अनुकूलन की परिभाषा क्या है ,उदाहरण , Adaptation definition in hindi

Adaptation definition in hindi अनुकूलन की परिभाषा क्या है : जीव का ऐसा गुण जो उसे अपने आवेश में जीवित बने रहने जनन  करने के योग्य बनाता है उसे अनुकूलन कहलाता है |

अनुकूलन के उदाहरण (Adaptation examples) :

  1. उत्तरी अमेरिका के मरुस्थल कंगारू चूहा अपने शरीर की आंतरिक व वसा के ऑक्सीकरण हुए मूत्र को संतुलित करने की क्षमता के कारण जल की कमी को दूर किया जाता है
  2. अनेक मरुस्थलीय पौधों की पत्तियों की सतह पर क्युटिल  पाई जाती है जिसे वाष्पोत्सर्जन कम होता है इनकी पत्तियों में  रंध्र गर्त  में होते हैं जिससे वाष्पोत्सर्जन से होने वाली जल की हानि कम होती है
  3. ऐलन का नियम : ठंडे जलवायु वाले स्तनधारियों के कान छोटे होते हैं ताकि ऊष्मा की हानि कम  होती है इसे ऐलन का नियम कहते हैं
  4. सील जैसे जलीय स्तनधारियों में त्वचा के नीचे वसा की मोटी परत होती है जो ऊष्मारोधी होती है
  5. अधिक ऊंचाई पर रहने वाले [ उच्च तुंगता],  मनुष्य में अनुकूलन :  अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्र में वायुमंडलीय दाब कम होने से शरीर को ऑक्सीजन नहीं मिलती इसलिए शरीर स्वसन दर बढ़ाकर ,  लाल रुधिर कोशिका का उत्पादन बढ़ा कर ,  हीमोग्लोबिन की बंधनकारी क्षमता घटाकर ऑक्सीजन की कमी पूरी करता है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!