एकांकी की परिभाषा क्या है लिखिए | लेखक एकांकी किसे कहते है दीजिये | deepdan ekanki ke lekhak ka naam kya hai

By  

deepdan ekanki ke lekhak ka naam kya hai in hindi एकांकी की परिभाषा क्या है लिखिए | लेखक एकांकी किसे कहते है दीजिये लेखक का नाम क्या है बताइए |

(अ) एकांकी
लेखक एकांकी
भुवनेश्वर कारवाँ, स्ट्राइक, प्रतिभा का विवाह, लॉटरी, ऊसर।
रामकुमार वर्मा बादल की मृत्यु, औरंगजेब की आखिरी रात, दीपदान, रेशमी टाई, सप्तकिरण, कौमुदी महोत्सव।
उपेन्द्रनाथ अश्क चरवाहे, तूफान से पहले, कैद और उड़ान, अधिकार का रक्षक, स्वर्ग की झलक, लक्ष्मी का स्वागत, सूखी डाली।
उदयशंकर भट्ट एक ही कब्र में, समस्या का अन्त, आज का आदमी, स्त्री का हृदय, पर्दे के पीछे।
मोहन राकेश अण्डे के छिलके, सिपाही की माँ, कयूं ।
धर्मवीर भारती नदी प्यासी थी, आवाज का नीलाम, नीली झील।
रेवतीरमण शर्मा मुझे जीने दो, अमावस का अन्धकार, उतार-चढ़ाव ।
चिरंजीत दफ्तर जाने का समय, चतुर्भुज महाशय, नया जन्म, चक्रव्यूह।
जगदीश चन्द्र माथुर भोर का तारा, कबूतर खाना, घोंसले,
ओ मेरे सपने।
सेठ गोविन्ददास कंगाल नहीं, सप्तरश्मि, एकादशी पंचभूत, चतुष्पथ।
विष्णु प्रभाकर प्रकाश और परछाईं, इंसान, बारह एकांकी, दस बजे रात, ये दायरे।
पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र‘ चार बेचारे।
(अप) रेखाचित्र संस्मरण
लेखक संस्मरण
पदम सिंह शर्मा पद्मपराग
श्री राम शर्मा बोलती प्रतिमा
महादेवी वर्मा अतीत के चलचित्र
महादेवी वर्मा स्मृति की रेखाएँ
महादेवी वर्मा पथ के साथी
महादेवी वर्मा मेरा परिवार
रामवृक्ष बेनीपुरी माटी की मूरतें, मील के पत्थर
बनारसीदास चतुर्वेदी संस्मरण, रेखाचित्र, हमारे आराध्य
जगदीश चन्द्र माथुर सेतुबन्ध, दस तस्वीरें
डॉ. नगेन्द्र चेतना के बिम्ब
डॉ. नगेन्द्र कुछ शब्द कुछ रेखाएँ
विष्णु प्रभाकर सृजन के सेतु
सेठ गोविन्द दास स्मृतिकण
कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर‘ भूले हुए चेहरे, जिन्दगी मुस्कराई
कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर‘ दीप जले शंख बजे, माटी हो गई सोना
प्रकाश चन्द्र गुप्त रेखाचित्र, पुरानी स्मृतियाँ, विशाखा
विनय मोहन शर्मा रेखाएँ और रंग
देवेन्द्र सत्यार्थी क्या गोरी क्या साँवरी, रेखाएँ बोल उठीं ओंकार शरद लंका महाराजिन
सत्यवती मलिक अमिट रेखाएँ
अज्ञेय आत्मनेपद
श्रीराम शर्मा सेवाग्राम की डायरी
रवीन्द्र कालिया सृजन के सहयात्री
फणीश्वरनाथ ‘रेणु‘ वन तुलसी की गन्ध
रामविलास शर्मा विराम चिह्न
राहुल सांकृत्यायन मेरे बचपन की स्मृतियाँ
हरिवंश राय बच्चन नये पुराने झरोखे
(अपप) यात्रावृत्त
लेखक यात्रावृत्त
भारतेन्दु सरयू पार की यात्रा, मेरी लखनऊ यात्रा।
