फलों को कृत्रिम रूप से पकाने के लिए कौन सी गैस का प्रयोग किया जाता है which gases is used to ripening fruits artificial in the following in hindi

By  

which gases is used to ripening fruits artificial in the following in hindi फलों को कृत्रिम रूप से पकाने के लिए कौन सी गैस का प्रयोग किया जाता है ?

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सी गैस फलों को कृत्रिम रूप से पकाने में प्रयोग की जाती है?
(अ) एसिटिलीन (ब) एथिलीन
(स) मेथेन (द) इथेन
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
फलों को कृत्रिम रूप से पकाने हेतु एथिलीन गैस उपयुक्त मानी जाती है। एथिलीन एक गैसीय पादप हॉर्मोन्स है। प्रीवेंशन ऑफ फूड एडल्ट्रेशन अधिनियम, 1955 की धारा 44 ए ए के तहत एसिटिलीन गैस से फलों को पकाने पर प्रतिबंध है।
2. हरे फलों को कृत्रिम रूप से पकाने के लिए प्रयुक्त गैस है-
(अ) एथिलीन (ब) एसिटिलीन
(स) इथेन (द) मेथेन
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006, 2008
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
3. एस्पिरिन साधारण नाम है
(अ) सैलिसिलिक एसिड का (ब) सैलिसिलेट का
(स) मैथिल सैलिसिलेट का (द) एसिटिल सैलिसिलिक एसिड का
S.S.C.CPO परीक्षा, 2009
उत्तर-(द)
सैलिसिलिक अम्ल का एसीटिक एनहाइड्राइड और ग्लैशल एसीटिक अम्ल के मिश्रण द्वारा एसिटिलीकरण करने पर एसिटिल सैलिसिलिक एसिड (एस्पिरिन) बनता है। इसका उपयोग ओषधि बनाने में किया जाता है।
4. एस्पिरिन का रासायनिक नाम है-
(अ) मेथिल सैलिसिलेट
(ब) हाइड्रॉक्सीसैलिसिलेट
(स) एसिटिल सैलिसिलिक एसिड
(द) एल्किल सैलिसिलिक एसिड
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
5. गैमेक्सेन का रासायनिक नाम क्या है?
(अ) टॉलूइन (ब) क्लोरो बेंजीन
(स) एनिलीन (द) बेंजीन हेक्साक्लोराइड
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
गैमेक्सेन का रासायनिक नाम बेंजीन हेक्साक्लोराइड है। इसे लिंडेन के नाम से भी जाना जाता है। यह एक कीटनाशक रसायन है।
6. निम्नलिखित में से किसको मार्श गैस कहते हैं?
(अ) CO (ब) CH4
(स) CO2 (द) H2
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
मेथेन को मार्श गैस कहते हैं। इसका रासायनिक सूत्र ब्भ्4 है।
7. निम्नलिखित में से जैव शैल कौन-सा है?
(अ) संगमरमर (ब) कोयला
(स) ग्रेनाइट (द) स्लेट
S.S.C.  मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
कार्बन की मात्रा के आधार पर कोयला चार प्रकार का होता है। 1. पीट कोयला, 2. लिग्नाइट कोयला, 3. बिटुमिनस कोयला तथा 4. एंथासाइट कोयला। एंथासाइट सर्वोत्तम कोटि का कोयला होता है। कोयला जैव शैल है।
8. तापीय विद्युत केंद्र का प्रमुख गैसीय प्रदूषक है-
(अ) H2S (ब) NH3
(स) NO2 (द) SO2
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2009
उत्तर-(द)
सल्फर डाइऑक्साइड (SO2) कोयले के जलने से, प्रमुख रूप से तापीय विद्युत केंद्र से उत्पन्न होने वाली प्रदूषक गैस है। यह स्मोग (धूम्र-कोहरा) तथा अम्ल वर्षा का मुख्य घटक है।
9. निम्नलिखित में वह कौन-सी गैस है जिसे एक्वालंग्स में गोताखोरों द्वारा सांस लेने के लिए ऑक्सीजन में मिलाया जाता है?
(अ) मेथेन (ब) नाइट्रोजन
(स) हीलियम (द) हाइड्रोजन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
गोताखोरों को सांस लेने के लिए ऑक्सीजन एवं हीलियम लगभग 1: 4 के मिश्रण के रूप में दिया जाता है क्योंकि यह रक्त में बहुत कम विलेय है। श्वसन पीड़ित रोगियों को भी यह गैस दी जाती है।
10. अम्ल वर्षा वनस्पति को नष्ट कर देती है, क्योंकि उसमें-
(अ) नाइट्रिक अम्ल होता है
(ब) ओजोन होती है
(स) कार्बन मोनोक्साइड होती है
(द) सल्फ्यूरिक अम्ल होता है
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
अम्ल वर्षा में सल्फ्यूरिक अम्ल अधिक होता है जो वनस्पति को द्य नष्ट कर देता है।
11. धूम्र कुहरा (somg) में मौजूद आंख में जलन पैदा करने वाला एक शक्तिशाली द्रव्य है-
(अ) नाइट्रिक ऑक्साइड (ब) सल्फर डाइऑक्साइड
(स) परॉक्सि एसीटिल नाइट्रेट (द) कार्बन डाइऑक्साइड
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(स)
ओजोन और परॉक्सि एसीटिल नाइट्रेट मिलकर धूम्र कुहरा (Smog) बनाते हैं। ओजोन कपड़ों एवं रबड़ को नुकसान पहुंचाता है जबकि परॉक्सि एसीटिल नाइट्रेट आंखों में जलन पैदा करता है।
12. अम्ल वर्षा इसके कारण होती है।
(अ) NO2 और O2 (ब) CO और CO2
