोजें
वैज्ञानिक खोज
ऽ बोर (Bohr) परमाणु मॉडल, आवर्त सारणी
का विस्तृत स्वरूप
ऽ बर्जीलियस (Bu=elius) उत्प्रेरक
ऽ बेकरेल (Becquerrel) रेडियोधर्मिता
ऽ चौडविक (Chadwick) न्यूट्रॉन
ऽ डी ब्रॉगली (de Broglie) इलेक्ट्रॉन की तरंग प्रकृति
ऽ फैराडे (Faraday) विद्युत् अपंघटन का सिद्धान्त
ऽ मैडम क्यूरी एण्ड एफ. जोलिऑट कृत्रिम रेडियोधर्मिता
(Madam Curie and F- Joliot)
ऽ लिबी (Libby) रेडियोधर्मी तिथि
ऽ लारेन्स (Lwarence) साइक्लोट्रॉन
ऽ मैंडलीफ (Mendelefe) आवर्त सारणी
ऽ मिलिकन (Mulliken) इलेक्ट्रॉन आवेश
ऽ मॉडले (Modley) आधुनिक आवर्त सारणी
ऽ ऑस्वाल्ड (Ostwald) कमजोर विद्युतअपघटकों के नियम
ऽ प्लैंक (Planck) प्रकाश का तरंगीय सिद्धान्त
ऽ रदरफोर्ड (Rutherford) न्यूट्रॉन की खोज
ऽ रोन्टजन (Roentzen) एक्स-किरणों की खोज
ऽ रेले-रामसे (Rayleigh-Ramsay) आर्गन की खोज
ऽ रामसे-ट्रेवर्स (Ramsay-Travers) नियॉन, क्रिप्टॉन एवं जेनॉन की खोज
ऽ सोरेन्सन (Sorenson) pH
ऽ शुल्जे-हार्डी (Schulze-Hardly) विद्युतीय अपघटन से जमाव
ऽ थॉमसन (Thomson) इलेक्ट्रॉन की खोज
ऽ टिन्डल (Tyndall) ठोस कणों से प्रकाश का प्रकीर्णन
कैल्सियम का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास क्या होता है?
-Ca;20)=1s2,2 s2,2p6,3s2,3p6,4s2
संयोजी इलेक्ट्रॉनों की ऊर्जा परमाणु में उपस्थित अन्य इलेक्ट्रॉनों की अपेक्षा कम होगी अथवा अधिक? -अधिक
किसी तत्व के परमाणु के संयोजी इलेक्ट्रॉन द्वारा उस तत्व के बारे में पता चलता है? -तत्व की संयोजकता
विभिन्न तत्त्वों के संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या यदि समान हो तो उस तत्वों में क्या समानता होगी? -रासायनिक गुण समान होंगे
किसी तत्त्व के संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या का आवर्त सारणी से क्या सम्बन्ध है? -किसी तत्व में संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या आवर्त
सारणी में उस तत्व की वर्ग संख्या के बराबर होती है
रासायनिक अभिक्रिया में कौन से इलेक्ट्रॉन भाग लेते हैं?
-संयोजी इलेक्ट्रॉन
कौन सा ऐसा तत्व है जिसके समस्थानिकों के अलग-अलग नाम है।
-हाइड्रोजन
कौन से कणों के उत्सर्जन से रेडियो सक्रिय तत्वों के समभारिक बनते हैं। -β-कण
3. रेडियोधर्मिता
रेडियोधर्मिता की खोज सर्वप्रथम किस वैज्ञानिक ने की ?
-हेनरी बैक्वेरल
रेडियोधर्मिता किसका गुण है ? -नाभिक का