सत्यदेव परिव्राजक मेरी जर्मन यात्रा, यात्री मित्र, यूरोप की सुखद स्मृतियाँ, नयी दुनिया के मेरे अद्भुत संस्मरण।
कन्हैयालाल मिश्र हमारी जापान यात्रा।
शिवप्रसाद गुप्त पृथ्वी प्रदक्षिणा।
राहुल सांकृत्यायन मेरी लद्दाख यात्रा, मेरी तिब्बत यात्रा, मेरी यूरोप यात्रा, घुमक्कड़ शास्त्र, रूस में पच्चीस माह, एशिया के दुर्लभ भू-खण्डों में।
यशपाल राहबीती, लोहे की दीवार के दोनों ओर।
अज्ञेय एक बूंद सहसा उछली, अरे यायावर रहेगा याद, बहता पानी निर्मला।
निर्मल वर्मा चीड़ों पर चाँदनी, हँसती घाटी दहकते निर्झर।
डॉ. नगेन्द्र डॉ. अप्रवासी की यात्राएँ।
रघुवंश हरी घाटी।
कमलेश्वर आँखों देखा पाकिस्तान।
रामधारीसिंह ‘दिनकर‘ देश-विदेश।
भगवत शरण उपाध्याय कलकत्ता से पीकिंग
मनोहरश्याम जोशी क्या हाल हैं चीन के।
काका कालेलकर हिमालय की यात्रा
मुनि कान्ति सागर खोज की पगडण्डियाँ, खण्डहरों का वैभव
(अपपप) आलोचना
लेखक आलोचना
आचार्य रामचन्द्र शुक्ल चिन्तामणि, रसमीमांसा, गोस्वामी
तुलसीदास, सूरदास, जायसी ग्रन्थावली।
नन्ददुलारे वाजपेयी हिन्दी साहित्य-बीसवीं सदी, आधुनिक
साहित्य, जयशंकर प्रसाद, राष्ट्रभाषा की समस्या।
हजारीप्रसाद द्विवेदी हिन्दी साहित्य का आदिकाल, कबीर, हिन्दी साहित्य की भूमिका, सूर साहित्य, हिन्दी साहित्य, मध्यकालीन बोध का स्वरूप।
रामविलास शर्मा प्रगति और परम्परा, आस्था और सौन्दर्य, भाषा और समाज, आचार्य महावीरप्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण, नयी कविता और अस्तित्ववाद, मार्क्स और पिछड़े हुए समाज।
डॉ. नगेन्द्र रस सिद्धान्त, साकेत एक अध्ययन, रीतिकाव्य की भूमिका, देव और उनकी कविता, नयी समीक्षा नये सन्दर्भ, शैली विज्ञान।
डॉ. नामवर सिंह कहानी और नयी कहानी, छायावाद, कविता के नये प्रतिमान, दूसरी परम्परा की खोज ।
लक्ष्मीकान्त वर्मा नयी कविता के प्रतिमान ।
रामस्वरूप चतुर्वेदी भाषा और संवेदना।
विद्यानिवास मिश्र रीति विज्ञान।
डॉ. मैनेजर पाण्डेय साहित्य और इतिहास दृष्टि।
प्रभाकर श्रोत्रिय कविता की तीसरी आँख ।
मलयज कविता से साक्षात्कार।
निर्मला जैन रस सिद्धान्त और सौन्दर्यशास्त्र।
नन्दकिशोर आचार्य साहित्य का स्वभाव ।
रांगेय राघव काव्य, कला और शास्त्र।
शान्तिप्रिय द्विवेदी साहित्यिकी, हमारे साहित्य निर्माता ।
अमृतराय विचारधारा और साहित्य।
निराला रवीन्द्र कविता कानन।
विजयदेव नारायण साही लघु मानव के बदले कविता पर एक बहस।
परमानन्द श्रीवास्तव दूसरा सौन्दर्यशास्त्र क्यों।
(पग) निबन्ध
लेखक निबन्ध संग्रह
भारतेन्दु हरिश्चन्द्र सुलोचना, परिहास वंचक, दिल्ली दरबार दर्पण, लीलावती।
बालकृष्ण भट्ट साहित्य सुमन, भट्ट निबन्ध माला (2 भाग)।
महावीरप्रसाद द्विवेदी रसज्ञ रंजन, साहित्य सीकर, कौटिल्य कुठार, बनिता विलास, कालिदास एवं उनकी कविता।
पूर्णसिंह (6 निबन्ध) अध्यापक पूर्ण सिंह के निबन्ध्
