C++ : Program Header , Function Header , Manipulator , Newline character , C++ Source code Formatting

By  
Newline character , C++ Source code Formatting , C++ : Program Header , Function Header , Manipulator :-
इससे पहले के article मे , comment , function definition और preprocessor को discuss किया था |अब इस article मे c++ प्रोग्राम के बाकि elements को discuss करेगे |

Function Header
जब किसी c++ प्रोग्राम function को run किया जाता है या दुसरे function द्वारा call किया जाता है तब function header इन दोनों functions के बीच interface को define करता है |इसमें function name को define करता है जिसमे function के type और function के नाम को define करता है |इसमें function के flow को भी define करता है |function definition मे () मे function के parameter को pass करते है |argument और parameter लिस्ट call function से calling function मे data के फ्लो को define करता है |
function definition मे main() function मे अलग होता है | main() function किसी प्रोग्राम का start code होता है |जो की complier को प्रोग्राम को start होने का निर्देश देता है |
उदाहरण के लिए :
main() के लिए , int जो की main() function के start मे होता है | वो ये define करता है की function से integer type return होती है |अगर main() function  से कोई data return नहीं होता तब इसका type void कहते है |
function का नाम main() क्यों होता है |
जब हम निन्म उदहारण को consider करे तो
#include<iostream>
void main()
{
using namespace std;
cout<< “Good Morning”;
getch();
}
इस उदाहरण मे , जब code को compile करते है तब प्रोग्राम मे main() function का होना आवश्कता है |लेकिन MAIN () और Main () function तब compiler  error message देगा |किसी प्रोग्राम मे , केवल एक main() function की जरुरत होती है |
जब किसी प्रोग्राम को compile किया जाता है , complication main() से start होता है |अगर प्रोग्राम मे , main() function नहीं होता तो प्रोग्राम अधुरा होता है |और compile नहीं होता है |
windows मे dynamic link library को use किया जाता है जिसमे main() function को use नहीं करना होता है |इसका उदाहराण मे किसी रोबोट्स , controller चिप के लिए प्रोग्राम |
Manipulator
cout<< end1;
इस statement को Manipulator कहते है |जो की किसी नए statement के start होने के लिए define कियाजाता है |जब किसी आउटपुट statement मे , end1 को introduce करते है तब couser console screen पर नए line पर shift हो जाता है |endl , cout की तरह iostream header file का पार्ट होती है | इसलिए इसके लिए namespace को use किया जाता है |
cout function से next line मे automatic नहीं जा सकता है |इसे केवल string को print करने के लिए किया जाता है|
उदहारण के लिए :
#include<iostream>
void main()
{
using namespace std;
cout<< “Good Morning !”;
cout<< “Parth”;
cout << endl;
cout << “It is my First Program.”;
getch();
}
आउटपुट होता है :
Good Morning ! Parth
It is my First Program.
इस उदाहरण मे , Good Morning ! और Parth को एक ही line मे print होता है |और endl से cusor next line मे shift हो जाता है | उसके बाद It is my First Program. को print होता है |
Newline character
c++ मे endl के अलावा एक option होता है नए line मे shift करने के लिए | इसे new line operator (\n) कहते है |ये दो single character से मिलकर बना होता है |जिसे new line operator कहते है |
अगर किसी string को display करना होता है तब new line option से कम character को type करना होता है |इसका उदहारण है :-
#include<iostream>
void main()
{
using namespace std;
cout<< “Good Morning !”;
cout<< “Parth”;
cout << endl;
cout << “It is my First Program.”;
getch();
}
इस उदाहरन मे , endl को use किया गया है |जबकि निन्म उदहारण मे ,
#include<iostream>
void main()
{
using namespace std;
cout<< “Good Morning !”;
cout<< “Parth \n”;
cout << “It is my First Program.”;
getch();
}
दोनों प्रोग्राम से सामान आउटपुट मिलता है लेकिन कम character को type करना होता है |
 
C++ Source code Formatting
कुछ language जैसे prascal , fortan ,c language मे एक statement को एक line मे लिखा जाता है | इस सभी language मे , return statement को अलग से लिखना होता है |लेकिन c++ मे , return statement को अलग से लिखना complusy नहीं होता है |return statement को प्रोग्राम के free space मे कही पर भी लिख सकते है |उदाहरण के लिए :-
int main()
{
using
namespace std;
cout<<“good mornging “<<
endl; cout<<
“I am Parth”<<endl; return;
}
उपर लिखा गया code compile सही होगा कोई भी error नहीं आएगी लेकिन इससे समजने मे काफी difficulty होगी |अतः c++ मे ,कुछ rules को फॉलो करना होता है |जिससे code का display अच्छा लगे |और standard पर follow हो |
1.किसी भी syntax मे space नहीं हो सकता है |जैसे
main() ; // right syntax
ma in (); // invalid syntax
2.return statement को code के बीच कम कम लिखना चाहिए |
3.इसके अलावा कई सारे rules होते जो बाद मे discuss करेगे |


Token और whitespace
टोकन एसे element होते है जिसे divide नहीं किया जा सकता है |किसी एक टोकन को दुसरे टोकन से अपके से अलग कर सकते है |इस format को white space कहते है |उदहारण के लिए () , (,) , “” आदि tokens है जिसे white space के साथ use नहीं कर सकते है |
उदाहरण के लिए :
return0;   // invalid statement
return (0) ; // valid statement , 0 will be return
return(0);  // valid statement , 0 will be return
intmain() ; //invalid statement
int main() ; //valid statement , program start
int main( ) ;  //valid statement , program start