भारत भारती के रचनाकार कौन है | भारत भारती के रचयिता थे लेखक का नाम क्या है bharat bharti ke rachayita kaun hai

By  

bharat bharti ke rachayita kaun hai भारत भारती के रचनाकार कौन है | भारत भारती के रचयिता थे लेखक का नाम क्या है ?

ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त हिन्दी रचनाएँ

प्रश्न. ‘भारत-भारती‘ के रचयिता का नाम है-
;a) मैथिलीशरण गुप्ता ;b) हरिऔध
;c) नागार्जुन ;d) दिनकर
उत्तर- ;a) मैथिलीशरण गुप्ता
ज्ञान-भारत-भारती के रचयिता मैथिलीशरण गुप्त हैं। यह रचना देश प्रेम से ओतप्रोत कविताओं के कारण तत्कालीन अंग्रेज सरकार ने जब्त कर ली थी।
रचना लेखक वर्ष
1. चिदम्बरा सुमित्रानन्दन पन्त 1968 ई.
2. उर्वशी रामधारी सिंह ‘दिनकर‘ 1972 ई.
3. कितनी नावों में कितनी बार अज्ञेय 1978 ई.
4. यामा महादेवी वर्मा 1982 ई.
5. सम्पूर्ण साहित्य नरेश मेहता 1992 ई.
6. सम्पूर्ण साहित्य निर्मल वर्मा (पंजाबी लेखक 1999 ई.
गुरुदयाल सिंह के साथ)
7. सम्पूर्ण साहित्य कुँवर नारायण 2005 ई.
8. सम्पूर्ण साहित्य श्रीलाल शुक्ल 2009 ई.
(अमरकान्त के साथ)
9. हिन्दी साहित्य केदार नाथ सिंह 2013 ई
10. हिन्दी साहित्य कृष्णा सोबती 2017 ई.
व्यास सम्मान-
यह ज्ञानपीठ पुरस्कार के बाद हिन्दी में प्राप्त दूसरा सबसे बड़ा सम्मान है, जो हिन्दी में सर्वश्रेष्ठ रचना के लिए प्रतिवर्ष दिया जाता है। इस पुरस्कार को के. के. बिड़ला ने 1991 में प्रारम्भ किया था। इसमें 3 लाख रुपए नकद, प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह प्रदान किया जाता हैं।
व्यास सम्मान प्राप्त रचनाएँ
रचना लेखक वर्ष
1. भारत के भाषा परिवार रामविलास शर्मा 1991 ई.
और हिन्दी
2. नीला चाँद (उपन्यास) शिवप्रसाद सिंह 1992 ई.
3. मैं वक्त के हूँ सामने (काव्य) गिरिजा कुमार माथुर 1993 ई.
4. सपना अभी भी (काव्य) धर्मवीर भारती 1994 ई.
5. आत्मजयी (काव्य) कुँवर नारायण
6. हिन्दी साहित्य और संवेदना रामस्वरूप चतुर्वेदी 1965 ई.
का विकास (आलोचना)
7. उत्तर कबीर, अन्य कविताएँ केदारनाथ सिंह 1997 ई.
(काव्य)
8. पाँच आँगनों वाला घर गोविंद मिश्र 1998 ई.
(उपन्यास)
9. विश्रामपुर का सन्त श्रीलाल शुक्ल 1999 ई.
(उपन्यास)
10. पहला गिरिमिटिया गिरिराज किशोर 2000 ई.
(उपन्यास)
11. आलोचना का पक्ष रमेशचन्द्र शाह 2001 ई.
(आलोचना)
12. पृथ्वी का कृष्ण पक्ष कैलाश वाजपेयी 2002 इ
(काव्य)
13. आवाँ (उपन्यास) चित्रा मुद्गल 2003 ई.
14. कठगुलाब (उपन्यास) मृदुला गर्ग 2004 ई.
कठगुलाब
15. कथा सतीसर (उपन्यास) चन्द्रकान्ता 2005 ई.
16. कविता का अर्थात् परमानन्द श्रीवास्तव 2006 ई
(आलोचना)
17. समय सरगम कृष्णा सोबती 2007 ई.
18. एक कहानी यह भी मन्नू भण्डारी 2008 ई.
(आत्मकथा)
19. इन्हीं हथियारों से अमरकान्त 2009 ई.
(उपन्यास)
20. फिर भी कुछ रह जायेंगे विश्वनाथ तिवारी 2010 ई.
