Category Archives: 10th science

पवन चक्की की संरचना , windmill in hindi , पवन ऊर्जा फार्म , पवन उर्जा की विशेषताऐ , सौर ऊर्जा 

(windmill in hindi) पवन-चक्की की संरचना  पवन-चक्की की संरचना किसी ऐसे विशाल विद्युत पंखे के समान होती है जिसे किसी दृढ़ (PLANE) आधार पर कुछ ऊँचाई पर खड़ा कर दिया जाता है। पवन-चक्की की घूर्णी गति का उपयोग विद्युत जनित्र के टरबाइन को घुमाने के लिए किया जाता है जिससे की विद्युत उत्पन्न की जा… Continue reading »

सौर सेल , सौर पैनल , सौर सेल के लाभ , ज्वारीय ऊर्जा , तरंग ऊर्जा  , महासागरीय तापीय ऊर्जा , सौर कुकर

सौर कुकर (solar cooker in hindi) दो सिद्धात पर कार्य करते है।  1. परावर्तक पृष्ठ अथवा श्वेत पृष्ठ की तुलना में काला पृष्ठ अधिक ऊष्मा अवशोषित करता है। अत: सौर कुकर को चारो तरफ से काले रंग से रंग जाता है जिसके कारण यह उर्जा को अधिक से अधिक अवशोषित के सके। 2. सौर कुकरों… Continue reading »

भूतापीय ऊर्जा , तप्त स्थल , गरम चश्मा अथवा ऊष्ण स्रोत , भूतापीय उर्जा के लाभ , नाभिकीय ऊर्जा 

geothermal energy in hindi भूतापीय ऊर्जा :- जब भूमिगत जल तप्त स्थलों के संपर्क में आता है तो भाप का निर्माण होता है कभी-कभी यह भाप चट्टानों के बीच में फँस जाती है जहाँ इसका दाब अत्यधिक हो जाता है। तप्त स्थलों तक पाइप डालकर इस भाप को बाहर निकाल लिया जाता है और इस… Continue reading »

ऊर्जा स्रोत की हमारे लिए उपलब्धता energy resources availability in world in hindi

energy resources availability in hindi :- पर्यावरण विषयक सरोकार हमें ऊर्जा के विभिन्न स्रोत के बारे में पता है।उर्जा स्रोत से किसी भी प्रकार की ऊर्जा का दोहन पर्यावरण में किसी न किसी रूप में विक्षोभ उत्पन्न करता है। जब हम उर्जा प्राप्त करने के लिए किसी ऊर्जा स्रोत का चयन करते हैं तो वह… Continue reading »

पर्यावरण ,परितंत्र , पर्यावरणीय अपशिष्ट , जैव निम्नीकरणीय के गुण , परितंत्र के प्रकार , environment and ecology in hindi

environment and ecology in hindi पर्यावरण :- हमारे आस पास की सभी चीजे जो की हमे घेरे रखती है पर्यावरण में शामिल है। इस पर्यावरण में सभी जैव तथा अजैव घटक शामिल होते है। पर्यावरण में जीवो के अलावा वायु , जल आदि भी आते है। पर्यावरणीय अपशिष्ट  पर्यावरण में जीवो के दवारा किसी वस्तु… Continue reading »

जैव-आवर्धन ,ओजोन गैस , ओजोन परत तथा यह किस प्रकार अपक्षयित होती है , ओजोन गैस का निर्माण 

biomagnification in hindi जैव-आवर्धन : कुछ हानिकारक रासायनिक पदार्थ आहार शृंखला से होते हुए हमारे शरीर में प्रविष्ट हो जाते हैं। जल प्रदूषण के कारण यह है कि विभिन्न फसलों को रोग एवं पीड़कों से बचाने के लिए पीड़कनाशक एवं रसायनों का अत्यधिक प्रयोग करते है तथा ये रसायन बह कर मिट्टी में अथवा जल… Continue reading »

आहार श्रृंखला एवं जाल , आहार जाल , आहार शृंखला एवं जाल में अन्तर , उर्जा प्रवाह का 10% का नियम 

food chain and food web in hindi आहार शृंखला एवं जाल :- विभिन्न जैविक स्तरों पर भाग लेने वाले जीवों की शृंखला आहार शृंखला का निर्माण करती हैं। जीवों की वह शृंखला जिसमे हर एक चरण में पोषी स्तर का निर्माण होता है तथा जिसमे जीव एक दुसरे का आहार करते है। इसी प्रकार विभिन्न… Continue reading »

संसाधनों का दोहन , संसाधनों के दोहन से होने वाली हानिया , चिपको आंदोलन , वनों पर निर्भर उद्योग 

depletion of natural resources in hindi संसाधनों का दोहन : जब हम संसधानो का बहुत अधिक उपयोग करते है तो इनका लगातार हास् हने लगता है जिसे संसाधनों का दोहन कहते है। संसाधनों के दोहन से होने वाली हानिया  1. संसाधनों के दोहन से पर्यावरण को हानि पहुचती है और यह पर्यावरण को प्रदूषित भी… Continue reading »

जल संग्रहण water conservation in hindi , जल संग्रहण करने का उद्देश्य , तरीके , बाँध  ,बाँध बनाने के लाभ 

water conservation in hindi ( जल संग्रहण ) :-  इसका उद्देश्य यह है की भूमि पर उपस्थित पर जल का संग्रहण करना ताकि मुसीबत के समय पर यह उपयोग में आ सके। जल संग्रहण करने का उद्देश्य  1. जल संभर प्रबंधन में मिट्टी एवं जल संरक्षण पर जोर दिया जाता है जिससे कि जैव मात्रा… Continue reading »

कोयला एवं पेट्रोलियम , coal and petroleum class 10 notes in hindi , कुल्ह , चेक डैम , बांध हानिया 

coal and petroleum class 10 notes in hindi , कोयला एवं पेट्रोलियम :- जल संग्रहित करने का अन्य पारंपरिक तरीका जो की निम्न है कुल्ह  लगभग 400 वर्ष पूर्व हिमाचल प्रदेश के कुछ क्षेत्र में नहर सिंचाई की स्थानीय प्रणाली का विकास हुआ जिन्हें की ‘कुल्ह’ कहा जाता है। झरनों से बहने वाले जल को… Continue reading »