सब्सक्राइब करे youtube चैनल

प्रश्न 20. एक माह में मानव अण्डाशय से कितने अण्डे मोचित होते हैं ? यदि माता ने समरूप जुड़वा बच्चों को जन्म दिया हो तो आप क्या सोचते हैं कि कितने अण्डे मोचित हुए होंगे? क्या आपका उत्तर बदलेगा यदि जन्मे हुए जुड़वाँ बच्चे द्विअण्डज यमज थे ?
उत्तर : मानव (स्त्रियों) में प्रत्येक आर्तव चक्र के फलस्वरूप प्रतिमाह एक अण्ड (ovum) ही मोचित होता है। अर्थात एक माह में मानव अण्डाशय से एक अंडा मोचित होता है |

समरूप जुड़वाँ (identical twins) का जन्म एक निषेचित युग्मनज (zygote) से ही होता है। प्रथम विभाजन के फलस्वरूप बनी कोरकखण्ड (ब्लास्टोमीयर्स-blastomeres) एक-दूसरे से पृथक् होकर समरूप जुड़वों का विकास करती है। अर्थात जब एक अंडे और शुक्राणु का निषेचन होता है और फिर यह दो भागों में विभक्त हो जाता है तो इस प्रकार समरूप जुड़वाँ बच्चे पैदा होते है |
द्विअण्डज यमज (fraternal twins) का विकास अलग-अलग निषेचित युग्मनज से होता है। इनकी जीन संरचना भी भिन्न होती है। इसका तात्पर्य है कि जितने द्विअण्डज यमज होते हैं, उतने ही अण्डाणुओं का निषेचन भिन्न-भिन्न शुक्राणुओं से होता है। अर्थात सरल शब्दों में कहे तो जब दो स्त्री के अंडे और दो पुरुष के शुक्राणु आपस में निषेचन करते है तो परिणामस्वरूप द्विअण्डज यमज बच्चे पैदा होते है अर्थात ऐसे बच्चे जो समरूप नहीं होते है लेकिन एक साथ जन्म लेते है इसलिए इन्हें जुड़वाँ बच्चे कहा जाता है लेकिन अभिन्न या असमरूप जुड़वाँ बच्चे होते है |