(काव्य)
21. आम के पत्ते (काव्य संग्रह) रामदरश मिश्र 2011 ई.
22. न भूतो न भविष्यति नरेन्द्र कोहली 2012 ई.
(उपन्यास)
23. व्योमकेश दरवेश विश्वनाथ त्रिपाठी 2013 ई.
(उपन्यास)
24. पे्रमचन्द की कहानियों का कमलकिशोर गोयनका 2014 ई.
कालक्रम अनुसार अध्ययन
25. क्षमा (काव्य संग्रह) डाॅ. सुनील जैन 2015 ई.
26. शमी का वृक्ष (काव्य) सुरेन्द्र वर्मा 2016 ई
पद्म पंखुरी की धार से
(उपन्यास)
27. दुक्खम सुक्खम ममता कालिया 2017 ई.
(उपन्यास)
विभिन्न परीक्षओं में पूछे गये प्रश्न
1. कवि ‘जगनिक‘ की रचना का नाम है-
;a) बहुब्रीहि ;b) द्विगु
;c) कर्मधारय( ;d) द्वन्द्व
उत्तर-;c) कर्मधारय
ज्ञान- कवि जगनिक आदिकाल के कवि थे उन्होंने परमाल रासो की रचना की जिसे आल्हखण्ड भी कहा जाता है।
2. ‘पùावत‘ के रचनाकर है-
;a) अमीर खुसरो ;b) अब्दुर्रहमान
;c) मोहम्मद इकबाल ;d) पùावत
उत्तर-;d) पùावत
ज्ञान- पùावत के रचनाकर हैं मलिक मोहम्मद जायसी। यह आदिकाल में लिखा गया महाकाव्य है।
3. निम्नलिखित रचनाओं को कवियों के साथ सुमेलित कीजिए-
रचना कवि
।. मृगावती 1. जायसी
ठण् मधुमालती 2. मल्ला दाऊद
ब्ण् चंदायन 3. उसमान
क्ण् अखराबट 4. कुतुबबन
5. मंझन
कूट-
। ठ ब् क्
;a) 2 3 5 4
;b) 3 2 1 4
;c) 4 5 2 1
;d) 1 2 3 4
उत्तर-;c)
ज्ञान- मृगावती (कुतुबन), मधुमालती (मंझन), चंदायन (मुल्ला दाऊद), अखराबट (जायसी) की रचनाएँ है।
4. इन कवियों को काल के आरोही क्रम में व्यसस्थित किजिए-
;a) दादू, कबीर, सुन्दरदास, मलूकदास
;b) मलूकराम, सुन्दरदास, कबीर, दादू
;c) सुन्दरदास, मलूकदास, दादू, कबीर ।
;d) कबीर, दादू, सुन्दरदास, मलूकदास।
उत्तर-;d) कबीर, दादू, सुन्दरदास, मलूकदास।
ज्ञान- कबीर (1938 ई.), दादू (1544 ई.), सुन्दरदास (1596 ई.), मलूकदास (1689 ई.)
5. इनमें से किस कवि ने ‘लक्षण ग्रन्थ‘ नहीं लिखा –
;a) देव ;b) भूषण
;c) पùाकर ;d) बिहारी
उत्तर- ;d) बिहारी
ज्ञान- बिहारी रीतिसिद्धि कवि थे। अनहोंने कोई लक्षण गं्रथ नहीं लिखा। देव ने भवानी विलास, भाव विलास जैसे लक्षण ग्रंथ लिखे, भूषण ने शिवाबावनी नामक अलंकार गं्रथ लिखा और पद्माकर ने पद्माकर नामक अलंकार ग्रंथ लिखा।
6. ‘कविप्रिया‘ के रचनाकार हैं –
;a) केशव ;b) भूषण
;c) पùाकर ;d) मतिराम
उत्तर- ;a) केशव
ज्ञान- कविप्रिया केशव के द्वारा रचित रीतिगं्रथ है।
7. ‘केशाव कहि न जाय का कहिए‘ पंक्ति किस कवि की है?
;a) सूर ;b) केशव
;c) तुलसी ;d) रहीम
उत्तर-;c) तुलसी (विनय-पत्रिका से)
8. ‘धर्मवीर भारती‘ किस सप्तक के कवि हैं?
;a) तार सप्तक ;b) दूसरा सप्तक
;c) तीसरा सप्तक ;d) चैथा सप्तक
उत्तर- ;b) दूसरा सप्तक
9. सर्वेश्वरदयाल सक्सैना को किस सप्तक में स्थान मिला है?