रेडियोधर्मी परिवर्तन में कौन भाग लेता है ? -परमाणु का नाभिक
किसी परमाणु के स्थायी नाभिक में प्रोटॉनों की संख्या कितनी होती है ?
-न्यूट्रॉनों की संख्या से कम
रेडियोधर्मिता की इकाई क्या है ? -क्यूरी
β-किरणें किस प्रकार का आवेश वहन करती हैं ? -ऋणात्मक
गामा किरणें क्या हैं ? -उच्च ऊर्जा वाली विद्युत्-चुम्बकीय तरंगें
किन किरणों की वेधन क्षमता सबसे अधिक है ? -γ-किरणों की
किन किरणों की आयनन क्षमता सबसे कम होती है? -γ-किरणों की
किन किरणों की आयनन क्षमता सबसे अधिक होती है ?
-α-किरणों की
समस्त रेडियोधर्मी पदार्थ क्षय होने के पश्चात् किसमें अन्तिम रूप से बदल जाते हैं ? -सीसा
किन किरणों की वेधन क्षमता सबसे कम है ? -α-किरणों की
किस रेडियोएक्टिव तत्व का नाम उसके खोजकर्ता के देश के नाम पर रखा गया है ? -पोलोनियम
एक β-कण के उत्सर्जन से परमाण संख्या तथा परमाण द्रव्यमान में क्या परिवर्तन होता है ?
-परमाणु क्रमांक में 1 की वृद्धि व परमाणु द्रव्यमान अपरिवतित
एक α-कण के उत्सर्जन से परमाणु क्रमांक और परमाणु द्रव्यमान में क्या परिवर्तन होता है ?
-परमाणु क्रमांक में 2 तथा परमाणु द्रव्यमान में 4 की का
अल्फा किरणों पर उपस्थित आवेश कितना है ?-दो इकाई धन आवेश
8-किरणें किसकी बनी होती हैं ? -ऋण आवेशित कणों की
किसके उत्सर्जन से समभारिक (Isobars) का निर्माण होता है ?
-बीटा किरण
किसके उत्सर्जन से किसी तत्व का परमाणु क्रमांक एक बढ़ता है ?
-बीटा कण
ऋणात्मक आवेश किसमें होता है ? -बीटा किरण
इलेक्ट्रॉन के समरूप कौन है ? -β-कण
समान ऊर्जा की अल्फा किरणों की तुलना में बीटा किरणों की बंधन क्षमता अधिक क्यों होती है ? -क्योंकि β-किरणों का द्रव्यमान
नगण्य होने से उनका वेग अधिक होता है
अल्फा और बीटा किरणों की खोज किसने की ? -रदरफोर्ड
किस वैज्ञानिक ने गामा किरणों की खोज की ? -रदरफोर्ड
हीलियम नाभिक के समकक्ष कौन रेडियोसक्रिय किरण होती है ?
-एल्फा किरण
परमाणु शक्ति संयन्त्र किस सिद्धान्त पर काम करता है ? -विखण्डन
किस प्रकार की अभिक्रिया से सबसे अधिक हानिकारक विकिरण पैदा होता है ? -विखण्डन अभिक्रिया
सूर्य से ऊर्जा किस प्रकार उत्सर्जित होती है ?
– नाभिकीय संलयन द्वारा
विभिन्न तत्वों में न्यूट्रॉनध्प्रोटान अनुपात
एवं
उनकी रेडियोसक्रियता
तत्व प्रोटॉनोंकी
संख्या (P) न्यूट्रॉनों की
संख्या (N) अनुपात
(N/P) निष्कर्ष