श्यामसुन्दरदास गद्य कुसुमावली, रूपक रहस्य ।
रामचन्द्र शुक्ल चिन्तामणि (2 भाग), रस मीमांसा।
सम्पूर्णानन्द चिविलास, जीवन और दर्शन, ज्योतिर्विनोद, पृथ्वी से सप्तर्षि मण्डल।
हजारीप्रसाद द्विवेदी अशोक के फूल, विचार और वितर्क, विचार प्रवाह, आलोक पर्व, कल्पलता, कुटज।
विद्यानिवास मिश्र तुम चन्दन हम पानी, मैंने सिल पहुँचाई, छितवन की छाँह, कदम की फूली डाल, मेरे राम का मुकुट भीग रहा है, हल्दी दूब, कौन तू फुलवा, बीनन हारी, कँटीले काँटों के आर-पार।

कुबेरनाथ राय रस आखेटक, प्रिया नीलकण्ठी, पर्ण द्य मुकुट, लौह मृदंग, गंधमादन, कामधेनु, त्रेता का वृहद् साम।
गुलाबराय ठलुआ क्लब, फिर निराशा क्यों, मेरी असफलताएँ, मन की बातें।
(ग) हिन्दी पत्र-पत्रिकाएँ
पत्र-पत्रिका सम्पादक
उदन्त मार्तण्ड पं. जुगल किशोर
बंगदूत राजा राममोहन राय
बनारस अखबार राजा शिवप्रसाद ‘सितारे हिन्द‘
प्रजा हितैषी राजा लक्ष्मण सिंह
कवि वचन सुधा भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
हरिश्चन्द्र चन्द्रिका भारतेन्दु हश्चिन्द्र
बाला बोधिनी भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
हिन्दी प्रदीप बालकृष्ण भट्ट
ब्राह्मण प्रताप नारायण मिश्र
भारत मित्र बालमुकुन्द गुप्त
आनन्द कादम्बिनी बद्रीनारायण चैधरी ‘प्रेमघन‘
भारतेन्दु राधाचरण गोस्वामी
इन्दु अम्बिकाप्रसाद गुप्त, रूपनारायण पाण्डेय
प्रताप गणेश शंकर विद्यार्थी
प्रभा बालकृष्ण शर्मा नवीन, माखनलाल चतुर्वेदी
कर्मवीर माखनलाल चतुर्वेदी
मतवाला निराला
सुधा दुलारेलाल भार्गव
हंस प्रेमचंद
साहित्य संदेश बाबू गुलाबराय
रूपाभ सुमित्रानन्दन पन्त
आलोचना शिवदान सिंह चैहान
नयी कविता डॉ. जगदीश गुप्त
ज्ञानोदय कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर
निकष धर्मवीर भारती
धर्मयुग धर्मवीर भारती
पराग कन्हैयालाल नंदन
कादम्बिनी राजेन्द्र अवस्थी
दस्तावेज विश्वनाथ प्रसाद तिवारी
समालोचक डॉ. रामविलास शर्मा
कृति श्रीकान्त वर्मा
पहल ज्ञानरंजन
हंस (पुनर्प्रकाशन) राजेन्द्र यादव
वर्तमान साहित्य विभूति नारायण साहित्य
साहित्य अमृत विद्यानिवास मिश्र
बहुवचन अशोक वाजपेयी
कथाक्रम शैलेन्द्र सागर
पाखी अपूर्व जोशी
तद्भव अखिलेश
परख कृष्ण मोहन
वागर्थ प्रभाकर श्रोत्रिय
वाक् सुधीश पचैरी
कथादेश हरिनारायण कादश
साप्ताहिक हिन्दुस्तान मनोहर श्याम जोशी
पुरस्कृत रचनाएँ
ज्ञानपीठ पुरस्कार-
यह पुरस्कार साहू शांतिप्रसाद जैन ने 1961 में प्रारम्भ किया जिसमें भारत की सभी भाषाओं में श्रेष्ठ समझी जाने वाली रचना को पुरस्कृत किया जाता है। सभी भारतीय भाषाओं से तात्पर्य है- संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भाषाएँ । इसमें अब 11 लाख रुपए नकद, प्रशस्ति पत्र और वाग्देवी की कांस्य प्रतिमा प्रदान की जाती है।