Monthly Archives: August 2019

electric potential due to dipole at any point , विद्युत द्विध्रुव के कारण किसी बिन्दु P (r , θ) पर विद्युत विभव

electric potential due to dipole at any point , विद्युत द्विध्रुव के कारण किसी बिन्दु P (r , θ) पर विद्युत विभव

विद्युत द्विध्रुव के कारण किसी बिन्दु P (r , θ) पर विद्युत विभव की गणना (electric potential due to dipole at any point) : विद्युत द्विध्रुव के कारण किसी बिंदु P (r , θ) पर विद्युत विभव का मान ज्ञात करने के लिए माना द्विध्रुव के मध्य बिंदु O से प्रेक्षण बिन्दु P की दूरी r… Continue reading »

विद्युत क्षेत्र की तीव्रता E एवं विद्युत विभव (V) में सम्बन्ध (relation between electric field intensity and potential)

आवेशित गोलीय कोश के कारण विद्युत विभव की गणना (electric potential due to charged spherical shell) : किसी आवेशित गोलीय कोश के कारण विद्युत विभव के मान – (i) जब बिन्दु P गोलीय कोश के बाहर हो अर्थात r > R तो – Vp = Kq/r (ii) जब बिन्दु P गोले के पृष्ठ पर हो… Continue reading »

electric potential in hindi , विद्युत विभव , विद्युत विभवान्तर , electric potential difference

electric potential in hindi , विद्युत विभव , विद्युत विभवान्तर , electric potential difference

what is electric potential in hindi , विद्युत विभव क्या है , विद्युत विभवान्तर किसे कहते है , electric potential difference की परिभाषा क्या है , मात्रक , विमा , उपयोग , सूत्र :- विद्युत विभव (electric potential) : किसी परिक्षण आवेश q0 को अन्नत से विद्युत क्षेत्र के किसी बिंदु तक लाने मे प्रतिकर्षण बल के… Continue reading »

आवेशित चालक सतह पर विद्युत बल , विद्युत क्षेत्र के एकांक आयतन की ऊर्जा (energy per unit volume in electric field)

आवेशित चालक सतह पर विद्युत बल , विद्युत क्षेत्र के एकांक आयतन की ऊर्जा (energy per unit volume in electric field)

(electric force on charged conductor surface) आवेशित चालक सतह पर विद्युत बल : जब किसी चालक को आवेश दिया जाता है तो वह आवेश उस चालक के सम्पूर्ण पृष्ठ पर फ़ैल जाता है। आवेशित चालक सतह पर समान प्रकृति का आवेश होने के कारण विद्युत बल सदैव बाहर की ओर लगता है।  चालक सतह पर विद्युत… Continue reading »

अपरिमित चालक प्लेट या प्लेट या (पट्टिका) के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता , गोलीय कोश या चालक गोले के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता 

अपरिमित चालक प्लेट या प्लेट या (पट्टिका) के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता , गोलीय कोश या चालक गोले के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता 

अपरिमित चालक प्लेट या प्लेट या (पट्टिका) के कारण विद्युत क्षेत्र की तीव्रता : जब किसी चालक प्लेट को आवेश दिया जाता है तो वह आवेश उस चालक पट्टिका के पृष्ठों पर फेल जाता है। माना अपरिमित चालक प्लेट का पृष्ठीय आवेश घनत्व σ है। इस चालक प्लेट से लम्बवत ‘r’ दूरी पर स्थित बिंदु p पर… Continue reading »

गाउसीय पृष्ठ , gaussian surface in hindi , हिंदी में गाऊसी सतह  , गॉसीय पृष्ठीय आवेश , रेखीय , बिंदु

हिंदी में गाऊसी सतह  , gaussian surface in hindi , गॉसीय पृष्ठीय आवेश , रेखीय , बिंदु , गाउसीय पृष्ठ :- गॉसीय पृष्ठ : एक ऐसा काल्पनिक पृष्ठ जिसके प्रत्येक बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता समान हो , गाउसीय पृष्ठ कहलाता है। गाउसीय पृष्ठ को बंद आकृति में परिवर्तित करने के लिए ऐसे पृष्ठों का… Continue reading »

विद्युत फ्लक्स (Φ) (electric flux) , आवेश वितरण , रेखीय , पृष्ठीय , आयतन आवेश वितरण , घनत्व

गाउस का नियम एवं उसके अनुप्रयोग : विद्युत फ्लक्स (Φ) (electric flux) : विद्युत क्षेत्र में स्थित किसी पृष्ठ के तल के लम्बवत गुजरने वाली विद्युत बल रेखाओ की संख्या को ही विद्युत फलस्क कहते है। अथवा विद्युत क्षेत्र की तीव्रता तथा पृष्ठ के क्षेत्रफल के क्षेत्रफल सदिश का अदिश गुणनफल पृष्ठ से सम्बद्ध विद्युत… Continue reading »

समरूप विद्युत क्षेत्र में विद्युत द्विध्रुव पर बल एवं बलाघूर्ण , बलाघूर्ण (T) , बल आघूर्ण की परिभाषा , torque in hindi

समरूप विद्युत क्षेत्र में विद्युत द्विध्रुव पर बल एवं बलाघूर्ण : माना एक समरूप विद्युत क्षेत्र “E” में एक एक विद्युत द्विध्रुव जिसके आवेश क्रमशः +q व -q तथा प्रभावकारी लम्बाई “2a” है , को θ कोण पर रखा गया है तो इस विद्युत द्विध्रुव के दोनों आवेशो पर लगने वाले विद्युत बल F = +qE तथा… Continue reading »

विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण (electric dipole moment) (P) , विद्युत द्विध्रुव (electric dipole in hindi)

विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण (electric dipole moment) (P) , विद्युत द्विध्रुव (electric dipole in hindi)

विद्युत द्विध्रुव (electric dipole in hindi) : जब कोई दो आवेश जो परिमाण में समान व प्रकृति में विपरीत हो तथा अल्प दूरी पर स्थित हो तो इस युग्म को विद्युत द्विधुव कहते है। प्रभावकारी लम्बाई (2a) : विद्युत द्विध्रुव के दोनों आवेशो के बीच की सीधी दूरी को प्रभावकारी लम्बाई कहते है। प्रभावकारी लम्बाई का… Continue reading »

एकल आवेश के कारण किसी बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता (electric field for point charge) , अध्यारोपण का सिद्धान्त

एकल आवेश के कारण किसी बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता (electric field for point charge) : माना किसी बिन्दु पर Q आवेश स्थित है इस आवेश से r दूरी पर स्थित बिंदु P पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता की गणना की गयी – आवेश Q व परिक्षण आवेश q0 के मध्य लगने वाला विद्युत बल F… Continue reading »