DATA TYPES in c LANGUAGE in hindi , डाटा टाइप्स c कंप्यूटर भाषा में , in computer LANGUAGE

By  
डाटा टाइप्स c कंप्यूटर भाषा में , in computer LANGUAGE , DATA TYPES in c LANGUAGE in hindi
DATA TYPES C LANGUAGE में करीब 10 तरह के डाटा TYPES है | उन डाटा के STORAGE
REPRESENTATION और MACHINE कोड अलग अलग होते है |
 डाटा
टाइप्स में बहु विकल्प होने से प्रोग्रामर के पास उचित डाटा टाइप्स चुनने का
अवसरहोता है
|
DATA TYPES को तीन CLASS में DIVIND
किया
गया है
|
1.PRIMARY DATA TYPES
2.DERIVED DATA TYPES
3.USER DEFINED TYPES
PRIMARY DATA TYPES को हम इस ARTICLE में
पड़ेगे और बाकि के
DATA टाइप्स को आगे के article में
देखगे
|
सभी C COMPILER पांच DATA
टाइप्स
को
SUPPORT करता है (i)  INTEGER (ii) character (iii) FLOATING POINT
(IV) DOUBLE (v) VOID |इनमें से कई अपना डाटा साइज़ को बढ़ाऔर घटा सकते
है
| SHORT INT और LONG INT |

INTEGER DATA TYPES:

INTEGER एक WHOLE NUMBER होते है जो की
कंप्यूटर सिस्टम के द्वारा सपोर्ट होती है
|INTEGER मेमोरी में एक WORD
का STORGE
STORE करता है|WORD SIZE कंप्यूटर पर निर्भर करता है |
अगर यूजर 16 बिट word
USE करता
है तब
INTEGER की VALUE +32767 से –32768
होती है
|16 बिट में से 1 बिट SIGN के लिए और १५
बिट
MAGNITUDE के होती है |
अगर यूजर 32 बिट WORD
USE करता
है तब
INTEGER की VALUE -2,147,483,648 से +2,147,483,647
होती है
|
STORAGE में VARIANCE के लिये C
LANGUAGE में INTEGER की तीन CLASS चलती है (i)
SHORT (ii) LONG (iii) INT |इसके अलावा SIGNED और UNSIGNED
INTEGER अलग है |इन सबके DATA साइज़ और RANGE
नीचे
TABLE मे है |
TYPE
SIZE
RANGE
CHAR OR SINGED CHAR
8
-128 TO 127
UNSIGNED CHAR
8
0 TO 255
INT OR SIGNED INT
16
-32,768 TO 32,767
UNSIGNED INT
16
0 TO 65535
SHORT INT OR SINGED SHORT INT
8
-128 TO 127
UNSIGNED SHORT INT
8
0 TO 255
LONG INT OR SIGNED LONG INT
32
-2,147,483,648 TO +2,147,438,467
UNSIGNED LONG INT
32
0 TO 4,294,967,295
FLOAT
32
3.4E-38 TO 3.4E+38
DOUBLE
64
1.7E-308 TO 1.7E +308
LONG DOUBLE
80
3.4E-4932 TO 1.1E++4932

FLOATING DATA TYPE:

FLOATING DATA TYPE सभी कंप्यूटर में 32
बिट में
STORE होता है इसमें 6 बिट PRECISION
के
लिए होती है
|इसे C LANGUAGE में FLOAT
से
दर्शाया जाता है
|उदहारण के लिए FLOAT DATA TYPE में
DECIMAL NUMBER STORE होते है |
जब FLOAT DATA TYPE किसी VALUE
के
लिए उपयुक्त नहीं होता तो तब
DOUBLE का USE होता है|DOUBLE
DATA TYPES 64 बिट को USE करता है जिसमे से 16
बिट
PRECISION के लिए होती है|DOUBLE DATA FLOAT की
तरह
DECIMAL NUMBER को स्टोर करता है|PRECISION को
बढाने के लिए
LONG DOUBLE को यूज़ कर सकते है जिसमे 80
बिट
PRECISION के लिए USE की जाती है|

VOID TYPE :

VOID TYPE की कोई VALUE नहीं होती है|ये
किसी फंक्शन के
TYPE को बताने में USE होता है |जब
किसी
FUNCTION का TYPE VOID होता है उसका
मतलब है की
FUNCTION कोई भी VALUE RETURN नहीं करगे |अगर
FUNCTION का टाइप नहीं पता तो वो VOID TYPE का होता है |मतलब
VOID फंक्शन का DEFAULT TYPE है |
उदहारण के लिए :

CHARTERER DATA TYPES:

इस डाटा टाइप से सिंगल character को DEFINE
किया
जाता है
|CHARTERER सामान्यतया 8 बिट मई स्टोर
होता है
|ये दो पप्रकार के होते है SIGNED और UNSIGNED
|SIGNED character की VALUE -127 से +128 और
UNSIGNED की VALUE 0 से 255 होती है|

VARIABLE को C LANGUAGE में DECLARE
KAISE करेगें ?

C COMELIER VARIABLE को दो ही तरह से पहचनता है (i) उसका
DATA TYPE और (ii) उसका नाम|किसी भी VARIABLE
को PROGRAM
में
USE करने के पहले उसे DECLARE करना जरुरी होता है |इसलिए
VARIABLE DECLARTION बहुत ही जरुरी स्टेम है PROGRAMMING सिखने
में
|C LANGUAGE में VARIABLE DECLARTION बहुत ही सरल है |
SYNTAX ऑफ़ variable DECLARTION : DATATYPE
VARIABLE NAME ;
उदहारण के लिए int a ; // a एक variable
है
जिसका
data type integer है|
             char s;
// s एक variable है जिसका data type character है|
सभी data type को C
LANGUAGE में दशना के लिए कुछ विशेष INDENTIFIER होते है |
INTEGER के लिए
:
int
FLOAT के लिए
:
float
DOUBLE के लिए
:
double
character के लिए
:
char
UNSIGNED character : unsigned char
SINGED CHARACTER
:singed char
LONG INTEGER       :
long int
SHORT INTEGER      :
short int
उदहारण के लिए
main ()
// it is beginning of program //
{
// Opening brace is symbol of execution of code //
// declaration of code //
int a ;
float b;
short int number;
long int amount ;
char s;
double mean ;
// main body //
……………..
……………..
……………..
}                        // closing of code

USER DEFINED TYPE DECLARATION

C LANGUAGE USER द्वारा अपना DATA TYPE को
खुदबना सकता है लेकिन यह
EXITING DATA TYPE में USE करता
है
|इस तरह के डाटा TYPE को TYPEDEF IDENTIFIER को
इस्तेमाल कर सकता है
|इसका GENERAL FORM है |
          typedef type
variable name ;
उदहारण के लिए typedef int id ;
                        typedef
float mean ;
इस उदहारण में id एक data type है जिसकी data type integer है और mean भी एक data type है जिसका data type float हैइनको बाद में उसे कर सकते है |
              id id1 ,id2 ;
              mean m1 ,m2 ;