(स) SO2 और O2 (द) SO2 और NO2
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
अम्ल वर्षा वायु में उपस्थित प्रदूषक गैसों ैव्2 तथा छव्2 के कारण होती है। वायु में सल्फर डाइऑक्साइड (SO2)जल (H2O) से क्रिया करके सल्फ्यूरिक अम्ल (H2SO4) तथा नाइट्रोजन डाइऑक्साइड की जल से क्रिया के फलस्वरूप नाइट्रिक अम्ल ( HNO3) बनता है।
13. अम्लीय वर्षा किसके कारण पर्यावरण प्रदूषण होने से होती है?
(अ) कार्बन और नाइट्रोजन के ऑक्साइड
(ब) इनमें से कोई नहीं
(स) नाइट्रोजन और सल्फर के ऑक्साइड
(द) नाइट्रोजन और फॉस्फोरस के ऑक्साइड
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
14. जब भ्2 गैस को उच्च दाब के क्षेत्र से निम्न दाब के क्षेत्र में प्रसारित किया जाता है तो उस गैस के तापमान पर क्या प्रभाव पड़ता है?
(अ) थोड़ा-सा कम हो जाता है (ब) बढ़ जाता है
(स) अपरिवर्तित रहता है (द) अचानक कम हो जाता है
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
जब हाइड्रोजन गैस को कमरे के तापमान पर उच्च दाब के क्षेत्र से निम्न दाब के क्षेत्र में प्रसारित किया जाता है तो गैस का तापमान बढ़ जाता है।
15. एरोसॉल का उदाहरण है-
(अ) दूध (ब) नदी का जल
(स) धुआं (द) रुधिर
S.S.C. F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
एरोसॉल गैस में ठोस कणों और तरल बूंदों का एकत्रण है। बादल, वायु प्रदूषण जैसे धूम्र कोहरा और धुआं, एरोसॉल (Aerosol) के उदाहरण हैं।
16. एथाइन एक उदाहरण है-
(अ) त्रि-आबंध वाले यौगिक का
(ब) उपसहसंयोजकता यौगिक का
(स) एकल-आबंध वाले यौगिक का
(द) द्वि-आबंध वाले यौगिक का
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
एथाइन एक त्रिआबंध वाला कार्बनिक यौगिक है।
17. बीकन प्रकाश के रूप में प्रयुक्त निष्क्रिय गैस है-
(ंअ) Kr (ब) Ar
(स) He (द) Ne
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
बीकन प्रकाश के रूप में प्रयुक्त निष्क्रिय गैस निऑन (छम) है। निऑन प्रकाश बहुत दूरी से दिख जाता है। यहां तक कि सर्दियों। में घने कोहरे में भी निऑन प्रकाश दिखाई देता है। इसलिए बीकन प्रकाश में निऑन गैस प्रयुक्त की जाती है।
18. हाइड्रोजन की खोज किसके द्वारा की गई थी?
(अ) केवेन्डिश (ब) प्रीस्टले
(स) बॉयल (द) चार्ल्स
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
हाइड्रोजन की खोज 1766 ई. में सर हेनरी केवेन्डिश द्वारा की गई थी।
19. कृत्रिम वर्षा या मेघ बीजन के लिए प्रायः प्रयोग किए जाने वाला रासायनिक द्रव्य है-
(अ) सिल्वर आयोडाइड (Agl)
(ब) सोडियम क्लोराइड (NaCl)
(स) सूखी बर्फ (ठोस् CO2)
(द) उपर्युक्त सभी
S.S.C.CPO परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
कृत्रिम वर्षा या मेघ बीजन के लिए प्रायः प्रयोग किए जाने वाले रासायनिक द्रव्य सिल्वर आयोडाइड (AgI), सोडियम क्लोराइड (NaCl) तथा सूखी बर्फ (ठोस CO2) हैं।
20. खोई का प्रयोग किसके निर्माण के लिए किया जाता है?
(अ) कागज (ब) वार्निश
(स) प्लास्टिक (द) पेंट
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
गन्ने को पेरकर रस निकालने के बाद बचा ठोस पदार्थ खोई कहलाता है। आजकल यह जैव ईंधन के रूप में प्रयुक्त होता है या कागज बनाने के लिए नवीकरणीय स्रोत के रूप में प्रयुक्त होता है।
21. रेयान के निर्माण के लिए कच्चे माल के रूप में निम्नलिखित में से किसका प्रयोग किया जाता है?
(अ) सेलुलोस (ब) पेट्रोलियम
(स) कोयला (द) प्लास्टिक
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
रेयान सेलुलोज से निर्मित फाइबर है-क्योंकि इसका उत्पादन प्राकृतिक रूप से मिलने वाले बहुलकों से किया जाता है इसलिए वास्तव में यह न तो पूरी तरह से एक कृत्रिम तंतु है और न ही एक प्राकृतिक तंतु। यह अर्द्ध कृत्रिम तंतु है।
22. कागज बनाया जाता है –
(अ) पौधों के सेलुलोस से (ब) पौधों के पुष्पों से
(स) फलों के रस से (द) पौधों के प्रोटीन से
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
गीले तंतुओं को दबाकर एवं तत्पश्चात सुखाकर कागज बनाया जाता है। ये तंतु प्रायः सेलुलोज की लुग्दी होते हैं जो लकड़ी, घास, बांस आदि से बनाए जाते हैं।
23. लिट्मस प्राप्त किया जाता है-
(अ) एक जीवाणु से (ब) एक कवक से
(स) एक शैवाल से (द) लाइकेन से
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
लिट्मस रोसेला एक लाइकेन से प्राप्त किया जाता है। यह अम्ल सूचक के रूप में उपयोग होता है।