;_6^12)C

;_7^14)N

;_8^16)O

;_20^40)Ca

;_12^24)Mg

;_92^235)U

;_88^226)Ra

;_4^7)Be 6

7

8

20

12

92

88

4 6

7

8

20

12

143

138

3 6/6 =1
7/7 =1
8/8 =1
20/20 =1
12/12 =1
143/92 =1-55
138/88 =1-56

3/4 = 0.75 रेडियोसक्रिय नहीं है

रेडियोसक्रिय नहीं है

रेडियोसक्रिय नहीं है

रेडियोसक्रिय नहीं है

रेडियोसक्रिय नहीं है

रेडियोसक्रिय है

रेडियोसक्रिय है

रेडियोसक्रिय नहीं है

 

कौन-सा पदार्थ नाभिकीय रिएक्टर में मंदक का काम करता है ?
-भारी जल
विखण्डन की प्रक्रिया किसके लिए उत्तरदायी होती है ?
-परमाणु बम में ऊर्जा मुक्त करने के लिए
कोबाल्ट-60 आमतौर पर विकिरण चिकित्सा में प्रयुक्त होता है, क्योंकि यह उत्सर्जित करता है -गामा किरणें
रासायनिक एवं नाभिकीय अभिक्रियाओं में अन्तर
रासायनिक अभिक्रिया
(Chemical reaction) नाभिकीय अमिक्रिया
(Nuclear reaction)
ऽ इसमें परमाणु के बाहर इलेक्ट्रॉनों की पुनर्व्यवस्था होती है, लेकिन परमाणु के नाभिक अप्रभावित रहते हैं।
ऽ उत्क्रमणीय (Reversible) या अनुत्क्रमणीय (Irreversible) दोनों में कोई प्रतिक्रिया हो सकती है।
ऽ इस पर अभिकारकों की भौतिक अवस्था (दाब, ताप आदि) तथा बाह्य अवस्थाओं का काफी प्रभाव पड़ता है। इसमें परमाणु का नाभिक प्रभावित होता है, नाभिक में प्रोटॉनों की संख्याएँ बदल जाती हैं और नये
नाभिक का सृजन होता है।
अनुत्क्रमणीय होती है।

यह अभिक्रिया अभिकारकों की भौतिक एवं अन्य बाह्य कारणों से अप्रभावित रहती हैं।

αए β तथा γ-किरणों का तुलनात्मक अध्ययन
α-किरणें β-किरणें γ-किरणें
ये किरणें अतिसूक्ष्म धन आवेशित कणों की बनी होती है।
विद्युत् क्षेत्र के ऋण धुव की ओर मुड़ जाती हैं।
द्रव्यमान अधिक होता है।

गतिज ऊर्जा अधिक होती है
आयनन क्षमता अधिक होती है।
भेदन क्षमता कम होती है।

फोटाग्राफिक प्लेट पर प्रभाव डालकर स्फुरदीप्ति (Phosphorescenc) उत्पन्न करती है। ये किरणें ऋण आवेश युक्त कणों की बनी होती है।
विद्युत् क्षेत्र के धन ध्रुव की ओर मुड़ जाती है।
द्रव्यमान कम होता है।

α-कणों से बहुत कम होती है।
कम होती है

α-कणों से अधिक होती है।
अपेक्षाकृत कम प्रभाव डालती है।
ये किरणें विद्युत् उदासीन होती हैं।

विचलित नहीं होती हैं।
अद्रव्य प्रकृति वाली होती है।
बहुत ही कम होती है।
बहुत कम होती है।

सबसे अधिक होती है।
बहुत कम प्रभाव डालती है।

नाभिकीय विखण्डन एवं नाभिकीय संलयन में अन्तर
नाभिकीय विखण्डन
(Nuclear Fision) नाभिकीय संलयन
(Nuclear Fusion)
ऽ इसमें भारी नाभिक टूटकर हल्के
नाभिकों का निर्माण करता है।

ऽ इसमें भारी तत्व के नाभिक पर न्यूट्रॉन से प्रहार कराया जाता है।

ऽ यह अभिक्रिया सामान्य ताप पर कराई जाती है।
ऽ इसमें ऊर्जा की एक विशाल राशि उत्पन्न होती है। इसमें दो हल्के नाभिक परस्पर संयुक्त होकर एक भारी नाभिक बनाते है।
इसमें हल्के तत्वों के नाभिकों पर प्रोटॉन, ड्यूट्रॉन इत्यादि कणों द्वारा प्रहार कराया जाता है।
यह अभिक्रिया 10,00,000 °C पर होती है।
इसमें उत्पन्न ऊर्जा नाभिकीय विखण्डन की तुलना में बहुत अधिक होती है।
11Na23 से 1β उत्सर्जन के बाद बनने वाला पदार्थ कौन-सा है ?
-Mg
92U236 ks 87U224 में कितने α व β कण उत्सर्जित होंगे ? -3α,1β
यदि किसी रेडियोधर्मी पदार्थ की मात्रा को दोगुना कर दिया जाये तो रेडियोधर्मी क्षरण की दर पर क्या प्रभाव पड़ता है ?
-अपरिवर्तित रहती है