;a) तार सप्तक ;b) दूसरा सप्तक
;c) तीसरा सप्तक ;d) चैथा सप्तक
उत्तर- ;b) तीसरा सप्तक
ज्ञान- सर्वेश्वरदयाल सक्सैना तीसरा सप्तक (1959 ई.) के कवि हैं।
10. ‘आवारा मसीहा‘ के रचनाकार है-
;a) अमृतराय ;b) विष्णु प्रभाकर
;c) रामविलास शर्मा ;d) प्रेमचन्द
उत्तर- ;b) विष्णु प्रभाकर
ज्ञान- आवारा मसीहा के रचनाकार हैं- विष्णु प्रभाकर, यह बंगला उपन्यास शरतचंद्र की जीवनी है।
11. ‘कबीर‘ किस काव्य धारा के कवि है?
;a) ज्ञानमार्गी ;b) प्रेममार्गी
;c) कृष्णमार्गी ;d) राममार्गी
उत्तर- ;a) ज्ञानमार्गी
13. ‘मुक्त छनद‘ के प्रणेता है-
;a) निराला ;b) नागार्जुन
;c) अज्ञेय ;d) हरिऔध
उत्तर- ;a) निराला
14. ‘अन्धा युग‘ किसकी रचना है?
;a) नरेश मेहता ;b) मोहन राकेश
;c) दुष्यन्त कुमार ;d) धर्मवीर भारती
उत्तर- ;d) धर्मवीर भारती
ज्ञान-अन्धा युग धर्मवीर भारती का गीतिनाट्य है।
15. सखि वे मुझसे कहकर जाते, किस कवि की पंक्ति है?
;a) सियारामशरण गुप्त ;b) मैथिलीशरण गुप्त
;c) हरिऔध ;d) जगदीश गुप्त
उत्तर- ;b) मैथिलीशरण गुप्त
ज्ञान- सखि वे मुझसे कहकर जाते- यह पंक्ति मैथिलीशरण गुप्त की रचना ‘यशोधरा‘ की है।
16. ‘कामायनी‘ में कितने सर्ग है?
;a) 10 ;b) 12
;c) 15 ;d) 11
उत्तर- ;c) 15
17. छायावादी महाकव्य कौन-सा है?
;a) पल्लव ;b) कामायनी
;c) यामा ;d) साकेत
उत्तर- ;b) कामायनी
ज्ञान- कामायनी (जयशंकर प्रसाद) छायावादी महाकाव्य है। साकेत की रचना द्विवेदी युग मं मैथिलीशरण गुप्त ने की। पल्लव (पंत) की और यामा (महादेवी वर्मा) की काव्य कृतियाँ हैं, महाकाव्य नहीं है।
18. खड़ी बोली हिन्दी का पहला महाकाव्य है-
;a) रामचरितमानस ;b) साकेत
;c) प्रियप्रवास ;d) कामायनी
उत्तर- ;c) प्रियप्रवास
ज्ञान- खड़ी बोली हिन्दी के महाकाव्य प्रियप्रवास की रचना अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध‘ ने 1914 ई. में की।
19. संस्कृत के वर्णवृतों का प्रयो किस हिन्दी कवि ने अपने महाकाव्य में किया ?
;a) अयोध्यासिंह उपाध्याय ‘हरिऔध‘
;b) मैथिलीशरण गुप्त
;c) जयशंकर प्रसाद
;d) सुमित्रानन्दन पन्त
उत्तर- ;a) अयोध्यासिंह उपाध्याय ‘हरिऔध‘
ज्ञान- संस्कृत के वर्णवृतों का प्रयोग अयोध्यासिंह उपाध्याय ‘हरिऔध ने अपने महाकाव्य प्रियप्रवास में किया।
20. इन कवियों को काल के बढ़ते क्रम में व्यवस्थित करें-
;a) हरिऔध, प्रसाद, पन्त, निराला
;b) निराला, प्रसाद, पन्त, हरिऔध
;c) हरिऔध, प्रसाद, निराला, पन्त
;d) पन्त, प्रसाद, निराला, हरिऔध
उत्तर- ;c) हरिऔध, प्रसाद, निराला, पन्त
ज्ञान- हरिऔध (1865 ई.) प्रसाद (1890 ई.) निराला(1897 ई.), पन्त (1900 ई.) – सही क्रम है।